दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 20.12.15

 

बिहार: गोपालगंज में दलितों पर टूटा दबंगों का कहर, सात को पीटा – लाइव हिंदुस्तान

http://livehindustan.com/news/bihar/article1-dalit-beaten-up-in-gopalganj-508938.html

दो शिक्षक, दो छात्रावास अधीक्षक सस्पेंड – नई दुनिया

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/collecter-visit-in-school-and-hostal-610025

वाल्मीकि समुदाय ने की गेट रैली – दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news/PUN-OTH-MAT-latest-abohar-news-023005-3248355-NOR.html

रिहायशी प्लॉटों पर कब्जे को लेकर ग्रामीण मजदूर यूनियन का धरना – दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news/PUN-OTH-MAT-latest-gurdaspur-news-021503-3246588-NOR.html

 

An Urgent Appeal:

Please register your contribution to PMARC for

Strengthening Democracy, Peace & Social Justice!

Only our collective effort can make it possible to carry forward our interventions.

 It is a challenge before each one of us as equal stakeholder of PMARC.

लाइव हिंदुस्तान

बिहार: गोपालगंज में दलितों पर टूटा दबंगों का कहरसात को पीटा

http://livehindustan.com/news/bihar/article1-dalit-beaten-up-in-gopalganj-508938.html

एक बार फिर दलितों पर कहर टूटता नजर आ रहा है। अपने आशियाने को बचाने गए एक ही परिवार के सात दलितों पर गांव के दबंगों ने लाठी-डंडा, तलवार-फरसा और चाकू से हमलाकर गंभीर रूप से घायल कर दिया गया। घटना जिले के मांझागढ़ थाने के पैठानपप्ती गांव की है। मारपीट की इस घटना में घायल गिरजा देवी, लालमुनी देवी, शिवपाती देवी, कविता कुमार, देविका कुमारी, नथुनी प्रसाद व हीरा बिंद को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया।

घायलों ने बताया कि गांव के कुछ दबंग लोग उनकी जमीन को कब्जा कर लिया था। पंचायती व जमीन की नापी कराने के बाद जब उनका जमीन पाया गया तो गुस्साए दबंगों ने उनकी झोपड़ी उजाड़नी शुरू कर दी। इसका विरोध करने पर घटना को अंजाम दिया गया। मारपीट की सूचना मिलने पर मांझागढ़ थाने की पुलिस मौके पर पहंुचकर मामले की छानबीन की। वहीं, घायलों का बयान सदर अस्पताल में तैनात दारोगा भारत भूषण ने दर्ज कर लिया है। घटना के बाद पूरा परिवार दहशत में है।

नई दुनिया

दो शिक्षकदो छात्रावास अधीक्षक सस्पेंड

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/collecter-visit-in-school-and-hostal-610025

जिले में संचालित छात्रावासों में पिछले काफी समय से गड़बड़ियों व छात्रावास अधीक्षकों द्वारा की जा रही मनमानी की शिकायतें मिल रहीं थी। कलेक्टर डॉ. श्रीनिवास शर्मा ने सच्चाई जानने के लिए शनिवार को तेंदूखेड़ा क्षेत्र का दौरा किया। उन्होंने अचानक ही क्षेत्र के कई छात्रावास, स्कूल व स्वाथ्य केंद्रों का निरीक्षण किया। जिनमें से ज्यादातर जगह उन्हें भारी खामियां मिली। कई छात्रावास ऐसे थे जहां पर न तो छात्र मिले और न ही अधीक्षक। कुछ ऐसे छात्रावास थे जहां पर मात्र एक ही छात्र मिला। इसी तरह स्कूलों में भी पहले से बनाकर रखे गए अवकाश के आवेदन मिले, जिन्हें देखने के बाद कलेक्टर ने संबंधित शिक्षकों को निलंबित करने के निर्देश दिए हैं। इस भ्रमण के दौरान कुल 12 लापरवाह कर्मचारियों पर कार्रवाई की गई है।

गौरतलब है कि कलेक्टर पिछले कुछ दिनों से जिले के छात्रावासों की व्यवस्थाएं सुधारने में लगे हैं। उन्होंने पहले कई बार निर्देश दिए हैं कि छात्रावासों में किसी तरह की लापवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी, लेकिन उन्हें लगातार शिकायतें मिल रहीं थी। कुछ दिन पहले ही उन्होंने बनवार व नोहटा छात्रावास का भ्रमण किया था। जहां नोहटा छात्रावास अधीक्षक मौके पर ही नहीं था और छात्रों के पास कंबल तक नहीं थे। नोहटा छात्रावास अधीक्षक पर भी कार्रवाई के निर्देश जारी किए थे। शनिवार को हुई कलेक्टर डॉ. शर्मा की विजिट में भी कई कर्मचारियों की लापरवाही सामने आई और अब उनपर कार्रवाई की जा रही है।

