दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 16.11.15

फतेहपुर में दलित किशोरी से गैंगरेप न्यूज़ 18

http://hindi.news18.com/news/uttar-pradesh/rape-of-dalit-girl-in-fatehpur-up-1014324.html

झांसी में दलित महिला से छेड़छाड़, पति को पीटा न्यूज़ 18

http://hindi.news18.com/news/uttar-pradesh/dalit-woman-tampering-in-jhansi-up-1014321.html

दलित समुदाय पर दागी गोलियां, आठ घायल – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/amritsar/amritsar-crime-news/amritsar-attack-sc-group-eight-injured-hindi-news/

छठ घाटों की सफाई नहीं होने से श्रद्धालुओं में आक्रोश – प्रभात खबर

http://www.prabhatkhabar.com/news/siwan/story/610378.html

कोटला खुर्द में नल से निकला सांप – पंजाब केसरी

http://himachal.punjabkesari.in/una/news/snake-out-of-the-tap-in-kotla-khurd-414321

एसडीओ की पगड़ी उतारी – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/amritsar/amritsar-crime-news/amritsar-turban-hit-unwear-sdo-hindi-news/

आग से जले पांच घर, हजारों की क्षति – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/sultanpur/sultanpur-crime-news/five-house-burnt-in-fire-hindi-news/

डॉ.अंबेडकर का ऋणी रहेगा दलित समाज – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/jyotiba-phule-nagar/programme-hindi-news-1/

अवॉर्ड वापसी: दलित लेखक ने किया पद्मश्री और साहित्य अकादमी अवॉर्ड वापसी का ऐलान – हरिभूमि

http://www.haribhoomi.com/literature/respect/dalit-writer-returns-padma-shri-sahitya-akademi-awards/33476.html

Please Watch:

Dalits Concerns Before Land Rights Struggle Groups/ Mainstream Movements

https://www.youtube.com/watch?v=WU7Sqd7d_9k

 An Appeal: Please contribution to PMARC for strengthen Democracy, Peace & Social Justice !

न्यूज़ 18

फतेहपुर में दलित किशोरी से गैंगरेप

http://hindi.news18.com/news/uttar-pradesh/rape-of-dalit-girl-in-fatehpur-up-1014324.html

उत्तर प्रदेश के खागा थाना क्षेत्र के बरक्कतपुर गांव में एक दलित किशोरी के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है. पुलिस ने हरिजन एक्ट के तहत 376 आईपीसी व पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है. बरक्कतपुर गांव में शनिवार की शाम घर से बाहर शौच के लिए निकली 13 वर्षीय दलित किशोरी को गांव के दो युवकों ने दबोच लिया और उसके साथ गैंगरेप किया.

किसी तरह घर आकर किशोरी ने अपने परिवार वालों को आपबीती सुनाई, जिससे परिवार के लोग आक्रोशित हो उठे. वे आरोपियों के घर जा पहुंचे. वहां घर में मौजूद एक रिश्तेदार को पीट-पीटकर जख्मी कर दिया. इस दौरान बीच-बचाव करने वालों को भी चोटें आईं. बाद में पुलिस ने दोनों आरोपियों को अपनी अभिरक्षा में ले लिया.

आरोपियों के परिजनों का कहना है कि दोनों लड़कों को बेवजह फंसाया जा रहा है. घटना के समय एक आरोपी धान लेकर बिंदकी मंडी गया हुआ था और दूसरा नाबालिग है, जो घर में ही मौजूद था.

एसओ ने रविवार को कहा कि आरोपियों के परिजन अपने लाड़लों को बचाने के लिए झूठ बोल रहे हैं. दोनों आरोपियों के खिलाफ हरिजन एक्ट के तहत 376 आईपीसी व पॉक्सो एक्ट का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. किशोरी को मेडिकल जांच के लिए महिला अस्पताल भेजा गया है.

