दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 22.02.16

 

होमवर्क न करने पर दलित छात्र का हाथ तोड़ा अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/agra/agra-crime-news/homavark-na-karane-par-dalit-chhaatra-ka-haath-toda-hindi-news/

मानव तस्करी का खुलासाः देह शोषण के बाद बेघर कर दी जाती हैं झारखंड की गरीब लड़कियां जनसत्ता

http://www.jansatta.com/rajya/after-sucking-the-jharkhand-girls-made-homeless/71054/

युवक पर शराब पिलाकर मारपीट करने का आरोप दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news/MP-OTH-MAT-latest-damoh-news-074243-3665081-NOR.html

लापता दलित किशोरी की हत्या, बाग में फेंका शव – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/sultanpur/sultanpur-crime-news/young-girl-murdered-hindi-news-1/

प्रदर्शनकारियों ने भिवानी रोहिल्ला गांव में दलित को पीटा दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news/HAR-HIS-OMC-MAT-latest-hisar-news-055952-3664843-NOR.html

भूमिहीन रैदासी इंद्रावती ने रचा इतिहास नई दुनिया

http://naidunia.jagran.com/national-landless-raidasi-indrawati-creates-history-672798

 

अमर उजाला

होमवर्क न करने पर दलित छात्र का हाथ तोड़ा

http://www.amarujala.com/news/city/agra/agra-crime-news/homavark-na-karane-par-dalit-chhaatra-ka-haath-toda-hindi-news/

थाना पिढ़ौरा के गांव गोपालपुरा स्थित जेएन पब्लिक स्कूल में होमवर्क पूरा न करने पर शुक्रवार को कक्षा छह के एक दलित छात्र की इतनी पिटाई की गई कि उसका दाहिना हाथ ही टूट गया। छात्र के पिता ने पिढ़ौरा थाने में स्कूल प्रबंधक के खिलाफ तहरीर दी है। वहीं, प्रबंधक ने घटना की जानकारी होने से ही इनकार किया है।

 homavark na karane par dalit chhaatra ka haath toda

बाह के किन्दरपुरा गांव निवासी डा. रामशंकर का पुत्र आनंद कुमार (12) गोपालपुरा स्थित जेएन पब्लिक स्कूल में छठवीं कक्षा की पढ़ाई कर रहा है। पिढ़ौरा थाने में दी तहरीर में डा. रामशंकर ने कहा है कि होमवर्क पूरा न करने पर शुक्रवार को स्कूल के प्रबंधक संजीव कुमार त्यागी ने आनंद को स्टूल की फंटी से बुरी तरह पीटा। इससे उसका का दाहिना हाथ टूट गया। घर आकर जब आनंद ने घटना की जानकारी दी तो परिवारीजनों ने स्कूल में जाकर शिकायत की लेकिन किसी ने कोई सुनवाई नहीं की। समझौते के नाम पर टहलाते रहे। इसके बाद आनंद का इलाज कराकर शनिवार को पिढ़ौरा थाने में तहरीर दी है। उन्होंने पुलिस से मामले की जांच कर कार्रवाई की मांग की है। रविवार को पुलिस मौके पर पहुची तो स्कूल बंद मिला। वहीं, इस संबंध में स्कूल प्रबंधक संजीव कुमार त्यागी का कहना है कि उन्हें घटना की कोई जानकारी नहीं है। पूछताछ में किसी शिक्षक के पिटाई करने की बात मालूम हुई है।

जनसत्ता

मानव तस्करी का खुलासाः देह शोषण के बाद बेघर कर दी जाती हैं झारखंड की गरीब लड़कियां

http://www.jansatta.com/rajya/after-sucking-the-jharkhand-girls-made-homeless/71054/