सबसे पहले पहुंचे दिनारी

कलेक्टर डॉ. शर्मा निरीक्षण में सबसे पहले तेंदूखेड़ा ब्लॉक के स्वास्थ्य केंद्र में दवाएं नहीं थीं। इसी गांव में संचालित अनुसूचित जाति प्री-मैट्रिक छात्रावास में 54 में से कुछ 4 छात्र ही मिले। यहां पर काफी गंदगी थी। खाना ठीक नहीं था। छात्रावास अधीक्षक मनोहर सिंह की लारवाही को देखते हुए उसे निलंबित करने के निर्देश दिए। पुरा बैरागढ़ छात्रावास में 30 में से केवल सात बच्चे ही मिले। खाना काफी खराब था और चारों तरफ गंदगी थी। यहां के अधीक्षक डीपी कोरी को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए। आदिवासी बालक छात्रावास झलौन में 50 में से 22 बच्चे मिले। यहां पर काफी गंदगी थी खाना काफी खराब था। यहां के अधीक्षक राजेंद्र खरे को निलंबित किया गया है। सर्रा प्री-मैट्रिक अनुसूचित जनजाति छात्रावास में 48 बच्चे दर्ज है। लेकिन यहां पर एक भी छात्र नहीं मिला। यहां के लैब असिस्टेंट व प्रभारी छात्रावास अधीक्षक कोमल सिंह को नोटिस जारी किया गया है। यहां पर भी काफी गड़बड़ियां मिलीं। तारादेही आदिवासी छात्रावास में भी गड़बड़ी मिलीं, इसलिए यहां के अधीक्षक को भी नोटिस जारी किया गया।

समनापुर छात्रावास में केवल एक ही छात्र मिला। छात्र भैयालाल अदिवासी ने बताया कि वह पिछले एक सप्ताह से छात्रावास में अकेला ही रह रहा है। यहां के छात्रावास अधीक्षक की लापरवाही का देखते हुए उसे भी नोटिस जारी किया गया। धनगौर छात्रावास में न तो खाना ठीक था, न पूरे बच्चे थे और गंदगी थी। यहां के अधीक्षक को भी नोटिस जारी किया गया है। इमलीडोल छात्रावास में 50 में से कुल 13 छात्र ही मिले। यहां के प्रभारी अधीक्षक प्रकाश मिंज को नोटिस दिया गया है।

शिक्षकों पर भी गिरी गाज

कलेक्टर ने निरीक्षण में छात्रावासों के अलावा स्कूलों का भी निरीक्षण किया। दिनारी प्राथमिक स्कूल पहुंचे और उन्होंने यहां पर बच्चों से अंग्रेजी में सेव वाटर जैसे शब्द का अर्थ पूछा जो छात्र नहीं बता पाए। यहां के शिक्षक को कलेक्टर ने नोटिस करने निर्देश दिए। यहां पर कुल 54 छात्रों पर 4 शिक्षक पदस्थ हैं। दर्ज संख्या के लिहाज से एक शिक्षक अतिरिक्त होने के कारण यहां के एक शिक्षक को किसी अन्य स्कूल में स्थानांतरित करने के निर्देश दिए हैं। धनेटामाल स्कूल में शिक्षक मंजूला जैन और संगीता नेमा अवकाश पर थीं। उनके अवकाश के आवेदन में दिनांक नहीं लिखा था, इसलिए लापरवाही उजागर होने पर दोनों शिक्षकों को निलंबित करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा यहां के एचएम भागीरथ सिंह को लापरवाही करने के आरोप में नोटिस जारी कर जबाब मांगा गया है। यहां पर 128 छात्रों पर 6 शिक्षक पदस्थ हैं, जो छात्रों की दर्ज संख्या के मान से अधिक हैं, इसलिए यहां के एक शिक्षक को किसी अन्य स्कूल में भेजने के निर्देश दिए गए हैं।

21 को होगी अधीक्षकों की मीटिंग

कलेक्टर के साथ निरीक्षण में मौजूद रहे तेंदूखेड़ा एसडीएम डॉ. सीपी पटैल ने बताया कि लगभग सभी जगह खामियां मिली, इसलिए कलेक्टर के निर्देश पर संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि छात्रावासों की स्थिति काफी खराब है। 21 दिसंबर को सभी छात्रावास अधीक्षकों के साथ एक बैठक कर उन्हें अपनी व्यवस्थाएं सुधारने के लिए कहा जाएगा। यदि उसके बाद भी लापरवाही की जाएगी तो फिर बिना किसी चेतावनी के संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

