दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 08.09.15

एमपी में BSP के दलित कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या न्यूज़ 18

http://hindi.news18.com/news/madhya-pradesh/bsp-activist-murdered-his-family-living-in-fear-696125.html

तमंचे की नोक पर नाबालिग से दुराचार, नहीं दर्ज हुई शिकायत – पर्दाफ़ास

http://hindi.pardaphash.com/news/–785445/785445.html#.Ve5PcrOqqko

कक्षा नौ की छात्रा है दुष्कर्म पीड़िता – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/shahjahanpur-12853919.html

गुजरात में दलित महिलाओं के साथ रेप 5 गुणा बढ़े – राष्ट्रिया खबर

https://rashtriyakhabar.com/gu-dalit-women-in-three-years-with-a-5-fold-increase-in-rape/1265/

कोर्ट का आदेश, गैंगरेप की रिपोर्ट दर्ज करो – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/news/national-court-order-register-the-complaint-of-gang-rape-12855396.html

अस्पताल में दवा, फिर भी महिला की मौत – नई दुनिया

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/narsimhapur-narsinghpur-news-468850

ग्रामीणों ने लगाया डीलर पर मनमानी का आरोप – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/bihar/araria-12852707.html

Please Watch :

White Supremacy and Black History:Dr.Leonard Jeffries…

https://www.youtube.com/watch?t=100&v=zny2HNyEX50

Save Dalit Foundation:

Educate, agitate & organize! – Dr. Ambedkar.

Let us all educates to agitate & Organize to Save Dalit Foundation !

Please sign petition by click this link : https://t.co/WXxFdysoJK

न्यूज़ 18

एमपी में BSP के दलित कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या

http://hindi.news18.com/news/madhya-pradesh/bsp-activist-murdered-his-family-living-in-fear-696125.html

मुरैना में बहुजन समाज पार्टी के एक दलित कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है. मृतक राजनीतिक कार्यकर्ता होने के साथ ही फोटोग्राफर भी था.

मामला जिले के पोरसा कस्बे की है. यहां अंगद सखवार रविवार रात को अपना फोटो स्टूडियो बंद कर घर लौट रहा था. इसी दौरान बाइक सवार दो अज्ञात बदमाशों ने अंगद को गोली मार दी. गोली लगने से गंभीर रुप से घायल अंगद को इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया. वहां डॉक्टरों ने अंगद को मृत घोषित कर दिया.

घटना के बाद अंगद का परिवार बेहद खौफजदा है. परिवार को आशंका सता रही है कि इस तरह का हमला उन पर दोबारा हो सकता है. हालांकि, प्रारंभिक जांच में उन्होंने किसी से दुश्मनी होने की बात नहीं कही है. परिजनों ने अब तक किसी पर शक भी जाहिर नहीं किया है.

वहीं अंगद के बसपा से जुड़े होने की वजह से मामले ने राजनीतिक रंग भी ले लिया है. मौके पर पहुंचे बसपा नेता का कहना है कि जिले में कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है. बीते एक महीने में ही आधा दर्जन से अधिक हत्याएं हो चुकी हैं. पीड़ित परिवार पर अभी भी हमले का खतरा है. ऐसे में बसपा नेताओं ने पीड़ित परिवार की सुरक्षा को लेकर एएसपी रघुवंश सिंह को ज्ञापन सौंपा. एएसपी ने परिवार को सुरक्षा मुहैया करवाने का आश्वासन दिया है.

फिलहाल पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया है. साथ ही अज्ञात युवकों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी गई है.

