दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 24.10.15

दलित लेखक पर हमला, बोले इस बार लिखा तो उंगलियां काट देंगे – इन खबर

http://www.inkhabar.com/national/8162-young-dalit-writer-targeted-in-davanagere

दशहरे पर मंदिर आए दलितों को स्वर्ण लोगों ने पीटा-गुस्साए दलितों ने थाने में किया जमकर हंगामा तीसरी जंग

http://teesrijungnews.com/national/दशहरे-पर-मंदिर-आए-दलितों-क/

दलित लडके की मौत : दो पुलिस अधिकारी हिरासत में – प्रभात खबर

http://www.prabhatkhabar.com/news/other-state/haryana-manohar-lal-khattar-dalits-killed-two-police-officers-detained/570951.html

सवालों के घेरे में मुठभेड़ की कहानी – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/agra/agra-crime-news/the-story-of-the-encounter-in-question-hindi-news/

सुनपेड़ में हुई आगजनी का दलित समाज ने किया विरोध दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news/HAR-OTH-MAT-latest-yamunanagar-news-032026-2897679-NOR.html

32 घंटे बाद गोहाना में दलित युवक का अंतिम संस्कार – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/sonipat/sonipat-crime-news/dalit-juvenile-death-case-hindi-news/

पुलिस ने लिया जितेंद्र की पत्‍नी का बयान, सीलबंद सीबीआई को सौंपा जाएगा : सूत्र एन डी टीवी

http://khabar.ndtv.com/news/india/faridabad-police-registered-statement-of-jitendras-wife-1235866

Please Watch:

Protest against Dalit atrocities

https://www.youtube.com/watch?v=5_yh538duoI

Save Dalit Foundation:

Educate, agitate & organize! – Dr. Ambedkar.

Let us all educates to agitate & Organize to Save Dalit Foundation !                        

Please sign petition for EVALUATION of DF by click this link : https://t.co/WXxFdysoJK

इन खबर

दलित लेखक पर हमला, बोले इस बार लिखा तो उंगलियां काट देंगे

http://www.inkhabar.com/national/8162-young-dalit-writer-targeted-in-davanagere

 बेंगलुरु. एक तरफ दिल्ली में लेखक इकठ्ठा होकर कन्नड़ लेखक एवं विद्वान एमएम कलबुर्गी की हत्या के विरोध में मार्च निकल रहे हैं तो दूसरी तरफ कर्नाटक के ही दावणगेरे में एक युवा दलित लेखक हचंगी प्रसाद पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया. दर्ज FIR के मुताबिक प्रसाद ने जाति व्यवस्था के विरोध में एक बुकलेट प्रकाशित की थी जिस पर ऊंची जाति के लोगों ऐतराज था.

 क्या है मामला 

प्रसाद दावणगेरे यूनिवर्सिटी के छात्र हैं और वहीं होस्टल में रूम लेकर रहते हैं. कुछ दिन पहले एक अनजान आदमी आया और उसने प्रसाद से कहा कि उनकी मां बहुत बीमार है उन्हें हार्ट अटैक आया है बे अस्पताल में भारती हैं. वो प्रसाद को अपने साथ ले गया और थोड़ी दूर एक सुनसान जगह ले जाकर करीब 8-10 लोगों के साथ मिलकर उनसे मारपीट की. 

prasad

 प्रसाद ने बताया कि उन लोगों ने मुझे घेर लिया और मेरी किताब को हिंदू विरोधी करार देते हुए मुझे पीटने लगे. उन्होंने प्रसाद के पूरे चेहरे को भी रंग दिया. उन लोगों ने प्रसाद को धमकी दी है कि अगर फिर से जाति व्यवस्था या हिंदू धर्म के खिलाफ लिखा तो उसकी उंगलियां काट देंगे. 

 उन लोगों ने जब प्रसाद को छोड़ दिया तो पहले वे अस्पताल गए और उसके बाद उन्होंने जाकर FIR दर्ज कराई. पुलिस ने अनजान लोगों के खिलाफ SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है. 

