दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट  07.12.15  

विकलांग दलित किशोरी से दुराचार अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/banda/banda-crime-news/handicapped-dalit-girl-misconduct-hindi-news/

दलितों के मसीहा थे बाबा साहेब अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/rampur-uttar-pradesh/rampur-uttar-pradesh-hindi-news/parinirvan-diwas-hindi-news/

शब्दकोश से निकाल देना चाहिए दलित शब्द अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/rohtak/rohtak-hindi-news/dalit-word-should-be-cuts-form-dictionary-hindi-news/

गुड न्यूज: एक माह में चार दिन लगेगा बस्ती में शिविर, पांच वार्डों का होगा चयन, स्लम बस्ती में जायेंगे आयुर्वेद डॉक्टर प्रभात खबर

http://www.prabhatkhabar.com/news/patna/story/644400.html

वन भूमि पर काबिजो का जीपीएस सर्वे होगा दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news/MP-OTH-MAT-latest-hata-news-024004-3162803-NOR.html

Please Watch:

Dr. Ambedkar on India-pakistan partition

https://www.youtube.com/watch?v=bg-SYZWT6KA

An Urgent Appeal:

Please register your contribution to PMARC for

Strengthening Democracy, Peace & Social Justice!

Only our collective effort can make it possible to carry forward our interventions.

 It is a challenge before each one of us as equal stakeholder of PMARC.

अमर उजाला

विकलांग दलित किशोरी से दुराचार

http://www.amarujala.com/news/city/banda/banda-crime-news/handicapped-dalit-girl-misconduct-hindi-news/

ओरन। नशे में धुत दरिंदे ने विकलांग दलित किशोरी से दुराचार किया। किशोरी और उसके परिवार को जान से मारने की धमकी देने के बाद युवक भाग निकला। पिता ने थाने में गांव के एक युवक के खिलाफ नामजद तहरीर दी है।

बिसंडा थाना क्षेत्र के एक गांव में 15 वर्षीय दलित विकलांग किशोरी शनिवार को शाम खेत से वापस लौट रही थी। पहले से घात लगाए गांव के एक युवक ने उसे दबोच लिया।

मुंह में कपड़ा ठूंसकर किशोरी को कुछ दूर खेत में बनी झोपड़ी के अंदर घसीट ले गया। शराब के नशे में धुत युवक ने किशोरी से दुराचार किया।

किसी से घटना के बारे में बताने पर उसे और उसके परिवार को जाने से मारने की धमकी देते हुए युवक भाग निकला। किशोरी ने घर पहुंच कर घटना की जानकारी अपनी मां से बताई।

किशोरी के पिता ने थाने में युवक को नामजद करते हुए तहरीर दी है। उधर, थानाध्यक्ष बिसंडा रामपाल सिंह ने बताया कि तहरीर मिल गई है। जांच के बाद ही रिपोर्ट दर्ज की जाएगी।

अमर उजाला

दलितों के मसीहा थे बाबा साहेब

http://www.amarujala.com/news/city/rampur-uttar-pradesh/rampur-uttar-pradesh-hindi-news/parinirvan-diwas-hindi-news/

जिले में डा.भीमराव अंबेडकर का परिनिर्वाण दिवस मनाया गया। बाबा साहब की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनको याद किया। उनके आदर्श अपनाने की अपील की। अखिल भारतीय अंबेडकर युवक संघ के कार्यकर्ताओं ने बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी। कार्यक्रम का शुभारंभ बुद्ध वंदना से किया गया।

इस मौके पर अमर सिंह, सत्यपाल सिंह बादल, हरि सिंह, आरके प्रभाकर, ऊदल सिंह, राधेश्याम, राजेश कुमार, महेंद्र शंकर, रामऔतार, कुलदीप थे। आदि धर्म समाज की तोपखाना वाल्मीकि बस्ती में हुई विचार गोष्ठी में अमर आदिवासी ने बाबा साहेब को दलितों का मसीहा बताया। उनके आदर्शों पर चलने की अपील की।

