दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 29.09.15

बिहार : मुंगेर में दो दलित व्यक्तियों की पीट-पीट कर हत्या – प्रभात खबर

http://www.prabhatkhabar.com/news/monghyr/bihar-two-dalit-men-beaten-to-death-in-munger/545073.html

गर्भवती महिला की मौत, हॉस्पिटल में पिटे परिजन – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/allahabad/allahabad-crime-news/crime-news-hindi-news-442/

BJYM के नेता ने दलित प्रोफेसर को बेरहमी से पीटा – बीइंग दलित

http://www.beingdalit.com/2015/09/bjym-ke-neta-ne-dalit-professor-ko-peeta.html#.Vgotulb3My4

घर के बाहर सो रही दलित किशोरी से रेप न्यूज़ 18

http://hindi.news18.com/news/uttar-pradesh/dalit-girl-raped-in-fatehpur-uttar-pradesh-805844.html

अंधआस्था: बेटी को मार ही डालते वे – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/agra/beti-hindi-news-1/

अनुसूचित जाति जन-जाति के छात्रों को दी जाने वाली छात्रवृति – प्रेस नोट

http://www.pressnote.in/jasilmer-news-_289007.html

Save Dalit Foundation:

Educate, agitate & organize! – Dr. Ambedkar.

Let us all educates to agitate & Organize to Save Dalit Foundation !         

Please sign petition for EVALUATION of DF by click this link : https://t.co/WXxFdysoJK

प्रभात खबर

बिहार : मुंगेर में दो दलित व्यक्तियों की पीट-पीट कर हत्या

http://www.prabhatkhabar.com/news/monghyr/bihar-two-dalit-men-beaten-to-death-in-munger/545073.html

मुंगेर : बिहार के मुंगेर जिले में दो दलित व्यक्तियों को एक समूह ने पीट-पीट कर कथित तौर पर मार डाला. घटना मुंगेर जिले के एक गांव की हैं. पुलिस उपाधीक्षक ललित मोहन शर्मा ने कहा कि घटना रविवार की रात पचरुखी गांव में हुई. जहां अनिल पासी और सेठो पासी नामक दो व्यक्तियों को कुछ लोगों ने कथित तौर पर इतनी बेरहमी से मारा कि उनकी मौत हो गयी.

उन्होंने कहा कि हमलावरों ने गुस्से में धारदार हथियार से पीडितों के गले भी काट दिये थे. शर्मा ने बताया कि शवों को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया है. इस संबंध में मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है. उप पुलिस अधीक्षक ने कहा कि हत्या के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है.

अमर उजाला

गर्भवती महिला की मौत, हॉस्पिटल में पिटे परिजन

http://www.amarujala.com/news/city/allahabad/allahabad-crime-news/crime-news-hindi-news-442/

इलाज के दौरान गर्भवती महिला की मौत के बाद सोमवार को बाई का बाग स्थित जीवन ज्योति हॉस्पिटल में भारी बवाल हुआ। मौत से आक्रोशित परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया तो डॉक्टरों और कर्मचारियों ने उनकी जमकर पिटाई कर दी। हमले में दो महिलाओं समेत पांच परिजन घायल हुए तो गुस्साए लोगों ने अस्पताल में तोड़फोड़ कर दी। मृत महिला के पति को बंधक बनाया गया तो परिजनों ने हॉस्पिटल के बाहर धरना देकर डॉक्टरों की गिरफ्तारी की मांग रख दी। पुलिस ने पति को अस्पताल कर्मियों से छुड़ाया तो परिजनों ने एफआईआर लिखकर डॉक्टर की गिरफ्तारी की मांग करते हुए कीडगंज थाने का घेराव किया। पुलिस ने एफआईआर लिख शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज परिजनों को शांत कराया।