तीसरी जंग

दशहरे पर मंदिर आए दलितों को स्वर्ण लोगों ने पीटा-गुस्साए दलितों ने थाने में किया जमकर हंगामा

http://teesrijungnews.com/national/दशहरे-पर-मंदिर-आए-दलितों-क/

 विकासनगर (देहरादून)। देहरादून के कालसी तहसील के लक्सियार गांव में दशहरे के अवसर पर देव दर्शन के दौरान विवाद हो गया। दलित वर्ग के देव मालियों ने क्षेत्र के कुछ स्वर्ण लोगों पर दलितों से मारपीट का आरोप लगाया है। साथ ही महिलाओं के साथ अभद्रता करने का आरोप लगाया।देव मालियों ने कालसी थाना पहुंच कर मामले की शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। तहरीर में देव मालियों ने कहा कि दशहरा पर्व के मौके पर बृहस्पतिवार को वे लक्सियार स्थित महासू मंदिर गए थे।

 देवमाली बबली पुत्री खेंतू निवासी कैनोटा का कहना है कि उस पर देवी अवतरित होती हैं जबकि दिनेश पुत्र शांति प्रकाश निवासी कैनोटा पर शिव अवरित होते हैं। इसी तरह ताराचंद पुत्र फागुनिया निवासी सिंगोटा पर हनुमान आते हैं। तीनों दलित वर्ग से संबंध रखते हैं।देव म‌ालियों ने बताया कि वे मंदिर परिसर में खड़े थे। इस दौरान लक्सियार गांव निवासी दो लोग वहां आए। उन्होंने देव छड़ी से उन पर हमला बोल दिया। महिला देव माली बबली के सिर पर भी वार कर दिया। उसके बाल भी खींचे। हमले में तीनों को चोटें आई हैं। दलित समुदाय के लोगों ने पीड़ितों का सीएचसी विकासनगर में मेडिकल कराया।

 विरोध में लोगों ने जन आंदोलन संस्था के राष्ट्रीय समन्वयक जबर सिंह की अगुवाई में कालसी थाने में जमकर हंगामा किया और दो लोगों के खिलाफ नामजद तहरीर दी।थानाध्यक्ष हरिओम राज चौहान ने बताया कि तहरीर के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी गई है। पीड़ितों के बयान दर्ज किए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में चकराता विकासखंड के गबेला गांव स्थित कुकुर्शी देवता के मंदिर में दलितों के देव दर्शन के दौरान भी विवाद हो गया था। देवता का आदेश बताकर जौनसार बावर परिवर्तन यात्रा में शामिल दलितों को देव मालियों ने मंदिर में प्रवेश से रोक दिया था।

 विवाद बढ़ने पर जिला प्रशासन को हस्तक्षेप करना पड़ा। मंदिर में प्रवेश नहीं करने देने पर दलितों ने भूख हड़ताल शुरू कर दी थी। मामला तूल पकड़ने पर जिलाधिकारी के निर्देश पर उच्चाधिकारियों ने गबेला पहुंच कर दलितों को दर्शन कराए थे। इस दौरान वहां भारी पुलिस बल तैनात था।

प्रभात खबर

दलित लडके की मौत : दो पुलिस अधिकारी हिरासत में

http://www.prabhatkhabar.com/news/other-state/haryana-manohar-lal-khattar-dalits-killed-two-police-officers-detained/570951.html

 सोनीपत-चंडीगढ (हरियाणा) : सोनीपत में 15 वर्षीय दलित युवक की हत्या के मामले में आज दो पुलिस अधिकारियों पर मामला दर्ज कर लिया गया. हालांकि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने दावा किया कि युवक ने आत्महत्या की थी और उसकी पुलिस हिरासत में मौत नही हुई है जैसा कि उसके परिवार वाले आरोप लगा रहे हैं. सोनीपत के पुलिस अधीक्षक अभिषेक गर्ग ने बताया कि दोनों सहायक पुलिस उपनिरीक्षकों पर हत्या का मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति आयोग के निर्देशानुसार अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत भी दोनों पुलिसकर्मियों पर मामला दर्ज किया गया है.