नवीन राही, राजेश रत्न, अरुण, पुष्पेंद्र, यशराज भी थे। अनुसूचित जाति/जनजाति संगठनों का अखिल भारतीय परिसंघ की वाल्मीकि बस्ती राधा रोड पर सभा में जिलाध्यक्ष मोहन दानव ने कहा कि बाबा साहेब ने सारा जीवन दलित समाज के उत्थान में बिता दिया।

नरेश कुमार, सुरेंद्र राज, विजय रावत, सुरेश वाल्मीकि, विनोद दिलावर, शिवलाल, अमित बाबा, विनय कुमार भी थे। भावाधस के राष्ट्रीय प्रमुख भीम अनार्य ने गोष्ठी में कहा कि बाबा साहब को सच्ची श्रद्धांजलि तभी होगी जब सामाजिक और राजनीति संगठन बाबा साहेब के विचारों को अपनी कार्यशैली में उतारें।

एकलव्य भीम, शरद रा, लववीर चौहान, विनय चौधरी, विपिन दैत्य, विकास राव, हिमांशु चौहान, पवन अनार्य थे। सुरेंद्र कुमार सागर के नेतृत्व में कार्यकर्ता अंबेडकर पार्क पहुंचे। बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी। राजपाल, आकाश सागर, मुरारीलाल, अजय सागर, धर्मेंद्र, दिनेश सागर, राजकुमार, नरेश कुमार थे।

अंबेडकर पुस्तकालय में प्रदर्शनी भी लगाई गई। इस मौके पर शशिकांत मिश्रा, मुकेश देव, अरविंद कुमार सिंह, विनोद कुमार तिवारी, दयाराम भी थे।

अमर उजाला

शब्दकोश से निकाल देना चाहिए दलित शब्द

दलित शब्द से मुझे व्यक्तिगत रूप से बेहद घृणा है। दलित शब्द को शब्दकोश्‍ा से निकाल देना चाहिए। कोई भी व्यक्ति खुद को हीन नहीं समझे। आजादी के बाद से सभी व्यक्तियों को समान अधिकार प्राप्त हैं।

डॉ. अंबेडकर के दिखाए शिक्षा के मार्ग पर चलें, कठिन परिश्रम करें। समाज को तरक्की प्रदान करें। यह विचार प्रदेश के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी ने रविवार को महम में डॉ. अंबेडकर के महा परिनिर्वाण दिवस पर हुए कार्यक्रम में व्यक्त किए।

उन्होंने कहा कि डॉ. अंबेडकर ने तमाम सामाजिक बाधाओं का सामना करते हुए खुद को विश्व पटल पर खड़ा किया। अन्याय का विरोध करना, खुद को किसी भी स्तर पर कमजोर नहीं समझना और हकों के लिए लड़ना ही डॉ. अंबेडकर को सच्ची श्रद्धांजलि है।

प्रो. सोलंकी ने कहा कि डॉ. अंबेडकर की दूरगामी सोच की बदौलत ही प्रत्येक व्यक्ति को देश में समानता एवं स्वतंत्रता प्राप्त है। देश में सभी धर्मों और जातियों के लोग आपसी सद्भाव एवं सहिष्णुता के साथ रहते हैं। देश में कई विदेशी आक्रमणकारी आए और देश की मिट्टी में रच-बस गए। भारत मां ने सबको अपने आंचल में बसा लिया और सब एक साथ रहे।

डॉ. अंबेडकर का योगदान अनुकरणीय

विधायक मनीष ग्रोवर ने कहा कि देश की उन्नति में डॉ. अंबेडकर का योगदान अनुकरणीय है। सामाजिक भेदभाव के बावजूद डॉ. अंबेडकर ने जो मुकाम हासिल किया है उसकी कोई बराबरी नहीं कर सकता। प्रत्येक व्यक्ति को उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए।

संगठन ने किया राज्यपाल को सम्मानित

इस मौके पर डॉ. अंबेडकर हितकारी संगठन की तरफ से राज्यपाल सोलंकी को शाल और स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता समाजसेवी अनिल बिंटू ने की।

