दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 24.04.16

 

DJ बजाया तो दलित दूल्हे की कर दी पिटाई, बरात को भी लाठी-डंडों से पीटा – दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news-ep/RAJ-JAI-HMU-groom-beaten-by-people-during-wedding-5307103-PHO.html

शादी समारोह में दलित महिला प्रधान से मारपीट – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/dehradun/crime/fight-with-schedule-caste-woman-pradhan

पानी को तरसे गांव भट्टीवाला के लोग पंजाब केसरी

http://punjab.punjabkesari.in/faridkot/news/people-furnaceman-trse-village-water-465833

दलित युवती गायब, दूसरे समुदाय के युवक पर मुकदमा – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/delhi-ncr/crime/dalit-woman-disappeared-case-on-other-community-man

दलित युवती का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म, मामला दर्ज – दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news/RAJ-OTH-MAT-latest-sanchore-news-063004-52072-NOR.html

महिला सशक्तिकरण से ही सामाजिक विकास संभव : निर्मल – दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news/PUN-OTH-MAT-latest-nangal-news-032003-20518-NOR.html

दुष्कर्म पीड़ित दलित, अादिवासी को मिलेगी 8.25 लाख तक राहत – दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news/UT-DEL-HMU-NEW-MAT-latest-new-delhi-news-031505-55009-NOR.html

SC/ST कानून में बदला, 60 दिन में देनी होगी चार्जशीट – नई दुनिया

http://naidunia.jagran.com/national-government-passes-new-bill-on-scst-724727

कोटे के शिक्षकों की ट्रेनिंग की बात पर स्वामी श्रद्धानंद कॉलेज में तनाव – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/campus/tension-on-dalit-teachers-training-in-swami-shradhanand-college

 

दैनिक भास्कर

DJ बजाया तो दलित दूल्हे की कर दी पिटाई, बरात को भी लाठी-डंडों से पीटा

http://www.bhaskar.com/news-ep/RAJ-JAI-HMU-groom-beaten-by-people-during-wedding-5307103-PHO.html

भरतपुर (राजस्थान).शनिवार दोपहर दो दलित दूल्हों (दिलीप व नरेश) की निकासी के दौरान डीजे पर बज रहे गानों को लेकर कुछ गांव वालों ने विरोध जताकर दूल्हे सहित बरातियों की पिटाई कर दी। पिटाई से दूल्हे सहित पांच बरातियों कोे चोटें आई हैं। वहीं, एक दूल्हे ने मौके से भागकर जान बचाई। बाद में पुलिस ने निकासी और शादी की रस्में पूरी करवाईं।

दलितों की शादी में मारपीट की लगातार तीसरी घटना।

दिन की शादी होने के कारण दोपहर करीब 3 बजे बरात की निकासी हो रही थी।

– इसमें बराती डीजे के गानों पर डांस कर रहे थे। कुछ गांव वालों ने गानों को लेकर विरोध जताया।

– इसके बाद लोगों व बरातियों में विवाद हो गया। इस पर लोगों ने लाठी-डंडों से बरातियों के साथ मारपीट शुरू कर दी।

– इसमें दूल्हे दिलीप के सिर में चोटें आईं, जबकि बाराती जगदीश, गुरुदयाल, रिंकू, लोकेश घायल हो गए।

– मौके पर पहुंची पुलिस ने तीन बारातियों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया।

– जहां रिंकू की स्थिति गंभीर होने से डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल्स के लिए रैफर कर दिया, जो दूल्हे का चचेरा भाई है।

– इसके बाद पुलिस की मौजूदगी में शादी की रस्में पूरी करवा कर बरात को रवाना करवाया।