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति आयोग के सदस्य ईश्वर सिंह ने मृतक के परिवार वालों से मुलाकात की थी जिसके बाद मामले दर्ज किये गये. आयोग ने पुलिस उपायुक्त राजीव रत्न और पुलिस अधीक्षक अभिषेक गर्ग को भी अपने दिल्ली कार्यालय में 26 अक्तूबर को स्थिति रिपोर्ट के साथ तलब किया है.

अमर उजाला

सवालों के घेरे में मुठभेड़ की कहानी

http://www.amarujala.com/news/city/agra/agra-crime-news/the-story-of-the-encounter-in-question-hindi-news/

 सवाल 1

पुलिस के पास बाइकें भी थी और जीप भी, फिर पांच बदमाश पैदल ही कैसे भाग निकले?

सवाल – 2

पुलिस और बदमाशों के बीच कई राउंड गोलियां चलीं तो किसी को भी लगी क्यों नहीं?

सवाल – 3

पुलिस से पहले ट्रैक्टर-ट्रॉली मालिक मौका ए वारदात पर कैसे पहुंच गया?

पुलिस हिरासत में भागुपुर गांव के दलित युवक विजयपाल को पीट पीटकर मार डालने के संगीन आरोपों से घिरी पुलिस के लिए मुठभेड़ की कहानी को सच साबित करना भी आसान नहीं होगा। इसी मुठभेड़ में विजयपाल को गिरफ्तार बताया गया था। लेकिन कहानी पर यकीन करना आसान नहीं है।

पुलिस का कहना है कि बुधवार शाम मुठभेड़ खंदौली रोड पर गांव नंगला केसरी गांव के पास हुई। छह बदमाश ट्रैक्टर ट्राली लूटकर भाग रहे थे। इनमें से विजयपाल को पकड़ लिया गया। बाकी पांच भाग निकले। मुठभेड़ की एफआईआर के मुताबिक ,विजयपाल को पुलिस ने नहीं, ट्रैक्टर ट्राली के मालिक फीरोजाबाद के गढ़ी भूचाल गांव निवासी वीरेंद्र ने ग्रामीणों की मदद से पकड़ा।

मौका ए वारदात से एत्मादपुर थाना से छह किलोमीटर दूर है जबकि गढ़ी भूचाल 15 किलोमीटर। फिर वह पुलिस से पहले कैसे पहुंच गया?

पुलिस की कहानी के मुताबिक ,टूंडला के शांतिनगर निवासी पप्पू पुत्र रामस्वरूप सादाबाद से ट्रैक्टर-ट्राली में ईंट भरकर टूंडला लेकर जा रहा था। खंदौली रोड स्थित नगला केसरी के पास बाइक सवार बदमाशों ने ट्रैक्टर-ट्रॉली को लूट लिया। पप्पू भाग निकला। उसने पास के गांव पहुंचकर लोगों को बताया।

 लोगों ने फोन से वीरेंद्र को बताया। वीरेंद्र के आने तक न गांव वाले पहुंचे और न ही थाना पुलिस। उसने आकर ग्रामीणों की मदद से विजयपाल को पकड़ लिया, जबकि बाकी बदमाश भाग निकले। उधर, पुलिस ने अभी तक इस मामले की जांच पड़ताल शुरू नहीं की है। अधिकारी कह रहे हैं कि मुठभेड़ हुई थी, इसी में विजयपाल पकड़ा गया था।

पुलिस ने दर्ज किया लूट का केस

पुलिस ने मुठभेड़ का केस दर्ज किया है। इसमें विजयपाल पर लूट का भी आरोप है। पुलिस का कहना है कि मौैके से ट्रैक्टर- ट्राली, दो बाइक, एक तमंचा, तीन कारतूस और एक खोखा बरामद किए गए थे।

अभी तक जांच अधिकारी तय नहीं

पुलिस हिरासत में विजयपाल की मौत के मामले में अभी तक जांच अधिकारी तय नहीं किया जा सका है। थाना एत्मादपुर के प्रभारी निरीक्षक ने शुक्रवार को विवेचक नियुक्त करने के लिए एसएसपी को पत्र लिखा है।