कालिंदीपुरम कॉलोनी की ईडब्लूएस स्कीम में रहने वाले अरुण रंजन का ब्याह मई 2014 में मेजा रोड निवासी केके वर्मा की बेटी अलीशा उर्फ शालू (27) से हुआ था। शालू अभी गर्भवती थी। अब उसके प्रसव का समय आ गया था। इसी बीच उसकी तबीयत बिगड़ी तो 26 सितंबर को उसे जीवन ज्योति हॉस्पिटल में भर्ती किया गया। डॉक्टरों ने बताया था कि उसे मलेरिया और पीलिया है। रविवार रात डॉक्टरों ने शालू के  खून में हीमोग्लोबिन बहुत कम होने की बात कहते हुए प्लाज्मा और प्लेटलेट्स लाने के लिए कहा, लेकिन परिजनों को काफी कोशिश के बावजूद मिला नहीं। सोमवार सुबह पांच यूनिट प्लेटलेट्स का इंतजाम हुआ, लेकिन इसी बीच शालू ने दम तोड़ दिया। आरोप है कि पहले मलेरिया-पीलिया कहने वाले डॉक्टर शालू की मौत के बाद उसे डेंगू होने की बात कहने लगे।

इलाज में लापरवाही की बात कहने पर पति समेत परिजनों को पीटा गया। कर्मचारियों-डॉक्टरों के अलावा बाहरी गुंडों को भी बुलाकर परिजनों पर रॉ़ड से हमला किया गया। हमले में सोनू देवी, कलावती, तिलक कुमार, विनोद कुमार, अनिकेत घायल हो गए। खबर पाकर जुटे रिश्तेदारों ने भी हॉस्पिटल में तोड़फोड़ कर दी। हॉस्पिटल में हंगामा बढ़ने पर कीडगंज थाना पुलिस पहुंची। इस बीच परिवार के लोगों ने हमलावर डॉक्टरों-कर्मचारियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए बाहर धरना दे दिया। पुुलिस ने किसी तरह उन्हें मनाया तो लोगों ने डॉ.एके बंसल के खिलाफ मुकदमा और गिरफ्तारी के लिए थाने का घेराव कर लिया। आखिर में पति अरुण से तहरीर लेकर पुलिस ने हॉस्पिटल के निदेशक डॉ.बंसल समेत कई डॉक्टरों-कर्मचारियों के खिलाफ इलाज में लापरवाही से मौत, मारपीट, गालीगलौज और दलित उत्पीड़न का केस लिखकर शालू का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। थानाध्यक्ष उमेश कुमार ने बताया कि रिपोर्ट लिखकर छानबीन शुरू की गई है। सीओ दुर्गा प्रसाद तिवारी ने बताया कि दलित उत्पीड़न समेत गंभीर धाराओं में केस लिखकर पुलिस जांच कर रही है। तथ्यों के आधार पर कार्रवाई होगी।

बीइंग दलित

BJYM के नेता ने दलित प्रोफेसर को बेरहमी से पीटा

http://www.beingdalit.com/2015/09/bjym-ke-neta-ne-dalit-professor-ko-peeta.html#.Vgotulb3My4

BJP के युवा शाखा के नेता ने नागपुर में एक दलित प्रोफेसर को बुरी तरह पीटने तथा उसकी गाडियों को जलाने का मामला सामने आया हैं। सुमित ठाकुर नाम के एक भारतीय जनता युवा मोर्चा के वाइस प्रेसिडेंट ने दलित प्रोफेसर की बुरी तरह पिटाई की हैं। मल्हार माकसेजो की एक स्थानीय कॉलेज में प्रोफेसर हैं को पिछले 10 दिन में सुमित ठाकुर ने 2 बार पीटा हैं तथा उसके 3 वाहनो को जला दिया।

पहली बार सुमित ठाकुर ने प्रोफेसर पर 16 सितम्बर को हमला किया। हुआ यू था के 16 सितम्बर को प्रोफेसर का वहां अपने घर के सामने खड़ा हुआ था और सुमित ठाकुर अपने वाहन में आया और उसे टक्कर मार दी। उसके वाद वह और उसके साथी उल्टा प्रोफेसर से ही हर्जाना मांगने लगे जबकि इसमें प्रोफेसर की कोई गलती नहीं थी। पैसे देने से मन करने पर सुमित ठाकुर ने प्रोफेसर को पीटना सुरु कर दिया और उसी बोलेरो और मोटर साइकिल को आग लगा दी।

जब माकसे मामले की पुलिस कम्प्लेन दर्ज़ करवाने गया तो उस पर ऐसा ना करने का दबाब डाला गया। सुमित ठाकुर अपने 50 से भी अधिक आदमियो के साथ आया और थाने में ही वबाल मचा दिया। प्रोफेसर 2 दिन तक मामले की रिपोर्ट भी थाने में नहीं लिखवा पाया क्योंकि ठाकुर उसे लगातार फ़ोन पर धमकिया दे रहा था। 