– पुलिस ने इसी गांव के पप्पू व दाना लोधा को हिरासत में लिया है।

ट्रैक्टर से उतारकर दूल्हों को पीटा

बरात निकासी के दौरान विवाद होने पर लोगों ने बरातियों के साथ मारपीट करने के बाद ट्रैक्टर में बैठे दूल्हों को नीचे उतारकर मारपीट की। मारपीट की घटना शादी स्थल से कुछ दूरी पहले हुई। पुलिस ने बताया कि बरात की निकासी गांव में होकर शादी स्थल से सौ मीटर दूर तिराहे पर पहुंची तो वहां पर मारपीट की घटना हुई।

डरकर छिप गया दूल्हा

मारपीट की घटना के बाद भयभीत होकर दूल्हा नरेश भागकर कहीं छिप गया। पुलिस गांव में शांति का माहौल करने के बाद शादी वाले स्थान पर पहुंची। वहां पुलिस ने दूसरे दूल्हा को बुलाने की कहा तो परिजनों को दूल्हा नहीं मिला। जिससे पुलिस व परिजनों में हड़कंप मच गया। परिजनों ने दूल्हा को घरों में तलाश किया। काफी देर बाद दूल्हा अपने एक साथी के साथ बाइक पर बैठकर आया। उसने बताया कि डर की वजह से वह बाइक पर बैठकर सुरक्षित स्थान पर चला गया।

दलितों की शादी में झगड़े की तीसरी घटना

दलितों की शादी में झगड़े की ये लगातार तीसरी घटना है। इससे पहले 18 अप्रैल की रात रूपवास के गांव में दलितों की बारात की निकासी रोक दी गई थी। इसके बाद भरतपुर की इंद्रा कालोनी में एएसआई रामकिशन की बेटी की 19 अप्रैल को शादी के लिए आई बारात को एक व्यक्ति ने अपने घर के सामने से नहीं निकलने दिया, जिसको लेकर मारपीट, पथराव हुआ था। उस समय एक कार को भी जला दिया गया था।

अमर उजाला

शादी समारोह में दलित महिला प्रधान से मारपीट

http://www.amarujala.com/dehradun/crime/fight-with-schedule-caste-woman-pradhan

देहरादून के कालसी तहसील के कुरोली गांव में एक शादी समारोह के दौरान कुछ लोगों ने दलित महिला प्रधान से मारपीट कर दी। महिला प्रधान ने लूटपाट, जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करने का भी आरोप लगाया है। राजस्व पुलिस ने मामले में तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। वहीं, दूसरे पक्ष ने भी महिला प्रधान और उसके पति के खिलाफ तहरीर दी है।

शुक्रवार रात कुरोली गांव में इंदर सिंह की बेटी की शादी थी। शादी समारोह में गांव की दलित महिला प्रधान विनीता देवी और गांव के ही मुकेश पक्ष के बीच विवाद हो गया। प्रधान ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि मुकेश ने उन पर और उनके पति पर जातिसूचक टिप्पणी की।

विरोध करने पर गांव के ही मुकेश ने टीकम सिंह और प्रीतम सिंह (दोनों पुत्र स्वर्गीय विजयराम) के साथ मिलकर उसने मारपीट की और उनके कपड़े फाड़ दिए। आरोप है कि बीच-बचाव करने पर महिला प्रधान के पति दिनेश, देवर चमन, जेठानी शोभा देवी के साथ भी मारपीट की गई। प्रधान का कहना है कि आरोपियों ने उनकी सोने की चेन और जेठानी की सोने की लौंग भी लूट ली।

दूसरे पक्ष ने भी दी तहरीर

वहीं दूसरे पक्ष की ओर से महिला निकिता पत्नी प्रीतम सिंह ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि प्रधान पति दिनेश ने नशे की हालत में गांव निवासी एक विकलांग युवती से छेड़छाड़ कर कपड़े फाड़ दिए थे। विरोध करने पर प्रधान पति ने उसके साथ भी मारपीट की। उसके पति मुकेश को जेल भिजवाने की धमकी दी।

राजस्व उपनिरीक्षक देवेंद्र सिंह रावत ने बताया दोनों पक्षों की ओर से तहरीर मिली है। प्रधान पक्ष की तहरीर पहले आई, जिस कारण उनकी ओर से तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। दूसरे पक्ष की तहरीर पर मामला दर्ज कर जांच की जाएगी।