 दैनिक भास्कर

सुनपेड़ में हुई आगजनी का दलित समाज ने किया विरोध

http://www.bhaskar.com/news/HAR-OTH-MAT-latest-yamunanagar-news-032026-2897679-NOR.html

 फरीदाबादकेेगांव सनपेड़ में हुई आगजनी उस में मारे गए दलित परिवार के बच्चों के विरोध में अनुसूचित जाति संगठनों सड़कों पर उतर आया। सदस्यों ने जुलूस निकालते हुए जिला सचिवालय में पहुंचकर जमकर नारेबाजी की।

मौके पर एडीसी डॉ. सतबीर सिंह सैनी को राज्यपाल सीएम मनोहर लाल को ज्ञापन सौंपा। ऑल हरियाणा शेड्यूल कास्ट एम्पलाइज फेडरेशन के जिला प्रधान सतपाल ने कहा कि इस घटना से दो साल से भी छोटे मासूम बच्चों को जिंदा जलाकर मार देना काफी निंदनीय है। आज बच्चों की मां भी जिंदगी और मौत से जूझ रही है। आज भी कुछ लोगों के मन में गलत धारण बनी हुई है। इस सोच को बदलना होगा। गलत सोच रखने वाले लोग समाज पर एक धब्बे के समान हैं और जो लोग समाज को बांटने का काम करते हैं ऐसे लोगों को बाहर का रास्ता दिखाना चाहिए।

 उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने सत्ता में आने से पूर्व सबका साथ-सबका विकास का नारा दिया था। लेकिन सत्ता में आने के बाद प्रदेश में ही नहीं बल्कि देशभर में दलितों पर अत्याचार के मामलों में वृद्धि हुई है जोकि इस नारे के विपरीत है।

रामकुमार, विनोद, बनारसी दास, बलदेव, सविंद्रो देवी ने कहा कि दलित परिवारों पर इस प्रकार के हमले होना बहुत ही घृणता कार्य है। आज दलित समाज के लोग अपने आप को असुरक्षित महसूस करने लगे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ समय पहले भी इस प्रकार की कई घटनाएं घटी हैं जिसके कारण दलितों को धर्म परिवर्तन और विस्थापित होने जैसे कदम उठाने पड़े हैं। उन्होंने सरकार से इस घटना के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। मौके पर मुकेश कुमार, सुरेंद्र, संजीव, पवन कुमार, सोहनलाल, सुरजीत, जय कृष्ण, मदनलाल , देसराज , हरिकिशन, रामकुमार, लक्ष्मीकांत, बलदेवराज, अमरदीप, कमलदेव, बनारसी दास, राजेंद्र, सविंद्रों देवी, भारती रानी, हरजीत मीना कुमारी मौजूद रहे। 

 अमर उजाला

32 घंटे बाद गोहाना में दलित युवक का अंतिम संस्कार

http://www.amarujala.com/news/city/sonipat/sonipat-crime-news/dalit-juvenile-death-case-hindi-news/

शहर के देवीनगर इलाके में रहने वाले दलित किशोर गोविंदा की मौत के मामले में नामजद एएसआई अशोक और सुभाष के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट के तहत भी जांच होगी। साथ ही अनुसूचित जाति एवं जनजाति आयोग अपनी देखरेख में पूरी जांच भी कराएगा।

आयोग ने 26 अक्तूबर तक पूरे मामले की रिपोर्ट डीसी और एसपी से तलब की है। शुक्रवार को गोहाना पहुंचे आयोग के सदस्य ईश्वर सिंह के इस आश्वासन पर किशोर की मौत के 32 घंटे बाद परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया। तब जाकर पुलिस-प्रशासन ने राहत की सांस ली। 

वहीं, मामले ने राजनीतिक रंग भी ले लिया है। खुद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर दोपहर में पीड़ित परिवार से मिले और हरसंभव मदद का भरोसा दिया। उधर, एसपी अभिषेक गर्ग ने निष्पक्ष जांच के बाद गिरफ्तारी का भरोसा दिया है। 