गरीब रथ एक्सप्रेस में दलित मासूम लड़की को बाक्स में कैद करके दिल्ली ले जाए जाने का वाक्या उजागर होने के बाद मानव तस्करी के नए-नए खुलासे सामने आ रहे हैं। उग्रवाद हिंसा प्रभावित झारखंड के सैकड़ों गांवों से कम उम्र की हजारों लड़कियों को 10 से 30 हजार रुपए में खरीदा जाता है। फिर दिल्ली, मुंबई, गोवा आदि शहरों में इन लड़कियों को घर के काम के लिए मुंह मांगे दामों पर बेचा जाता है। शहरों में कम उम्र की इन लड़कियों का दैहिक शोषण किया जाता है और इन लड़कियों के हाथों में कुछ रुपए थमा कर बेघर कर दिया जाता है। ऐसी कई लड़कियां अपने साथ बच्चा लेकर अपने गांव पहुंची हैं। झारखंड में उग्रवाद व गरीबी से त्रस्त कुछ क्षेत्रों की स्थिति इतनी खराब है कि लोग इमली और कटहल को उबाल कर खाते हैं और किसी तरह जीवित रहते हैं। कुछ घरों में तो खाट तक नहीं है। झारखंड के गरीब घरों की लड़कियों की मानव तस्करी का धंधा जारी है। उत्तर प्रदेश स्थित इटावा में राजकीय पुलिस ने गरीब रथ एक्सप्रेस के एक बाक्स में बंद मासूम लड़की को शनिवार को मुक्त कराया था। इटावा में राजकीय रेलवे पुलिस के थाने में तीन व्यक्तियों के खिलाफ पास्को एक्ट, धारा 363,354 ए के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने आरोपी सहायक कोच अमित मिश्रा को शनिवार को ही गिरफ्तार कर लिया था। गरीब रथ एक्सप्रेस से मुक्त कराई गई लड़की की मां श्रीमती कुंती देवी और उसकी छोटी बेटी दीपाली रविवार दोपहर बाद इटावा आ गई। मां-बेटी एक हजार रुपए का जुगाड़ करके किसी तरह इटावा स्टेशन पहुंची हैं। गरीब रथ में पकड़ी गई लडकी को पुलिस ने सुरक्षात्मक तौर पर बाल कल्याण समिति के हवाले कर दिया है। इस लड़की को मेडिकल करवाने के लिए भेज दिया गया है। पुलिसिया पूछताछ में जो बातें सामने आई हैं, उसके अनुसार कांति देवी के किसी गोलू सिंह से ताल्लुकातहै। गोलू सिंह झारखंड और दिल्ली के होटल व्यवसाय से जुड़ा है। गोलू सिंह के दादा हरवंश सिंह और राजा सिंह इलाके के बेहद सपन्न व्यक्ति रहे हैं। गोलू सिंह के कहने पर ही लड़की को गरीब रथ से दिल्ली भिजवाया जा रहा था लेकिन वह इटावा में पकड़ ली गई। इस मामले की जानकारी उत्तर प्रदेश के गृह सचिव कमल सक्सेना को भी दी गई। उन्होंने जीआरपी इटावा को केस दर्ज करने का आदेश दिया है। इटावा जीआरपी थाना प्रभारी यशपाल सिंह यादव ने बताया कि प्रथम दृष्टया यह मामला लड़की को दिल्ली में बेचने जैसा लग रहा है। जांच जारी है। लड़की ने बताया कि मैं डालटनगंज से हूं। मम्मी ने मुझे दिल्ली के एक सरदार के यहां काम करने के लिए भेजा था। मुझे डिब्बे में बंद कर दिया गया था। मैं सो गई थी। मुझे डिब्बे से बाहर निकाला गया और थाने ले आया गया।