इस दौरान भाजपा के प्रदेश महामंत्री सुरेश भट्ट, इंदौर भाजयुमो के जिलाध्यक्ष सर्वेश तिवारी, प्रो. दलवीर सिंह, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष इरफान, सुरेश तिवारी, राजकुमार चाहलिया, पूर्व मंत्री जय नारायण खुंडिया, रमेश भाटिया, भाजपा नेता मनीष शर्मा, डीसी डीके बेहेरा और एसपी शशांक आनंद सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

प्रभात खबर

गुड न्यूज: एक माह में चार दिन लगेगा बस्ती में शिविर, पांच वार्डों का होगा चयन, स्लम बस्ती में जायेंगे आयुर्वेद डॉक्टर

http://www.prabhatkhabar.com/news/patna/story/644400.html

पटना सिटी: शहर की स्लम बस्ती में रहनेवाले लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध  कराने के लिए अगमकुआं स्थित क्षेत्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान कार्य  करेगा. इसके लिए केंद्रीय आयुर्वेद एवं सिद्ध अनुसंधान परिषद ने स्वास्थ्य  रक्षा के तहत चलंत इकाई  से स्वास्थ्य सेवा देने की योजना बनायी है. योजना  के तहत प्रथम चरण में पटना शहरी क्षेत्र के पांच वार्डों को चयनित किया  जायेगा.  इन वार्डों में सप्ताह में एक दिन इकाई द्वारा बस्ती में रहनेवालों को शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रहने की विधि सिखायी जायेगी.  साथ ही उपचार के बाद दवा भी मुहैया करायी जायेगी.  

संस्थान  के सहायक निदेशक डॉ अमरनाथ मिश्र ने बताया कि आधारभूत संरचना के साथ  प्रोजेक्ट पर इसी माह कार्य आरंभ हो सकता है. इसके लिए संस्थान में डॉ आलोक  कुमार श्रीवास्तव की देख-रेख में प्रोजेक्ट पर कार्य चल रहा है. प्रोजेक्ट  इंचार्ज डॉ आलोक ने बताया कि स्वास्थ्यरक्षक कार्यक्रम के तहत मौसम के  अनुकूल आचार-विचार, खान-पान व बस्ती के लोगों की दिनचर्या कैसी हो इस दिशा  में जागरूक किया जायेगा ताकि वे मानसिक व शारीरिक रूप से स्वस्थ रह सकें. संस्थान के सहायक निदेशक डॉ अमरनाथ मिश्र ने बताया कि पटना शहर में पांच वार्डों  का चयन करना है. इनमें दो वार्डों  58 व 61 का चयन किया गया है. तीन  वार्डों का और चयन होगा. प्रोजेक्ट में पांचों चयनित वार्डों में एक  डॉक्टर, फार्मासिस्ट व डाटा इंट्री आॅपरेटर समेत अन्य कर्मी रहेंगे. यह टीम  सप्ताह में एक दिन वहां जाकर बस्ती के लोगों की जांच-पड़ताल कर दवा देगी  और स्वस्थ रहने की विधि बतायेगी. माह में चार दिन एक बस्ती में टीम निश्चित  दिन को जायेगी. 

दलित बस्ती में सर्वे ग्राम योजना : स्वास्थ्य  रक्षा कार्यक्रम के तहत एक प्रोजेक्ट अनुसूचित जाति के लोगों के लिए भी  शुरू होगा.  दलित बस्ती में रहनेवालों का सर्वे करने के साथ बस्ती के लोगों  की जांच-पड़ताल कर दवा दी जायेगी और स्वच्छ व स्वस्थ रहने की विधि से अवगत  कराया जायेगा. इस प्रोजेक्ट के लिए डॉ केके सिंह की देख-रेख कार्य चल रहा  है. हालांकि, यह कार्य अगले साल आरंभ होगा. फिलहाल टीम दलित बस्ती में जाकर  वहां सर्वे करेगी. इस दरम्यान स्वस्थ रहने, स्वच्छ पानी के भंडारण आदि  जानकारी बस्ती के लोगों को दी जायेगी. 