गुरुवार सुबह देवीनगर निवासी किशोर गोविंदा (15) का शव संदिग्ध हालत में मिला था। किशोर के गले पर रस्सी के निशान थे। साथ ही दोनों पैर जख्मी थे। इससे नाराज परिजनों ने साढ़े तीन घंटे तक गोहाना-जुलाना मार्ग और रोहतक-पानीपत रेलवे ट्रैक जाम कर दिया था। आरोप था कि पुलिस ने गोविंदा पर पहले तो झूठे चोरी के केस में फंसाया और बाद में थाने में बुलाकर उसकी हत्या कर शव को उसी के ताऊ के घर में डालकर फरार हो गए।

घटना की सूचना पर एसडीएम धर्मेंद्र सिंह ने पुलिस के अधिकारियों के साथ पहुंचकर उनकी मांगों को मानने का आश्वासन दिया था। जिसके बाद पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम रोहतक पीजीआई में कराया। हालांकि पुलिस ने एएसआई सुभाष और एएसआई अशोक के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया था। हालांकि गुरुवार देर शाम परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया था।

सुबह सस्पेंड कर गिरफ्तारी पर अड़े परिजन 

शुक्रवार सुबह दोनों आरोपी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर उन्हें गिरफ्तार करने के बाद ही परिजन अंतिम संस्कार करने की बात कह रहे थे। साथ में एससी-एसटी एक्ट लगाने की भी मांग की। सूचना पर सुबह दस बजे राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के सदस्य ईश्वर सिंह परिजनों से मिलने गोहाना पहुंचे। उन्होंने परिजनों से मुलाकात की और प्रशासन को आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट के तहत भी केस दर्ज करने की मांग की। जिस पर पुलिस-प्रशासन तैयार हो गया। तब जाकर कहीं परिजन अंतिम संस्कार के लिए माने। 

पुलिस छावनी में तब्दील हुआ स्टेशन

परिजनों द्वारा अंतिम संस्कार से इनकार करने के बाद बृहस्पतिवार देर रात ही भारी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। सुबह होते ही पुलिस के अधिकारियों ने परिजनों को शव का अंतिम संस्कार करने के लिए मनाना चाहा, लेकिन उन लोगों ने एक नहीं मानी। पुलिस को इस बात का भय था कि कहीं परिजन रेलवे ट्रैक को जाम नहीं कर दें। इसके लिए सुबह से ही रेलवे स्टेशन से बरोदा रेलवे फाटक तक भारी संख्या में पुलिस की कई टुकड़ी लगाई गईं।

इतना ही मौके पर पुलिस ने वज्र और फायरब्रिगेड की गाड़ियां भी बुला ली गई थी।

परिजनों का आरोप: संस्कार के लिए बनाया गया दबाव, चाहिए पुलिस सुरक्षा 

परिजनों का आरोप है कि बृहस्पतिवार देर रात पुलिस के अधिकारियों और कुछ दबंग लोगों ने गोविंदा के अंतिम संस्कार के लिए उनके ऊपर दबाव बनाया। उनका कहना है कि देर रात कुछ लोग उनके घर घुस गए और कहा कि या तो इसका अंतिम संस्कार कराओ नहीं तो आपके साथ अच्छा नहीं होगा। इससे उन्हें जानमाल का खतरा है।

इसीलिए परिजनों को पुलिस सुरक्षा मिलनी चाहिए। 

 एक घंटे तक चली बातचीत के बाद अंतिम संस्कार के लिए माने परिजन

राष्ट्रीय अनुसूचित आयोग के सदस्य ईश्वर सिंह ने मौके पर पहुंचकर परिजनों से बातचीत की। परिजनों से बातचीत कर उन्होंने तुरंत डीसी और एसपी को गोहाना पहुंचने को कहा। आयोग के सदस्य के कहने पर सोनीपत डीसी राजीव रतन और एसपी अभिषेक गर्ग गोहाना पहुंचे। लगभग एक घंटे तक अधिकारियों और परिजनों में बातचीत हुई। तब जाकर परिजन अंतिम संस्कार के लिए राजी हुए। 