पर्दाफ़ास

तमंचे की नोक पर नाबालिग से दुराचार, नहीं दर्ज हुई शिकायत

http://hindi.pardaphash.com/news/–785445/785445.html#.Ve5PcrOqqko

लखनऊ। राजधानी के माल इलाके में सोमवार को एक युवक ने नाबालिग लड़की से तमंंचे के बल पर रेप किया और जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गया। आरोप है कि जब पीड़िता के परिजन मामले की शिकायत करने थाने पहुंचे तो सिपाही ने उनसे तहरीर बदलने का दबाव बनाया। अभी तक मामले में शिकायत दर्ज नहीं की गयी है। एसओ से जब मामले को लेकर सवाल पूछा तो उन्होंने बाहर होने की बात कहकर थाने पहुंचकर कार्रवाई की बात की है। 

मिली जानकारी के मुताबिक़ माल थाना क्षेत्र के एक गांव में दलित किसान पत्नी व नाबालिग बेटी के साथ रहता है।

बताया जाता है कि सोमवार सुबह करीब नौ बजे किशोरी शौच के लिए निकली थी। तभी गांव के दबंग युवक ने किशोरी को सूनसान रास्ते में दबोच लिया और तमंचे के बल पर उसे खेतों में लेकर गया। जहां जबरन उसके साथ दुराचार किया। पीड़िता के मुताबिक़ इसके बाद वह किसी तरह से घर पहुंची और परिजनों को आपबीती सुनाई। इस पर परिजन आरोपी युवक के घर पहुंचे तो वहां से उन्हें धमका कर भगा दिया गया। 

पीड़ित परिवार का आरोप है कि जब वह मामले की शिकायत लेकर थाने पहुंचे तो रसूखदार सिपाही श्याम नारायण यादव उल्टा पीड़ित परिवार पर दबाव बनाने लगा। यहां तक तहरीर बदलने का भी दबाव डाला। वहीं इस बाबत एसओ माल का कहना है कि घटना उनकी जानकारी में आई है। वह लखनऊ ड्यूटी पर थे। उन्होंने कहा कि थाने पहुंचते ही मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी।

दैनिक जागरण

कक्षा नौ की छात्रा है दुष्कर्म पीड़िता

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/shahjahanpur-12853919.html

बंडा (शाहजहांपुर) : बिहार प्रांत से अगवा दलित किशोरी को बंधक बनाकर दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने किशोरी का पंडित राम प्रसाद बिस्मिल संयुक्त जिला महिला अस्पताल में डॉक्टरी परीक्षण कराया है। पुलिस ने आरोपी दंपती राम¨सह व उनकी पत्नी संजू उर्फ तानछू का चालान कर दिया है। किशोरी के माता-पिता बंडा पहुंचे और खुलासा किया कि बेटी कक्षा नौ की छात्रा है।

बंडा थाना क्षेत्र के मुहल्ला गायत्री नगर निवासी राम¨सह की शादी बिहार के मोतीहार जिले के संजू से हुई थी। आरोप है कि एक माह पूर्व बिहार गए दंपती ने किशोरी को अगवा कर लिया था। बंडा में घर पहुंचे राम¨सह व उनकी पत्नी संजू ने किशोरी को बंधक बना लिया था। राम ¨सह व उसके परिचित किशोरी से दुष्कर्म करते रहे। राम¨सह ने किशोरी को देहव्यापार में धकेल दिया था। वह किशोरी से दुष्कर्म के एवज में लोगों से रुपये लेने लगा था। रविवार की सुबह किशोरी किसी तरह चंगुल से छूटकर गांव में पहुंच गयी। पुलिस ने दबिश देकर आरोपी राम ¨सह व उनकी पत्नी संजू को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने पीड़िता किशोरी की तहरीर पर दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली थी। पीड़िता के माता-पिता ने बताया कि पुत्री कक्षा नौ में पढ़ती है। वह 12 अगस्त को गांव से तीन किलोमीटर दूर स्कूल में पढ़ने के लिए गई थी,जहां से वह घर नहीं लौटी थी। 14 अगस्त को चनपटिया थाने में पुत्री के गायब होने की गुमशुदगी दर्ज करायी थी। बिहार की पुलिस ने काफी तलाश किया था। पुलिस ने दोनों आरोपियों का चालान कर दिया है।