ठाकुर फिर से एकबार 18 सितम्बर को अपने आदमियो के साथ आया और मासके की एक और गाडी को जला  दिया और फिरसे प्रोफेसर को पीटना शुरू कर दिया। पुलिस ने SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज करके आरोपी की तलाश सुरु करदी हैं जोकि अभी फरार हैं।

न्यूज़ 18

घर के बाहर सो रही दलित किशोरी से रेप

http://hindi.news18.com/news/uttar-pradesh/dalit-girl-raped-in-fatehpur-uttar-pradesh-805844.html

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर कस्बे में अपने घर के बाहर सो रही 15 वर्षीय एक दलित किशोरी के साथ पड़ोस में रहने वाले एक युवक ने रेप किया. चीख-पुकार सुनकर जुटे मोहल्ले वालों ने युवक की जमकर पिटाई की और बाद में पुलिस के हवाले कर दिया.

पुलिस के अनुसार, शहर क्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी दलित राजकिशोर की पुत्री गीता (दोनों का ल्पनिक नाम) अपने परिवार के साथ घर के बाहर सो रही थी, तभी पड़ोस में रहने वाला एक युवक आधी रात में आया और किशोरी का मुंह दबाकर उसे पास के बाग में ले गया और वहां उसके साथ रेप किया.

चीख-पुकार सुनकर परिजन और आस-पास के लोग बाग में पहुंचे.लोगों को देखकर रेप करने वाला भागने लगा. तभी लोगों ने उसे पकड़ लिया और पिटाई करने के बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया.

कोतवाली प्रभारी आर. के. पाण्डेय ने बताया कि आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है.

अमर उजाला

अंधआस्था: बेटी को मार ही डालते वे

http://www.amarujala.com/news/city/agra/beti-hindi-news-1/

एक ओर ‘डिजिटल इंडिया’ का सपना है, तो दूसरी तरफ अंधविश्वास के मेले भी कम नहीं। ऐसा ही एक मेला सोमवार को पिनाहट के दलित बहुल गांव अमरसिंह पुरा में लगा। 15 साल की नीरू को देवी रूप बताकर सुबह पांच बजे जलसमाधि देने की तैयारी थी। ऐन वक्त पर पुलिस के आने से उसकी जान बची। इसी अंधविश्वास के अभिशाप में वह आठ सालों से एक छोटे से मंदिर का कैदी बनी हुई है।

वर्ष 2002 में आई फिल्म प्रथा की पटकथा अमरसिंह पुर में रीयल लाइफ में उतारी जा रही है। पूर्व माध्यमिक  विद्यालय से सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक हरी सिंह (64) की सात बेटियों और दो बेटों में पांचवें नंबर की नीरू को सोमवार सुबह पांच बजे गंगाजल और दूध से नहलाया गया। लाल जोड़ा पहनाकर शृंगार किया गया। पूजा-अर्चना के बाद गांव के तालाब में उसे जल समाधि देने की तैयारी हो ही रही थी कि सूचना पाकर पिनाहट थाने की पुलिस आ गई।

पुलिस ने नीरू को फिर से मंदिर पहुंचवाया। हरी सिंह का कहना है कि सात दिन पहले नीरू ने उन्हें बताया कि देवी ने सपने में आकर उससे ऐसा करने को कहा है। उसने 12 साल पहले बारिश के लिए गांव की चार लड़कियों के साथ ‘तप’ किया था। दो साल बाद फिर से ‘तप’ पर बैठी। बैठे-बैठे पैर खराब हो जाने से वह तब से खड़ी नहीं पाती। उसके कहने पर पांच साल पहले गांववालों की मदद से मंदिर बनवाया गया। वह वहीं देवी की मूर्ति के साथ ही रहती है।

नोटों का ढेर लगा

नीरू के जलसमाधि का पता चलने पर आसपास के गांवों से हजारों लोग दर्शन करने पहुंचे। उन्होंने चढ़ावे से मंदिर में नोटों का ढेर लग गया। बाहर प्रसाद बेचने के ठेले भी लग गए।

पुलिस ने दिया नोटिस

पुलिस ने हरी सिंह को नोटिस भेजा है कि क्यों न उनके खिलाफ अंधविश्वास में बेटी का बचपन छीनने और उसे जलसमाधि (आत्महत्या) के लिए उकसाने का केस दर्ज किया जाए?