नेताओं ने की पीड़ित परिवार से मुलाकात 

मामले को लेकर खुद भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव जैन गोहाना पहुंचे और पीड़ित परिवार को भरोसा दिया कि मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने पूरी तरह निष्पक्ष कार्रवाई का अधिकारियों को आदेश दिया है। इसके बाद कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की। मुलाकात के बाद कहा कि भाजपा राज में दलितों को विशेष तौर पर निशाना बनाया जा रहा है। फरीदाबाद के बाद गोहाना में दलित युवक की मौत चिंता का विषय है। 

परिजनों की मांग थी कि आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया जाए। पुलिस ने यह बात मान ली है। साथ में आयोग ने डीसी और एसपी से 26 तक दिल्ली स्थित कार्यालय में रिपोर्ट तलब की है। इसके अलावा परिजनों को पुलिस की सुरक्षा दी गई है। मामला शात होने तक पुलिस की एक जिप्सी पीड़ित के घर के पास रहेगी। -ईश्वर सिंह, सदस्य, राष्ट्रीय अनुसूचित आयोग

पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। मामले की पूरी जांच के बाद ही आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा। क्योंकि यह मामला एक जांच का विषय है। -अभिषेक गर्ग, एसपी, सोनीपत 

पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर टिका पूरा केस

गोविंदा की मौत हत्या है या आत्महत्या, इसका खुलासा शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हो सकता है। रिपोर्ट से साफ पता लग सकता है कि किशोर को हत्या के बाद फंदे पर लटकाया गया या उसने स्वयं जान दी है। इसके बावजूद पुलिस अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट को उजागर नहीं कर रही है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पीजीआई रोहतक से पूरी रिपोर्ट मिलने के बाद उसे एससी-एसटी आयोग के सामने रखा जाएगा। यहीं कारण है कि पुलिस रिपोर्ट से पहले आरोपी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी नहीं कर रही है।

 एन डी टीवी

पुलिस ने लिया जितेंद्र की पत्‍नी का बयान, सीलबंद सीबीआई को सौंपा जाएगा : सूत्र

http://khabar.ndtv.com/news/india/faridabad-police-registered-statement-of-jitendras-wife-1235866

 फरीदाबाद: सुनपेड़ गांव में दलितों को जलाए जाने के मामले में एक नया ख़ुलासा हुआ है। सूत्रों के हवाले से ख़बर आ रही है कि फ़रीदाबाद पुलिस ने दलित परिवार के मुखिया जितेंद्र की पत्नी रेखा का बयान लिया है, जिसमें उसने एफ़आईआर में लिखी बातों की तस्दीक की है।

उसने कहा है कि कुछ लोग बाहर से आए और उन्होंने पेट्रोल डालकर उनके घर में आग लगा दी। हालांकि जब उससे हमला करने वालों के बारे में पूछा गया तो उसने कहा कि इसकी जानकारी उसके पति को होगी। पुलिस ने इस बयान को सील बंद कर दिया है और ये अब सीबीआई को सौंपी जाएगी।

बता दें कि कथित तौर पर उच्च जाति के लोगों ने दलितों के घरों में आग लगा दी थी, जिसमें ढाई साल के वैभव और 11 महीने की दिव्या की मौत हो गई थी। बच्चों की 28 वर्षीय मां भी 70 फीसदी जली हुई हालत में जिंदगी की जंग लड़ रही है। बच्चों के पिता भी कई जगह से झुलसे हुए हैं।

इस हृदयविदारक घटना के बाद प्रदर्शन और राजनीति का दौर खूब चला। आखिरकार परिवार दोनों बच्चों के अंतिम संस्कार के लिए तैयार हो गए और बुधवार शाम बच्चों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस मामले की जांच अब सीबीआई को सौंप दी गई है।

News Monitored by Kuldeep Chandan

& Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s