न्यूज़ 18

झांसी में दलित महिला से छेड़छाड़, पति को पीटा

http://hindi.news18.com/news/uttar-pradesh/dalit-woman-tampering-in-jhansi-up-1014321.html

उत्तर प्रदेश के झांसी जनपद के थाना गुरसराय के ग्राम मड़ोरी में एक मनचले युवक ने एक महिला को बुरी नीयत से पकड़ लिया और उसके साथ छेड़खानी की. महिला ने शोर मचाया. शोर सुनकर बचाने पहुंचे महिला के पति को युवक ने अपने परिवार के साथ मिलकर घायल कर दिया. पीड़िता ने इस घटना की शिकायत पुलिस से की है.

थाना गुरसराय के ग्राम मड़ोरी में रहने वाली एक महिला को गांव के ही रहने वाले मनचले युवक जितेंद्र ने बुरी नीयत से पकड़ लिया और छेड़खानी की. महिला ने विरोध कर शोर मचाया. शोर सुनकर महिला का पति उसे बचाने पहुंचा. यह देख मनचले युवक ने अपने पिता गनेश राय और मां रेवती के साथ मिलकर गाली-गलौज करते हुए महिला के पति की पिटाई कर दी, जिससे वह घायल हो गया.

महिला इसकी शिकायत लेकर थाने पहुंची. पुलिस ने लिखित शिकायत के आधार आरोपी युवक समेत उसके पिता और मां के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

अमर उजाला

दलित समुदाय पर दागी गोलियां, आठ घायल

http://www.amarujala.com/news/city/amritsar/amritsar-crime-news/amritsar-attack-sc-group-eight-injured-hindi-news/

कस्बा झब्बाल में रविवार तड़के चार बजे पुरानी रंजिश में स्वर्ण जाति के करीब 25 लोगों ने दलित समुदाय के लोगों पर अचानक हमला बोल दिया।

सूत्रों के अनुसार हमलावरों ने पहले जातिसूचक गालियां दीं फिर अचानक गोलियां दागने लगे। हमलावरों ने 32 बोर की पिस्तौल और 12 बोर की 8 राइफल से 25 गोलियां दागी।

acr300-5648676700b24sc

हमले में दलित समुदाय के आठ लोग घायल हो गए। इनमें एक नाबालिग भी शामिल है। दाईं आंख में गोली लगने से उसकी आंख की रोशनी चली गई है। एक की हालत गंभीर है।

घायलों की पहचान गुरपाल सिंह (27), गुरबाज सिंह (19), दिलबाग सिंह (24), हरदेव सिंह (20), मंदीप सिंह(20), पवनप्रीत सिंह (14), अजयपाल सिंह (18), गुरपाल सिंह (18) पुत्र दिलबाग सिंह निवासी झब्बाल के तौर पर हुई है।

पवनप्रीत की आंख में गोली लगी है। घायलों को गुरु नानक देव अस्पताल में भर्ती कराया गया है। थाना झब्बाल पुलिस ने घायलों के बयान पर लवश कुमार, कुशल, तनवीर कुमार तन्नू, राजन, गगड़, जज सनियारा, अवतार सिंह समेत 25 के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। फिलहाल आरोपी फरार हैं।

थाना झब्बाल के प्रभारी एसएचओ सुखबीर सिंह व डीएसपी सुखविंद्र सिंह ने बताया कि हमलावर  नशे की हालत में थे। दोनों पक्षों में पुरानी रंजिश के कारण वारदात को अंजाम दिया गया है। 

लोगों ने घेरा थाना 

घटना की जानकारी मिलते ही दलित समाज के सैकड़ों लोग मौके पर इकट्ठा हो गए। उन्होंने वाल्मीकि लवकुश सेवादल के चेयरमैन व दलित सुरक्षा माझा जोन के प्रधान साहिब सिंह घरिंडी और दलित सुरक्षा सेना के राष्ट्रीय प्रधान शाक्ति कल्याण, जिला प्रधान बलविंद्र किंदा, शबीर द्रविड़ के साथ झब्बाल थाना घेर लिया।