छह प्रोजेक्टों पर चल रहा कार्य : सहायक  निदेशक डॉ अमरनाथ मिश्र ने बताया कि संस्थान में छह प्रोजेक्ट पर कार्य चल  रहा है. इनमें गठिया, बात, यूरिक एसिड, हाइपर टेंशन (उच्च रक्तचाप) आदि  शामिल हैं. संस्थान के चिकित्सक डॉ मनोज पांडे का कहना है कि आयुर्वेद में  असाध्य रोग का सटीक इलाज है. इस कारण लोगों का रुझान देसी इलाज में बढ़ा  है.        

महिला के कूल्हे का प्रत्यारोपण

पटना सिटी. कुम्हरार गांधी सेतु के समीप स्थित ऑक्सीजन ट्रामा एंड मल्टीस्पशलिटी हॉस्पिटल में रविवार को लाइव सर्जरी कार्यशाला  हुई, जिसमें 75 वर्षीया महिला के दाएं कूल्हे टूटी हड्डी का प्रत्यारोपण किया गया. प्रत्यारोपण डॉ प्रवीण कुमार ने अपने टीम के साथ किया. टीम में डॉ अरविंद कुमार गुप्ता, डॉ इकबाल खान व डॉ कौशलेंद्र शामिल थे. डॉ प्रवीण ने बताया कि प्रत्यारोपण के बाद महिला की जिंदगी में नयी आस जगी है, वह  दो-तीन दिनों में चलने लायक होगी. इस मौके पर एक सेमिनार का भी आयोजन हुआ.  उद्घाटन पीएमसीएच के  विभागाध्यक्ष डॉ विश्वेद्र कुमार व डॉ कैप्टन विजय शंकर सिंह ने किया. इन लोगों ने कहा कि सर्जरी से कूल्हे की टूटी हड्डी बदल कर कृत्रिम ज्वाइंट के सहारे मरीज को शीघ्र चलाया जा सकता है. कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर जिला न्यायाधीश किशोर प्रसाद ने मेडिकल रिकार्ड रखने की आवश्यकता पर बल दिया ताकि इलाज में पारदर्शिता रहे. डॉ अमूल्य कुमार सिंह ने कहा कि ग्लोबल ऑर्थोपेडिक फोरम के तहत लाइव सर्जरी अलग-अलग अस्पताल में नियमित किया जायेगा. मौके पर संस्थान की संस्थापक डॉ रजनी कुमारी, डॉ मधुसुदन कुमार, डॉ हरि प्रसाद, डॉ अनिल राम, बिहार ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन के सचिव डॉ राजीव आनंद, अनिल कुमार, डॉ पप्पू, डॉ एस सगार आदि मौजूद थे़

दैनिक भास्कर

वन भूमि पर काबिजो का जीपीएस सर्वे होगा

http://www.bhaskar.com/news/MP-OTH-MAT-latest-hata-news-024004-3162803-NOR.html

 नोहटा| नवरचना समाज सेवी संस्थान पैक्स परियोजना अंतर्गत जबेरा, तेदूंखेड़ा ब्लाकों में वन भूमि पर काबिज दलित आदिवासी हितग्राहियों का जीपीएस सर्वे किया जाना है। यह कार्य नवरचना संस्था द्वारा किया जा रहा है। रविवार को सर्वे के संबंध में बैठक आयोजित की गई। जिसमें कार्यकर्ता घनश्याम प्रसाद रैकवार, मन्नू सिंह आदिवासी को जीपीएस मशीन संचालनका प्रशिक्षण दिया गया।

कार्यकर्ता घनश्याम प्रसाद रैकवार ने बताया की जीपीएस सर्वे से वन भूमि पर कब्जा क्षेत्रफल के अलावा इस संबंध में हितग्राही द्वारा की गई कार्यवाही का पता चलेगा। सर्वे के आधार पर बबूल रिसर्च प्रोजेक्टर के माध्यम से शासन-प्रशासन से संवाद स्थापित कर वनभूमि पर काबिजों को अधिकार दिलाने की दिशा में पहल की जाएगी। मन्नू सिंह आदिवासी ने बताया कि जीपीएस सर्वे से मिलान कर काबिजों की वास्तविकता का जायजा लिया जाएगा। भू-अधिकार के लिए जिले में अपनी समस्या ,अपनी व्यवस्था के आधार पर कार्ययोजना एवं अहिंसात्मक संघर्षात्मक रणनीति बनाई जाएगी।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s