चमत्कार की आस में अंधविश्वास का मेला

पिनाहट। गांव अमरसिंह पुरा स्थित मंदिर में देवी बनाकर बैठाई गई नीरू भूखी-प्यासी और गुमसुम है। बाहर उसके पिता हरी सिंह देवी की महिमा का बखान कर रहे हैं। आंखों पर अंधविश्वास की पट्टी बांधे दूर-दूर से परेशानियां लेकर आए लोग देवीकृपा पाने के उपाय पूछ रहे हैं। किसी को बेटा चाहिए तो किसी को नौकरी। 

विप्रावली गांव से महिलाओं की टोली नंगे पांव आई है। नया बांस से बुजुर्ग ट्रैक्टर ट्रॉली में आए हैं। पडुआ पुरा और देवगढ़ वाले सुबह से डेरा डाले हैं। सब को मैया से बात करनी है। पर मैया तो मौन हैं। नीरू कुछ बोलती नहीं। सुबह जब जलसमाधि से पुलिस ने रोका तो हरी सिंह ने बताया कि शाम को मैया बोलेगी। बस इसी इंतजार में हजारों लोग डटे रहे। सुबह से दोपहर हो गई। दोपहर से शाम। ‘आज मैया बोली तो गांव खुशहाल हो जाएगो, टैम पे बारिश होएगी, कोई बीमार न पड़ैगो, कोई बेऔलाद न रहैगो…।’ अब शाम के पांच बज गए हैं। दस साल से खामोश बताई जा रही नीरू ने मीडिया के सवालों का जवाब देने के लिए मुंह खोल दिया है।

बस फिर क्या है, गूूूंज उठे जयकारे। एक बोला देवी मैया की जय, दूसरे ने दोहराया और शुरू हो गया भजन कीर्तन। बीच का पुरा गांव से आए पांच-छह युवा कह रहे हैं, बोलो नीरू मैया की जय और महिलाएं ताली बजा रही हैं। भीड़ बढ़ी है, तो मेला लग गया है। चाट वाले भी आ गए हैं, प्रसाद के ठेले भी लग गए हैं, गुब्बारे भी बिकने लगे हैं।

प्रेस नोट

अनुसूचित जाति जन-जाति के छात्रों को दी जाने वाली छात्रवृति

http://www.pressnote.in/jasilmer-news-_289007.html

बाडमेर , राजकीय महाविद्यालय बाडमेर के छात्रों ने सोमवार को छात्रनेता गणेशराज मेघवाल के नेतृत्व में समाज कल्याण विभाग द्वारा देय अनुसूचित जाति जन-जाति के छात्रों को दी जाने वाली छात्रवृति गत वर्ष सत्र २०१४-१५ की आज तक विद्यार्थियों को मिल नहीं पाई हैं। छात्रनेता गणेशराज मेघवाल ने छात्रवृति के मुद्दे को प्रचार्या के सामने रखते हुए कहा कि सत्र समाप्त होने पर भी छात्रों को समय पर छात्रवृति नहीं मिलने से विद्यार्थीयों को पाठ्य सामग्री लाने में भारी समस्याओं का सामना करना पड रहा है। छात्रसंघ उपाध्यक्ष सुरेश कागा ने बताया कि कई बार महाविद्यालय प्रशासन को अवगत कराया गया लेकिन समाधान नहीं हो पाया है। छानेता थानाराम लोहिया ने कहा विद्यार्थीयों में भारी रोष है अगर समय रहते समाधान नहीं हुआ तो विरोध प्रदर्शन करते हुए कॉलेज बंद करवाऐंगें। जवाब में प्राचार्या विमला आर्य ने आश्वासन दिया कि जल्द ही समाधान किया जाएगा। इस दौरान पूर्व छात्रसंघ उपाध्यक्ष तोगाराम मेघवाल, संतोष जयपाल, कानाराम बारूपाल, कमलेश कुमार, भागीरथ राठौड, प्रेम पंवार, नितिश जयपाल, दिनेश परमार सहित कई छात्र उपस्थित रहे।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s