दैनिक भास्कर

वाल्मीकि समुदाय ने की गेट रैली

http://www.bhaskar.com/news/PUN-OTH-MAT-latest-abohar-news-023005-3248355-NOR.html

अबोहरमें शराब के एक बड़े व्यापारी शिव लाल डोडा के फार्म हाउस पर भीम टांक के बड़ी बेरहमी से अंग काटे गए इस के बाद भीम की मौत हो जाने पर इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मलोट में शनिवार को वाल्मीकि समुदाय के लोगों ने गेट रैली की। यह रैली सफाई सेवक यूनियन मलोट के प्रधान प्रदीप कुमार की अगवाई में की गई।

शहर के नगर कांउसिल आफिस के बाहर गेट रैली करते हुए सफाई सेवक यूनियन पंजाब के वाईस प्रधान कमल कपूर सफाई सेवक यूनियन मलोट के प्रधान प्रदीप कुमार, वाईस प्रधान सुनील कुमार, वाईस प्रधान सोम नाथ, महिला विंग प्रधान आशा रानी ने कहा की अबोहर हत्याकांड के आरोपियों को अगल जल्द पकड़ा गया तो22 दिसंबर मंगलवार से पूर्ण तौर पर हड़ताल की जाएगी बुधवार को फाजिल्का के एसएसपी के आफिस का घेराव भी किया जाएगा।(संदीप मलूजा)

मुक्तसर के रेडक्रॉस भवन में कैंडल मार्च निकालते हुए आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता।

मलोट में वाल्मीकि समुदाय के लोग भीम टांक के सारे कातिलों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर गेट रैली करते हुए।

मुक्तसर|अबोहर मेंएक दलित व्यक्ति के अंग काटकर मौत के घाट उतारने दूसरे को गंभीर जख्मी करने की निंदा करते आप ने शुक्रवार की देर शाम स्थानीय रेडक्रॉस भवन में कैंडल मार्च निकाला। जिसमें मुक्तसर,जलालाबाद मलोट के वालंटियरों ने भाग लिया। आम आदमी पार्टी के सेक्टर इंचार्ज रमेश मटियाला की अध्यक्षता में निकाले कैंडल मार्च में आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करके की मांग की गई। (अमित)

दैनिक भास्कर

रिहायशी प्लॉटों पर कब्जे को लेकर ग्रामीण मजदूर यूनियन का धरना

http://www.bhaskar.com/news/PUN-OTH-MAT-latest-gurdaspur-news-021503-3246588-NOR.html

गांवपिंडोरीमें 80 दलित परिवारों को अलॉट किए गए रिहायशी प्लॉटों पर कब्जे की मांग को लेकर शनिवार को ग्रामीण मजदूर यूनियन की ओर से धरना लगाया गया। मजदूर प्लॉटों वाली जगह पर पक्का धरना लगाकर बैठ गए हैं।

यूनियन के जिला प्रधान राजकुमार पिंडोरी और विजय सोहल ने बताया कि ये प्लॉट किसी की 17 कनाल 9मरले जगह एक्वायर कर सरकार ने बेघर दलित परिवारों को अलॅाट किए थे, लेकिन उक्त जमीन के मालिक ने अभी तक कब्जा नहीं छोड़ा है। जिला प्रशासन की ओर से मामले में दखल देने के कारण मजदूरों को पक्का धरना लगाना पड़ रहा है।

उन्होंने बताया कि प्लॉट 1974 में अलॉट किए गए थे और तभी से इन पर सरकार ने उन्हें कब्जा नहीं दिलाया है। शनिवार को जगह पर निशानियां लगाकर 90 वर्ग गज के प्लॉट बनाने की कार्रवाई शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में मकानों के निर्माण का काम भी शुरू करा दिया जाएगा।
इस मौके पर इफ्टू के प्रदेश उप-प्रधान कामरेड रमेश राणा, प्रदेश कमेटी सदस्य प्रेम मसीह सोना, सरवण सिंह भोला, तिलकराज तालिबपुर, मोहन लाल, रमेश लाल, बलविंदर भगवां, राममूर्ति, भजन लाल कोठे, अशोक कुमार पिंडोरी, सवित्री देवी, चंपा देवी, संतोष कुमारी आदि मौजूद थे।

प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते यूनियन के सदस्य।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s