दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 06.10.15

महिला की मौत पर बवाल, पथराव – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/muzaffarnagar/muzaffarnagar-crime-news/woman-s-death-organically-stones-hindi-news/

बालिका के अपहरण में एक गिरफ्तार – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/ambedkar-nagar/ambedkar-nagar-crime-news/one-arrested-in-child-abduction-hindi-news/

वोट देने से मना करने पर दलित महिला को पीटा – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/shahjahanpur/shahjahanpur-crime-news/dalit-woman-beaten-for-refusing-to-vote-deene-hindi-news/

यूपी में अब दलितों और दबे-कुचलों के लिए बनेंगे अलग पुलिस थाने – एनडी टी वि

http://khabar.ndtv.com/news/india/special-police-station-for-dalits-underprivileged-in-up-1226230

दलित विद्यार्थीयों से ली जा रही फीसों का किया विरोध – पंजाब केसरी

http://punjab.punjabkesari.in/firozepur/news/article-401767

आरएसएस मुक्त भारतलिए पूर्व जजों ने निकाली रैली – हस्तक्षेप

http://www.hastakshep.com/hindi-news/nation/2015/10/05/stand-together-for-an-rss-free-indiaex-judges-hold-rally-urge-for-unity-against-fascist-govt

Please Watch:

Cobrapost-Gulail Operation Juliet, Part 1

https://www.youtube.com/watch?v=sxu4HPpYGNs

Save Dalit Foundation:

Educate, agitate & organize! – Dr. Ambedkar.

Let us all educates to agitate & Organize to Save Dalit Foundation !         

Please sign petition for EVALUATION of DF by click this link : https://t.co/WXxFdysoJK

अमर उजाला

महिला की मौत पर बवाल, पथराव

http://www.amarujala.com/news/city/muzaffarnagar/muzaffarnagar-crime-news/woman-s-death-organically-stones-hindi-news/

मुजफ्फरनगर। अल्पसंख्यक समुदाय के युवक से निकाह कर बरसों से रही दलित महिला की खेड़ी फिरोजाबाद में मौत पर बवाल हो गया। मायके पक्ष ने हत्या का आरोप लगाया। इस पर पुलिस ने दफनाने जा रहे लोगों से शव कब्जे में लेने की कोशिश की।

गुस्साई भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया और पुलिस खदेड़ दी। पुलिस दोनों पक्षों से बात कर मामला शांत करने में जुटी हुई है। 

शहर के रामलीला टिल्ला मोहल्ले में कृष्णपाल दलित का परिवार रहता है। उनकी बेटी रेखा का करीब दस साल पहले ककरौली थानाक्षेत्र के गांव खेड़ी फिरोजाबाद निवासी आलम से प्रेम प्रसंग हो गया था। परिजनों के विरोध के बावजूद रेखा ने आलम से प्रेम विवाह कर लिया था।

रेखा ने अपना नाम बदलकर इलमा रख लिया था। दोनों पति पत्नी के रूप में खेड़ी फिरोजाबाद में रह रहे थे। आलम काम सीखकर झोलाछाप डॉक्टर बन गया था। इलमा और आलम मिलकर जौली में क्लीनिक चलाने लगे थे। इलमा के तीन बच्चे थे और फिलहाल वह आठ माह के गर्भ से थी।

सोमवार की सुबह इलमा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। परिजन और अल्पसंख्यक समुदाय के लोग शव को दफनाने की तैयारी कर रहे थे। महिला की मौत की जानकारी पर कृष्णपाल ने पुलिस को सूचना दे दी। ससुराल पक्ष पर इलमा की हत्या का आरोप लगाया। 

कृष्णपाल और उसके परिवार के साथ पुलिस मौके पर पहुंची। पोस्टमार्टम कराने के लिए शव को कब्जे में लेने की बात कही। इस पर अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों की भीड़ भड़क गई। शव देने से इंकार कर दिया।

कृष्णपाल समेत पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। पुलिस और दलित समुदाय के लोग बमुकिश्कल जान बचाकर लौटे। बाद में सीओ सूक्ष्म प्रकाश और थाना प्रभारी योगेश शर्मा गांव के गणमान्य लोगों से बात करने के बाद गांव पहुंचे। कृष्णपाल का कहना था कि बेटी की हत्या की गई है। पुलिस दोनों पक्षों से बातचीत कर मामला शांत करने में जुटी है। 

अमर उजाला

बालिका के अपहरण में एक गिरफ्तार

http://www.amarujala.com/news/city/ambedkar-nagar/ambedkar-nagar-crime-news/one-arrested-in-child-abduction-hindi-news/

कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में बीते 15 अप्रैल को काम करने के बहाने घर बुलाकर दलित बालिका को सुभाष यादव निवासी गौरा गूजर व प्रदीप यादव निवासी मुरहवा थाना जलालपुर बहलाकर भगा ले गए थे। बालिका के पिता ने कोतवाली पहुंचकर केस दर्ज करने के लिए तहरीर दी थी। काफी भागदौड़ के बाद भी जब केस नहीं दर्ज हुआ, तो पीड़ित ने इसकी शिकायत सीओ राघवेंद्र मिश्र से की।

सीओ ने मामले की गंभीरता को देखते हुए एसओ को केस दर्ज करके आरोपियों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। पुलिस कई दिन से आरोपियों की तलाश में उनके संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही थी। आखिरकार सोमवार को सफलता मिल गई। प्रभारी एसओ विजय सिंह ने बताया कि एक आरोपी प्रदीप को गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश करके जेल भेज दिया है जबकि दूसरे आरोपी की तलाश में दबिश दी जा रही है। जल्द ही उसे भी गिरफ्तार करके जेल भेजा जाएगा। 

अमर उजाला

वोट देने से मना करने पर दलित महिला को पीटा

http://www.amarujala.com/news/city/shahjahanpur/shahjahanpur-crime-news/dalit-woman-beaten-for-refusing-to-vote-deene-hindi-news/

चुनाव में वोट देने से मना करने पर प्रधान ने दलित महिला की पिटाई कर दी। बचाने आए उसके पति को भी हमलावर ने पीट दिया। पीड़िता की शिकायत पर डीएम ने सीओ तिलहर को जांच के आदेश दिए हैं।

थाना तिलहर क्षेत्र के गांव राई खुरदे में रहने वाले सोनपाल धानुक की पत्नी नन्ही देवी ने डीएम को दिए पत्र में बताया कि गांव के प्रधान के इस बार दोबारा चुनाव लड़ रहे हैं। रविवार की सुबह प्रधान उसके घर पर आए और वोट मांगने लगे। नन्हीं ने कहा कि वह इस बाद दूसरे प्रत्याशी को वोट देगी। इससे नाराज प्रधान ने उसकी पिटाई कर दी। बचाने आए उसके पति को भी प्रधान ने पीट दिया। आरोप है कि प्रधान ने जाति सूचक गाली देते हुए कहा कि अगर उन्हें वोट नहीं दिया तो झोपड़ी में आग देंगे। आरोपी पीड़िता को धमकी देते हुए चला गया। पीड़िता की शिकायत पर डीएम ने सीओ तिलहर को जांच कर उचित कार्रवाई के निदेश दिए हैं।

एनडी टी वि

यूपी में अब दलितों और दबे-कुचलों के लिए बनेंगे अलग पुलिस थाने

http://khabar.ndtv.com/news/india/special-police-station-for-dalits-underprivileged-in-up-1226230

 लखनऊ: दलितों और जनजातीय लोगों के प्रति अपराधों के मामले में असन्तोषजनक रिकॉर्ड रखने वाले उत्तर प्रदेश में ऐसे लोगों के लिए अलग से थाने बनाने का प्रस्ताव सरकार के पास विचाराधीन है।

कई राज्यों में पहले से हैं ऐसे थाने

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ तथा आंध्र प्रदेश में दलितों तथा अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों के लिए विशेष थाने पहले ही मौजूद हैं और उत्तर प्रदेश सरकार हर जिले में कम से कम एक ऐसा थाना स्थापित करने पर विचार कर रही है।

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष पीएल पुनिया ने बताया ‘आयोग की पिछली समीक्षा बैठक में मैंने इन वर्ग विशेष के लिए अलग थाने बनाने का मुद्दा उठाया था। खासकर ऐसे जिलों में जहां अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों के खिलाफ अपराधों का ग्राफ सबसे ऊंचा है। इन जिलों में हरदोई और सीतापुर मुख्य हैं।’ उन्होंने बताया कि उस बैठक के बाद एक अनौपचारिक समिति गठित कर दी गई है, जो राज्य सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

पहले बड़े शहरों में बनाए जाएंगे विशेष थाने

पुलिस मुख्यालय के सूत्रों ने बताया कि पहले चरण में दलितों तथा अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों के लिए बड़े शहरों में विशेष थाने बनाए जाएंगे। उसके बाद बाकी जिलों में ऐसे थाने स्थापित किए जाएंगे। इनकी स्थापना पर होने वाला खर्च केंद्र तथा राज्य सरकारें मिलकर उठाएंगी। उन्होंने बताया कि इस परियोजना का खाका तैयार होने के बाद उसे गृह विभाग के प्रमुख सचिव के पास औपचारिक स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा।