डीएसपी सुखविंद्र सिंह के आश्वासन के बाद आधा घंटे बाद प्रदर्शनकारी शांत हुए। उन्होंने मांग की कि आरोपियों के खिलाफ अनुसूचित जाति अत्याचार एक्ट के तहत मामला दर्ज किया जाए। 

वेरका ने दिया उचित कार्रवाई का आश्वासन

घटना की जानकारी मिलने पर ऑल इंडिया एससी, एसटी आयोग के वाइस चेयरमेन डॉ. राजकुमार वेरका ने ग्रामीण एसएसपी जसदीप सिंह सैनी, डीएसपी सुखबीर सिंह को तलब किया।

उन्होंने कहा कि आरोपियों  को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। वहीं घायलों का हालचाल जानने के लिए डॉ. वेरका अस्पताल भी पहुंचे। उन्होंने पीड़ितों को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया।

प्रभात खबर

छठ घाटों की सफाई नहीं होने से श्रद्धालुओं में आक्रोश

http://www.prabhatkhabar.com/news/siwan/story/610378.html

बड़हरिया : प्रखंड के सभी गांवों में लोक आस्था के महापर्व छठ पूजा की तैयारी जोरों से चल रही है. श्रद्धालु छठ घाटों की सफाई में जुटे हैं, लेकिन प्रखंड के ऐतिहासिक यमुनागढ़ के छठ घाटों की अभी तक सफाई नहीं होने से लोगों में नाराजगी देखी जा रही है. विदित हो कि यमुना गढ़ स्थित जलाशय में पूरी तरह जलकुंभी फैल गयी है.

इससे छठव्रतियों को अर्घ दे पाना असंभव हो गया है. विदित हो कि यमुनागढ़ स्थित उत्तरी छोर पर बड़हरिया गांव के सोनार टोली, कलवार टोली व दलित बस्ती का छठ घाट है, जबकि दक्षिणी छोर पर कोइरीगांवा का घाट है, जो जलकुंभी से भरा पड़ा है. प्रशासनिक उदासीनता व जनप्रतिनिधियों की अनदेखी के कारण सभी छठ घाटों की सफाई नहीं हो पायी है. पूर्व मुखिया जनार्दन प्रसाद सेठी कहते हैं कि मैं मुखिया था, तो छठ घाटों की सफाई करा देता था.

छठ घाटों की सफाई के संबंध में बीडीओ राजीव कुमार सिन्हा ने बताया कि छठ घाटों की सफाई के लिए कोई अलग से मद नहीं आता है. वहीं पीएचसी प्रभारी डॉ जेवी प्रसाद ने बताया कि प्रत्येक खिन्यू विलेज को 10-10 हजार रुपये छठ घाटों की सफाई के लिए देने का प्रावधान है व एएनएम के माध्यम से मुखिया को छठ घाटों की सफाई करानी है.

पंजाब केसरी

कोटला खुर्द में नल से निकला सांप

http://himachal.punjabkesari.in/una/news/snake-out-of-the-tap-in-kotla-khurd-414321

 ऊना: जिला मुख्यालय के निकटवर्ती गांव कोटला खुर्द में आईपीएच विभाग द्वारा सप्लाई किए जा रहे पेयजल के साथ सांप नि:शुल्क रूप से मिल रहे हैं। अब तक 3 घरों में ऐसे सांप निकल चुके हैं। इससे लोग नल खोलने से घबरा रहे हैं। कूड़ा-कर्कट के साथ-साथ अब सांपों के निकलने से ग्रामीण भयभीत हैं। लोगों को आशंका है कि जिन्होंने सप्लाई के इस जल को पीया है, वे बीमारियों के शिकार न हो जाएं। रविवार को भी जब एक और घर में नल से सांप निकला तो ग्रामीण भड़क उठे। यह क्रम पिछले कुछ दिन से जारी है लेकिन अभी तक विभाग ने इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया है।