पंजाब केसरी

पानी को तरसे गांव भट्टीवाला के लोग

http://punjab.punjabkesari.in/faridkot/news/people-furnaceman-trse-village-water-465833

श्री मुक्तसर साहिब(स.ह.): गांव भुट्टीवाला के लोग गत 20 दिनों से पेयजल के  बिना दिन व्यतीत कर रहे हैं। उनके लिए पीने के पानी का एक ही साधन जल घर है। यह जल घर बिना किसी वजह से पानी की सप्लाई बंद किए बैठा है। धरती के नीचे का पानी पीने के लायक नहीं है। जल घर विभाग के अधिकारी मूकदर्शक बने बैठे हैं। सबसे अधिक समस्या गांव के दलित व गरीब वर्ग की है।

उनके लिए पानी के लिए और कोई साधन उपलब्ध नहीं है। अब गांव के दलित व गरीब वर्ग ने संघर्ष करने का फैसला किया है। इस दौरान जल सप्लाई विभाग के जूनियर इंजीनियर नरेन्द्र सिंह से संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा जल घर का नव निर्माण करने के लिए पानी की सप्लाई बंद की गई है।

अमर उजाला

दलित युवती गायब, दूसरे समुदाय के युवक पर मुकदमा

http://www.amarujala.com/delhi-ncr/crime/dalit-woman-disappeared-case-on-other-community-man

एक गांव से जेवर सामान खरीदने गई दलित युवती संदिग्ध हालात में गायब हो गई। पिता ने दूसरे समुदाय के युवक पर बेटी को अगवा करने का आरोप लगाया है। थाना पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट और अपहरण का मामला दर्ज किया है।

थाना पुलिस के अनुसार, गांव नंगला हुकमसिंह निवासी पिता ने मामला दर्ज कराया है कि 20 अप्रैल की सुबह बेटी कुछ सामान खरीदने के लिए जेवर गई थी। शाम होने तक वह घर वापस नहीं आई तो परिजनों ने उसकी तलाश की।

इस दौरान परिजनों को पता चला कि गांव तिरथली निवासी फारुक उफ रिहान के साथ युवती को देखा गया है। पिता का आरोप है कि रिहान उसे अगवा करके ले गया है।

दैनिक भास्कर

दलित युवती का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म, मामला दर्ज

http://www.bhaskar.com/news/RAJ-OTH-MAT-latest-sanchore-news-063004-52072-NOR.html

सांचौरपुलिस थाना क्षेत्र के हरियाली ग्राम में एक दलित युवती का अपहरण कर दुष्कर्म करने का मामला दर्ज हुआ। जानकारी के अनुसार हरियाली निवासी दलित महिला ने परिजनों के साथ में पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाकर बताया कि शुक्रवार को सुबह 11 बजे हरियाली से राजनीतिक विज्ञान की परीक्षा देकर लौट रही थी, इस दौरान बीच रास्ते में महिपालसिंह पुत्र छैलसिंह जाति राजपूत निवासी हरियाली ने अपनी बोलरो कैंपर गाड़ी में डालकर मालवाड़ा की तरफ ले जाकर माईनर के पास गाड़ी में दुष्कर्म किया। इस दौरान लड़की के भाई को देखने पर आरोपी लड़की को लेकर भाग गया। जिसके बाद भाई ने दूसरी गाड़ी से आरोपी का पीछा किया तो कारोला गांव के पास लड़की को दूसरी बोलेरो गाड़ी में बिठा दिया और कारोला गांव की सरहद पर महिपालसिंह दो अन्य ने लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। इसके बाद आरोपियों ने लड़की को हरियाली गांव की सरहद में छोड़ कर फरार हो गए थे। पुलिस ने प्रार्थी की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