उधर राजकीय रेलवे पुलिस के थाना प्रभारी यशपाल सिंह का कहना है कि आरोपी सरदार लड़की का खरीदार है। इस वाक्ये के सामने आने के बाद रांची के खुंटी इलाके की महिला थाना प्रभारी श्रीमती आराधना सिंह ने टेलीफोन पर जनसत्ता को बताया कि झारखंड के इस इलाके के हालात बेहद ही दयनीय बने हुए हैं। शिक्षा के नाम पर कुछ भी नहीं है। स्थानीय लोग पूरी तरह से अशिक्षित हैं। इस कारण एक एक आदमी तीन-तीन औरतों के साथ शादी करके दर्जनों बच्चे पैदा कर रहे हैं। फिर पेट भरने के लिए उनको दिल्ली और आसपास के महानगरों में काम करने के लिए भेज रहे हैं। फर्जी मां-बाप, मौसी, चाचा बन कर लोग लड़कियों को सप्लाई करने का काम बड़ी ही आसानी से कर रहे हैं। एक लड़की को इस तरह से भेजने के एवज में 10हजार, 25हजार और 30 हजार रुपए मिलते हैं। दिल्ली और उसके समीपवतीं क्षेत्र में पहुंचते ही झारखंड की लड़कियो की कीमती अनमोल हो जाती है, जैसा आदमी वैसी कीमती के आधार पर लड़की का सौदा कर दिया जाता है।

आराधना सिंह का कहना है कि साधारणतय घरों में काम के नाम पर ही इन लड़कियों को यहां पर लाया जाता है लेकिन उनकी जानकारी में कई ऐसे मामले सामने आए हैं जिनमें घरों मे काम के नाम पर मासूम लड़कियों का यौन शोषण किया जाता है। फिर उनको किसी तरह से कुछ रुपए देकर घर से बेघर कर दिया जाता है। जब वो अपने इलाके में पहुंचती है तो उनकी गोद में बच्चे देखे जाते हैं। यह देख कर साफ तौर पर कहा जा सकता है कि घरों में काम के नाम पर यौन शोषण का धंधा बड़े आराम से फल फूल रहा है। उग्रवाद प्रभावित इन जिलों को दर्द इस तरह से बढ़ चला है कि 200 घरों मे न तो चौकी मिलेगी तो और न ही चारपाई। कई लोग अपना पेट भरने के लिए इमली और कटहल को उबाल कर उसका सेवन करते हैं। रांची मे लगातार गायब हो रही लड़कियों को देख कर जब आराधना सिंह ने अपने सहयोगी क्रांतिकुमार सिंह के साथ सर्वेक्षण किया तो पता चला कि खूंटी इलाके से हजारों लड़कियां इसी तरह से दिल्ली पहुंच रही हैं।

दैनिक भास्कर

युवक पर शराब पिलाकर मारपीट करने का आरोप

http://www.bhaskar.com/news/MP-OTH-MAT-latest-damoh-news-074243-3665081-NOR.html

हटा थाना क्षेत्र के वनगांव निवासी चंद्रभान पिता शंकर कोटवार 18 को बेहोशी की हालत में रात 11 बजे जिला अस्पताल लाया गया। जहां उसका इलाज चल रहा है। युवक की मां कल्लोबाई ने आरोप लगाते हुए बताया कि उनका बेटा गांव में टहलने के लिए गया था जिसे धनसिंह नाम का युवक अपने साथ पुल के पास ले गया जहां उसने शराब पिलाकर उसके साथ मारपीट की और झाड़ियों में फेंक दिया। गांव के अन्य लोगों ने उनके घर पर आकर सूचना दी। मौके पर जाकर देखा तो बेहोशी की हालत में चंद्रभान पड़ा था जिसे अस्पताल लेकर आए। पुलिस ने मामला जांच में लिया है।

जहरीली दवा खाने से दो की हालत बिगड़ी: दमोह। नोहटा थाना क्षेत्र के शीशपुरा निवासी मेघराज आदिवासी की 32 वर्षीय प|ी रोशनी ने चूहामार दवा खा ली। सिमरिया थाना क्षेत्र के पौनी निवासी वर्षा पति अखलेश पटेल 23 ने कीटनाशक दवा का सेवन कर लिया। हालत बिगड़ने पर दोनों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच में लिया है।