कोटला खुर्द की दलित बस्ती में उस समय हड़कंप मच गया, जब लगातार नल से चौथा सांप आ गया। इससे पहले 3 नलों में सांप निकल चुके हैं। जिनके घरों में लगाए गए नलों से सांप निकला, उनमें कृष्णा देवी, चिरंजी लाल व मलकीयत कौर शामिल हैं। ग्रामीणों ने कहा कि उन्हें जो पेयजल सप्लाई किया जा रहा है, उसमें कीड़े व मिट्टी भी आती है। इससे यहां बीमारियां फैल रही हैं और कई ग्रामीण बीमार होकर अस्पतालों के चक्कर लगा चुके हैं।

ग्रामीणों के मुताबिक कई लोगों को एक जैसी बीमारी की शिकायत होने पर पीएचसी से उपचार करवाया जा रहा है। चिकित्सकों ने भी बस्ती में आकर दवाइयां प्रदान की हैं। ग्रामीणों ने कहा कि यदि शीघ्र प्रदूषित पेयजल सप्लाई बंद न की तो आंदोलन किया जाएगा। ग्राम पंचायत उपप्रधान सुरिन्द्र ने कहा कि आज जब दलित बस्ती में एक घर में पेयजल पाइप से सांप निकला तो इसकी सूचना मिलने पर वह मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों में विभाग के प्रति रोष है। उन्होंने इस संबंध में पहले भी विभाग को सूचित किया था लेकिन अभी तक समस्या का हल नहीं हुआ है।

अमर उजाला

एसडीओ की पगड़ी उतारी

http://www.amarujala.com/news/city/amritsar/amritsar-crime-news/amritsar-turban-hit-unwear-sdo-hindi-news/

गांव तलवड़ी नाहर चौक के पास एक दलित को जातिसूचक शब्द कहकर उसकी पगड़ी उतारकर बदसलूकी की गई।

पुलिस ने पीड़ित के बयान पर चैंचल शर्मा निवासी मोहन भंडारिया के खिलाफ मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है।

केस के जांच अधिकारी व एएसआई तरलोक सिंह ने बताया कि जब एसडीओ टेलीफोन विभाग कुलदीप सिंह निवासी मोहनभंडारिया अपनी बोलेरो कार में सवार होकर गांव तलवंडी नाहर चौक के पास पहुंचे तो चैंचल शर्मा ने उनकी कार रोककर उन्हें जातिसूचक शब्द कहे।

बाद में उन्हें धक्का मारकर पगड़ी उतार दी। पुलिस ने एसडीओ के बयान पर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। 

अमर उजाला

आग से जले पांच घर, हजारों की क्षति

http://www.amarujala.com/news/city/sultanpur/sultanpur-crime-news/five-house-burnt-in-fire-hindi-news/

लंभुआ क्षेत्र के अंतपुर गांव की दलित बस्ती में रविवार को आग लगने से पांच घर जल गए। आग लगने से हजारों रुपये कीमत के सामान जलकर खाक हो गए। ग्रामीणों की मदद से फायर कर्मियों ने आग पर काबू किया। 

रविवार को दोपहर बाद करीब चार बजे अंतपुर गांव की दलित बस्ती में झुरहा के घर में अचानक आग लग गई।

छप्पर के मकान में लगी आग ने देखते ही देखते विकराल रूप धारण कर लिया। आग की चपेट में आसपास के घर भी आ गये। ग्रामीणों के अथक प्रयास के बाद भी आग बुझाने पर काबू नहीं पाया सका।