दैनिक भास्कर

महिला सशक्तिकरण से ही सामाजिक विकास संभव : निर्मल

http://www.bhaskar.com/news/PUN-OTH-MAT-latest-nangal-news-032003-20518-NOR.html

भारतके संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती मैदामाजरा की डॉ. बीआर अंबेडकर सोसायटी की ओर से मनाई गई।

इस मौके पर उपस्थित गणमान्यों ने बाबा साहिब को पुष्प अर्पित किए गए। विभिन्न वक्ताओं ने बाबा साहिब के जीवन पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि बाबा साहिब अनन्य कोटि के नेता थे, जिन्होंने अपना समस्त जीवन समग्र भारत के कल्याण के लिए लगाया। भारत के 80 फीसदी दलित सामाजिक आर्थिक तौर से अभिशप्त थे, उन्हें अभिशाप से मुक्ति दिलाना ही डॉ. आंबेडकर के जीवन का संकल्प था। बाबा साहिब ने महिलाओं के सम्मान के लिए भी प्रयास किए। उन्होंने कहा कि महिलाओं के मजबूत होने से ही देश का विकास संभव है।

डॉ. आंबेडकर के अलावा भारतीय संविधान की रचना हेतु कोई अन्य विशेषज्ञ भारत में नहीं था तथा उन्होंने ही सामाजिक असमानता दूर करके महिलाओं को समान अधिकार दिलवाए। डॉ. बीआर अंबेडकर सोसायटी के सदस्यो ने कहा कि वे बाबा साहिब की विचारधारा को समाज के लोगों तक पहुंचाएंगे और उन्हें बाबा जी के बताए रास्ते पर चलने की प्रेरणा देंगे ताकि वे देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दे सकें।

इस मौके पर निर्मल सिंह, गुरबचन सिंह, कुलदीप चंद, परमिंदर सैनी, नरिंदर सिंह, पार्षद डॉ. पुरषोतम भी उपस्थित रहे।

दैनिक भास्कर

दुष्कर्म पीड़ित दलित, अादिवासी को मिलेगी 8.25 लाख तक राहत

http://www.bhaskar.com/news/UT-DEL-HMU-NEW-MAT-latest-new-delhi-news-031505-55009-NOR.html

उत्पीड़न के अन्य मामलों में राहत राशि बढ़ाई 

एससी/एसटीके साथ उत्पीड़न के अन्य मामलों में राहत राशि भी बढ़ाई गई है। पहले जो राहत राशि 75 हजार से 7.5 लाख रुपए थी उसे बढ़ाकर 85 हजार से 8.25 लाख तक कर दिया गया है। यह रकम अपराध के अनुसार तय होगी। पीड़ितों और उनके परिवार वालों को सात दिन में राहत मिलनी शुरू हो जाएगी। इसमें खाना, पानी, आवास, कपड़े और इलाज शामिल है।

इंसाफके लिए समिति करेगी मामले की समीक्षा 

एससी/एसटीपीड़ितों और गवाहों को इंसाफ दिलाने के लिए कार्रवाई की समीक्षा भी की जाएगी। इसके लिए राज्य, जिला और ब्लॉक स्तर पर समिति बनाकर उसकी नियमित बैठक का भी प्रावधान किया गया है।

एजेंसी | नई दिल्ली 

केंद्रसरकार ने दलितों और आदिवासियों के खिलाफ अत्याचार रोकने के लिए एससी/एसटी कानून में बड़े बदलाव किए हैं। अब एससी/एसटी वर्ग की दुष्कर्म पीड़ित महिला को पांच लाख रुपए और सामूहिक दुष्कर्म पीड़ित महिला को 8.25 लाख रुपए राहत राशि मिलेगी। दुष्कर्म के मामले में राहत राशि का यह प्रावधान पहली बार किया गया है। नए कानून में यह भी व्यवस्था है कि दलितों के मामलों में 60 दिन के अंदर चार्जशीट दाखिल करनी होगी। केस की सुनवाई के लिए स्पेशल कोर्ट का गठन किया जाएगा। ये विशेष अदालतें ऐसे मामलों में खुद संज्ञान ले सकेंगी। विशेष सरकारी वकीलों की नियुक्ति भी की जाएगी। संशोधित कानून में सबसे ज्यादा जोर तत्काल न्याय पर दिया गया है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने एससी/एसटी कानून में संशोधन कर 14 अप्रैल को इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है। शनिवार को इसकी जानकारी दी गई।