छत से गिरकर युवक घायल: दमोह। सिविल वार्ड निवासी जवेंद्र पिता भागीरथ अहिरवार 30 छत से गिरकर घायल हो गया। जिसे इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने मामला जांच में लिया है।

िसर्फ वही नकारात्मक खबर, जो आपको जानना जरूरी है

अमर उजाला

लापता दलित किशोरी की हत्या, बाग में फेंका शव

http://www.amarujala.com/news/city/sultanpur/sultanpur-crime-news/young-girl-murdered-hindi-news-1/

सात दिन पहले घर से घास काटने निकली दलित किशोरी की हत्या कर दी गई। गांव के बाहर एक बाग में रविवार की सुबह निर्वस्त्र हालत में शव पाया गया। प्रत्यक्षदर्शियों ने किशोरी के साथ रेप की आशंका जताई है। बेटी के लापता होने के बाद से ही पिता थाने की परिक्रमा करता रहा लेकिन पुलिस ने गुमशुदगी का केस तक दर्ज करना मुनासिब नहीं समझा।

लंभुआ कोतवाली क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 15 वर्षीय दलित किशोरी बीते 14 फरवरी की शाम घर से घास काटने के लिए निकली थी। जब किशोरी घर नहीं लौटी तो परिवारीजनों ने उसकी खोजबीन शुरू की लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। दूसरे दिन लड़की का पिता बेटी की गुमशुदगी दर्ज कराने लंभुआ कोतवाली पहुंचा तो पुलिस कर्मियों ने उसे यह कहकर टरका दिया कि वापस आ जाएगी। लड़की का पिता छह दिनों तक रोजाना बेटी की गुमशुदगी दर्ज कराने कोतवाली जाता रहा लेकिन पुलिस ने न तो केस दर्ज किया और न ही लापता किशोरी को ढूंढने का प्रयास। रविवार की सुबह पड़ोस के गांव रामपुर कुर्मियान निवासी रामकुमार यादव की बाग में किशोरी का शव निर्वस्त्र हालत में पाया गया।

किशोरी के दोनों पैर बंधे थे। देखते ही देखते इस बात की खबर आस-पास के गांवों में फैल गई। लापता बेटी की उम्मीद में पिता भी घटनास्थल पर पहुंच गया। पिता ने शव की शिनाख्त बेटी के रूप में की। सूचना के बाद एएसपी प्रद्युम्न सिंह, लंभुआ कोतवाल सुरेश पांडेय घटनास्थल पर पहुंच गए। एएसपी ने पीड़ित परिवार से पूछताछ की। इस बाबत लंभुआ कोतवाल सुरेश पांडेय ने बताया कि किशोरी की हत्या हुई है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद दुष्कर्म के बारे में कुछ कहा जा सकता है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद केस दर्ज किया जाएगा।

दैनिक भास्कर

प्रदर्शनकारियों ने भिवानी रोहिल्ला गांव में दलित को पीटा

http://www.bhaskar.com/news/HAR-HIS-OMC-MAT-latest-hisar-news-055952-3664843-NOR.html

बालसमंदगांव में दलित और जाट समुदाय के लोगों में हुए झगड़े के बाद पड़ोसी गांव में भी ठीक इसी तरह का मामला सामने आया है। भिवानी राेहिल्ला गांव में दलित युवक की पिटाई कर दी गई। घायल युवक को सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया गया है। दरअसल शनिवार की शाम दलित युवक खेत में जा रहा था मगर सड़क पर जाम लगाए हुए युवकों ने उसे रास्ता देने से इनकार कर दिया। इस बात काे लेकर आरक्षण मुद्दे पर दोनों तरफ से टीका टिप्पणी करने लगे। इसके बाद युवक वहां से खेत में चला गया। घायल सूरजमल ने बताया कि इसके बाद कुछ युवक खेत में आए और उसकी पिटाई कर दी। सूरजमल ने बताया कि उसे पिटाई सिर्फ इसलिए की दी गई क्योंकि उसने रास्ता मांगा था। घायल ने बताया कि हमला करने वाले युवकों की शिकायत पुलिस को दी है।