आग की लपटों ने कल्लू, राममिलन, सुनील व रघुराज के छप्पर के मकान को भी अपनी चपेट में ले लिया। आग से लोगों के गृहस्थी के सामान जलकर खाक हो गए। ग्रामीणों ने पुलिस कंट्रोल रूम को घटना की सूचना दी। मौके पर पहुंचे फायर ब्रिगेड कर्मियों की मदद से आग पर काबू पाया जा सका। उपजिलाधिकारी दिनेश कुमार गुप्त ने बताया कि पीड़ितों को जल्द ही सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।

अमर उजाला

डॉ.अंबेडकर का ऋणी रहेगा दलित समाज

http://www.amarujala.com/news/city/jyotiba-phule-nagar/programme-hindi-news-1/

फत्तेहपुर जिवाई गांव में रविवार को तीन दिवसीय डॉ.अंबेडकर जन जागृति समारोह का शुभारंभ मुख्य अतिथि सेवानिवृत्त जज फूल सिंह ने किया। इस दौरान मुख्य अतिथि ने कहा कि, दलित समाज हमेशा डॉ. अंबेडकर का ऋणी रहेगा।

दलितों और पिछड़ों को समाज की मुख्य धारा में लाने में उनका प्रमख योगदान है। वहीं डॉ.अवनीश कुमार ने कहा कि संविधान निर्माता के योगदान को भुलाना संभव नहीं है।

बसपा के मुरादाबाद जिलाध्यक्ष योगेंद्र सागर ने डा.अंबेडकर के बताए रास्ते पर चलने का आह्वान किया। नीलम सिंह ने कहा कि बाबा साहब ने हमेेेशा वंचित एवं दबे लोगों के लिए संघर्ष किया। 

कार्यक्रम में आर्टिस्ट राजकुमार राजू ने अपने हाथ से बनाई बसपा सुप्रीमो मायावती की पेंटिंग मुख्य अतिथि को भेंट की। डा.मनोज कुमार, सुरेशपाल सिंह, राजेंद्र सिंह, दीपा भारतीय ने भी विचार रखे। शेर सिंह, नत्थू सिंह, ओंकार सिंह, निर्वेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे। अध्यक्षता करन सिंह ने की।

हरिभूमि

अवॉर्ड वापसी: दलित लेखक ने किया पद्मश्री और साहित्य अकादमी अवॉर्ड वापसी का ऐलान

http://www.haribhoomi.com/literature/respect/dalit-writer-returns-padma-shri-sahitya-akademi-awards/33476.html

 मैसुरू. देश भर में चल रहे अवॉर्ड वापसी अभियान में कर्नाटक के एक दलित लेखक ने भी अपना विरोध दर्ज कराने का निर्णय लिया है। असहिष्णुता के विरोध में दलित लेखक देवनुरू महादेवा ने अपना पद्मश्री और साहित्य अकादमी पुरस्कार वापस करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि धर्म के नाम पर चल रही हिंसा के विरोध में उन्होंने अपना अवॉर्ड वापस करने का फैसला किया है। 

महादेवा ने एक ओपन लैटर में लिखा है कि धर्म के नाम पर हत्या, लूटपाट और घृणा पैदा करने वालों से भगवान भी नहीं बचा सकता। महादेवा को साल 2011 में पद्म अवॉर्ड और उनकी कृति कुसुमबाले के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला था। सूत्रों के अनुसार, लेखक इंटोलेरेंस के मुद्दे पर काफी दिनों से अपसेट थे, काफी सोच विचार के बाद उन्होंने अपने सम्मान वापस करने का फैसला किया।

 उन्होंने अपने अवॉर्ड और मेडल वापस करने के लिए मैसुरू जिला प्रशासन ने संपर्क किया है। 60 वर्षीय महादेवा ने कहा कि सत्तारूढ़ सरकार को संवेदनशील रहना चाहिए तथा जब सरकार संवेदनहीन हो जाए तो लेखकों, कलाकारों और बुद्धिजीवियों को उसपर लगाम लगाने के प्रयास करने चाहिए। 

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s