नई दुनिया

SC/ST कानून में बदला, 60 दिन में देनी होगी चार्जशीट

http://naidunia.jagran.com/national-government-passes-new-bill-on-scst-724727

नई दिल्‍ली। केंद्र सरकार ने एससी/एसटी कानून में बदलाव करते हुए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। अब नए कानून के अनुसार दलितों के खिलाफ हुए किसी भी अपराध की जांच करके 60 दिन में चार्जशीट सौंपनी होगी। केंद्र सरकार ने यह बिल में संशोधन बाबा साहेब अंबेडकर की जयंती पर किया है।

1989 में बने इस कानून को पिछले सत्र में सुधार के लिए संसद में पेश किया गया था और सुधार के बाद 14 अप्रैल को नए नियम लागू कर दिए गए हैं।

इस बदलाव के बाद दलित महिलाओं को भी कानूनी मदद देने और उनसे जुड़े मामलों को जल्‍द सुलझाना होगा। जानकारी के अनुसार एससी-एसटी के खिलाफ आने वाले मामलों में पीड़‍ित पक्ष को केस लड़ने के लिए आर्थिक मदद देने के अलावा आश्रितों को मिलने वाली मदद को भी बढ़ाया गया है।

अमर उजाला

कोटे के शिक्षकों की ट्रेनिंग की बात पर स्वामी श्रद्धानंद कॉलेज में तनाव

http://www.amarujala.com/campus/tension-on-dalit-teachers-training-in-swami-shradhanand-college

  • कॉलेज प्रबंध समिति की 27 अप्रैल की बैठक में लाया जा रहा प्रस्ताव

  • वही एक अन्य दलित शिक्षक ने हिंदू कॉलेज प्रशासन पर लगाया प्रताड़ना का आरोप

स्वामी श्रद्धानंद कॉलेज में कोटे के शिक्षकों की ट्रेनिंग कराने के कथित प्रस्ताव के चलते कॉलेज का माहौल गर्मा गया है। कई शिक्षक इसके विरोध में उतर आए हैं। अभी इस तरह की कोई बात सामने नहीं आई है मगर कहा जा रहा है कि 27 अप्रैल को होने वाली कॉलेज प्रबंध समिति की बैठक में ऐसा प्रस्ताव लाया जा रहा है।

श्रद्धानंद कॉलेज में एससी – एसटी – ओबीसी फोरम फॉर टीचिंग एंड नॉन टीचिंग स्टाफ ने बैठक के एजेंडे की जो प्रति मुहैया कराई है उसमें ट्रेनिंग की बात भी है, जिसपर फोरम ने कड़ी आपत्ति जताई है।

शिक्षकों का कहना है कि इस तरह से कोटे के शिक्षकों की शैक्षणिक योग्यता पर प्रश्न चिन्ह लगाया जा रहा है। कॉलेज के प्रिंसिपल पंकज भान ने स्वीकार किया कि एजेंडे में कोटे के शिक्षकों को एजूकेशन देने की बात शामिल है।

कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर सूरज यादव का कहना है कि समिति कोषाध्यक्ष की ओर से लाया जा रहा है यह प्रस्ताव काफी हैरान करने वाला है। उन्होंने कहा कि सभी शिक्षक नेट पास व पीएचडी होते हैं। उनकी नियुक्ति में सभी प्रक्रियाओं का पालन किया जाता है। उनकी ट्रेनिंग कराने की बात कहना बड़ा ही अजीब है।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s