नई दुनिया

भूमिहीन रैदासी इंद्रावती ने रचा इतिहास

http://naidunia.jagran.com/national-landless-raidasi-indrawati-creates-history-672798

राकेश चतुर्वेदी, वाराणसी। संत गुरु रविदास के ‘मन चंगा तो कठौती में गंगा’ के भाव को भूमिहीन रैदासी इंद्रावती देवी ने चिरईगांव ब्लाक की सीवों सरीखी 35 गांव पंचायतों में चरितार्थ कर दिया है। आज जहां जमीन वाले लाख समस्याओं से दो चार होते खेती से विमुख हो रहे हैं, खुदकशी कर रहे हैं। वहीं इस महिला ने गांव के ही एक किसान की चार बीघा जमीन बंटाई पर लेकर खुशहाली की मिसाल रच दी है।

सालभर शाकभाजी व फूल उगाकर न केवल परिवार के आठ सदस्यों का भरण-पोषण कर रही हैं, बल्कि जमीन मालिक को भरपूर फायदा दे रही हैं। बटाई पर ली गई चार एकड़ भूमि के एवज में आठ हजार रुपये प्रति बीघे की दर से वह सालभर की टोकन मनी पहले ही भुगतान कर देती हैं।

घर की समस्याएं दूर हुईं तो इंद्रावती के कदम उन महिलाओं की ओर बढ़े जो दलित थीं और साहूकारों के चंगुल में फंसी थीं। 2250 दलित महिलाओं का समूह बनाकर इंद्रावती ने महाजनों के चंगुल से मुक्ति दिलाने की अलख जगाई। इंद्रावती स्वावलंबन की प्रेरणा बनीं, समूह में अल्प बचत के जरिए पांच करोड़ की जमा-पूंजी का कारोबार अलग-अलग गांवों में खड़ाकर इतिहास रच दिया। यह समूह आज सामाजिक कुरीतियों से डटकर मुकाबला कर रहा है और गर्व से सिर ऊंचा कर चल रहा है। स्वरोजगार में शाकभाजी, फूल की खेती, पशुपालन, बकरी पालन, परचून की दुकान तक चला रही हैं।

रिक्शा, सगड़ी, ट्राली, ठेला के जरिए 18 से 65 साल की दलित महिलाओं के घर शिक्षा, स्वास्थ्य, बुनियादी सुविधाओं की जानकारी दे रही हैं। इंद्रावती ने पिछले 13 साल पहले बटाई पर चार बिस्वा खेती से शुरुआत की। आज साढ़े चार बीघा तक पहुंच गई हैं। बीएचयू में वर्ष 2015 को आयोजित अंतरराज्यीय किसान मेला में उन्हें सर्वश्रेष्ठ किसान महिला का सम्मान मिल चुका है।

‘स्वावलंबन’ अलख की 35 गांवों में गूंज

भूमिहीन रैदासी इंद्रावती देवी (50 वर्ष), मालती देवी (65 वर्ष) तथा 18 से 70 वर्ष की मुन्नी, मुदना, चंपा, शीला, अनीता, चंदा सरोजा, कुसुम, माधुरी जैसी दलित महिलाओं के समूह ने चिरईगांव ब्लाक के रुस्तमपुर, प्रहलादपुर, गौरा, आराजी, नेवादा, कमौली, शंकरपुर, सीवों, मढ़नी, उमरहा, संदहा, छाही, पतेरवां, सथवां, हृहयपुर, सिंहपुर समेत 35 गांव पंचायतों में मजबूत कड़ी बना दी है।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s