पंजाब केसरी

दलित विद्यार्थीयों से ली जा रही फीसों का किया विरोध

http://punjab.punjabkesari.in/firozepur/news/article-401767

 फिरोजपुर: पंजाब स्टूडैंट्स यूनियन के नेतृत्व में आर.एस.डी. कालेज शहर के विद्यार्थियों का एक डैपुटेशन डी.सी. इंजीनियर डी.पी.एस. खरबंदा से मिला जिसने दलित विद्यार्थियों की मांगों और विद्यार्थियों से भरवाई जा रही फीसों के विरोध में मांग पत्र सौंंपा।

यूनियन के जोनल नेता अमरनाथ व अन्यों ने रोष मार्च करते अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी की। यूनियन के लीडरों ने कहा कि पंजाब में दलित विद्यार्थियो से भारी मात्रा में फीसें वसूली जा रही हैं, जबकि पोस्ट मैट्रिक स्कालरशिप स्कीम के तहत दलित विद्यार्थियों की पूरी फीस माफ है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार, लोक भलाई विभाग और कालेज मैनेजमैंट मिल कर दलित विद्यार्थियों से फीसें वसूल कर विद्यार्थियो का आॢथक शोषण कर रहे हैं।

उन्होंने आरोप लगाते कहा कि यहां सब कुछ सरकार की निजीकरण नीति के तहत किया जा रहा है जिसके तहत सरकारी कालेजों में एस.सी./एस.टी. विद्यार्थियों से फीसें वसूल कर उन्हें कालेजों में से बाहर निकालने और सरकारी स्कूलों, कालेजों को निजी हाथों में देने की साजिश रची जा रही है। 

विद्यार्थियों ने कहा कि आज जब पंजाब में दलित मजदूरों के करने के लिए काम नहीं रह गया है तो इस स्थिति में इससे संबंधित दलित विद्यार्थी इतनी भारी फीसें भर कर किस तरह शिक्षा हासिल कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र व पंजाब की सरकारें दलितों से शिक्षा का अधिकार छीनना चाहती हैं।

विद्यार्थियों ने चेतावनी देते कहा कि अगर लोक भलाई विभाग और पंजाब सरकार ने अगस्त 2015 का फैसला वापस नहीं लिया तो पंजाब स्तर पर संघर्ष करने काल दी जाएगी। इस अवसर पर देसा, सुखदेव और बलदेव आदि भी उपस्थित थे। 

हस्तक्षेप

आरएसएस मुक्त भारतलिए पूर्व जजों ने निकाली रैली

http://www.hastakshep.com/hindi-news/nation/2015/10/05/stand-together-for-an-rss-free-indiaex-judges-hold-rally-urge-for-unity-against-fascist-govt

नई दिल्ली। ‘फासीवादी’ सरकार के खिलाफ एकता के लिए आग्रह करते हुए “आरएसएस मुक्त भारत” के लिए पुणे में पूर्व जजों ने एक रैली का आयोजन किया।

अल्पसंख्यक समुदाय व दलितों के प्रति वर्तमान सरकार के दमनात्मक रवैये की आलोचना करते हुए उच्च न्यायलय के अवकाश प्राप्त न्यायाधीश बीजी खोसले पाटिल, जिन्होंने सर्वोच्च न्यायालय के अवकाश प्राप्त न्यायाधीश जस्टिस पी.बी. सावंत के साथ देश बचाओ अगाढ़ी (Desh Bachao Aghadi) बनाया है, ने सरकार पर कट्टरपंथी भगवा संगठनों के इशारे पर काम करने का आरोप लगाते हुए  ‘आरएसएस मुक्त भारत‘ अभियान की शुरूआत की।

देश बचाओ अगाढ़ी के नेतृत्व में महाराष्ट्र के कोने-कोने से अनेक अल्पसंख्यक व दलित संगठनों ने रविवार को शनिवारवाड़ा में आयोजित रैली में शिरकत की।

कोकाटे ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को एक आतंकवादी संगठन करार दिया, वे केंद्र सरकार पर जमकर बरसे। उन्होंने केंद्र और राज्य सरकारों की आलोचना की व सरकार को अफसरों को “फासिस्ट” कहा।

कोकाटे ने कहा कि यदि हम इस देश में इंसानियत की रक्षा करना चाहते हैं, तो हमें दलित-मुस्लिम व आदिवासियों को एक साथ लाना होगा। मानवता तभी जीवित रह सकती है। कोकाटे ने नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को हत्यारा बताया।

जस्टिस पी. बी. सावंत ने कहा कि देश में लोकतंत्र के मूल्यों को कुचला जा रहा है।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s