राष्ट्रिया खबर

गुजरात में दलित महिलाओं के साथ रेप 5 गुणा बढ़े

https://rashtriyakhabar.com/gu-dalit-women-in-three-years-with-a-5-fold-increase-in-rape/1265/

अहमदाबाद: गुजरात में वर्ष 2001 से 2014 के बीच दलित महिलाओं से दुष्कर्म के मामलों में पांच गुना वृद्धि हुई है। इसमें ग्रामीण तथा आदिवासी क्षेत्रों के ऐसे मामले शामिल नहीं है जिनकी रिपोर्ट दर्ज नहीं करायी गयी है।

उत्तर गुजरात के महेसाणा निवासी मानवाधिकार कार्यकर्ता कौशिक परमार को सूचना का अधिकार कानून (आरटीआई) के तहत राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) कार्यालय से मुहैया करायी गयी जानकारी में कहा गया है कि वर्ष 2001 में दलित महिलाओं से दुष्कर्म के केवल 14 मामले दर्ज किये गये थे जबकि 2014 तक यह संख्या बढ कर 74 हो गयी।

डीजीपी कार्यालय से दी गयी सूचना में कहा गया है कि जनवरी 2001 से दिसंबर 2014 के बीच गुजरात में दुष्कर्म के कुल 501 मामले दर्ज कराये गये थे।

ज्ञातव्य है कि राज्य सरकार ने पिछले साल ही अहमदाबाद, सूरत और गांधीनगर की महिलाओं की सुरक्षा के लिए अभयम के नाम से पुलिस की विशेष हेल्पलाइन नंबर 181 की शुरूआत की थी। इस नंबर पर पिछले एक साल में इन तीन शहरों से करीब 17000 महिलाओं ने सहायता कॉल किये । मुख्यमंत्री श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने पिछले माह अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर इस सेवा को पूरे राज्य में विस्तारित करने की घोषणा की थी।

दैनिक जागरण

कोर्ट का आदेश, गैंगरेप की रिपोर्ट दर्ज करो

http://www.jagran.com/news/national-court-order-register-the-complaint-of-gang-rape-12855396.html

उत्तर प्रदेश में सांकरौद प्रकरण में सोमवार को नया मोड़ आ गया। जाट बिरादरी की युवती की याचिका पर सीजेएम की अदालत ने आरोपी युवक व उसके भाई दिल्ली पुलिस के सिपाही पर सामूहिक दुष्कर्म और दोनों बहनों व पिता पर धमकी देने के आरोप में मुकदमा कायम करने का आदेश दे दिया। अदालत के आदेश पर दलित परिवार में अफरा-तफरी मच गई।

पीडि़ता के अधिवक्ता अरुण कुमार राणा ने बताया कि सांकरौद गांव की युवती ने 27 अगस्त को सीजेएम की अदालत में याचिका दायर की थी, जिसमें उसने बताया कि उसके गांव का रवि बीती 10 अप्रैल को धोखे से नौकरी लगवाने के बहाने उसे दिल्ली ले गया और एक मकान में दस दिन तक बंधक बनाकर दुष्कर्म किया। आरोपी के भाई दिल्ली पुलिस में सिपाही सुमित कुमार ने भी उसके साथ दुष्कर्म किया। वह अपनी और परिवार की इज्जत की खातिर चुप रही, लेकिन उसके बाद आरोपियों की दो बहनें और पिता धर्मपाल भी फोन पर उसे और उसके परिवार को अंजाम भुगतने की धमकी देने लगे थे। उसने 22 अगस्त को एसपी को शिकायती पत्र दिया था, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की है।

 न्याय नहीं मिला तो संत समाज संभालेगा कमान

सांकरौद के प्रकरण में अब संत समाज भी आगे आ गया है। सोमवार शाम इंद्रप्रस्थ पीठाधीश्वर नई दिल्ली के ब्रह्मस्वरूपानंद महाराज, महामंडलेश्वर ब्रह्मचारी जयस्वरूप महाराज, बुढ़ाना कपूरगढ़ आश्रम के तेजस्वी शंकराचार्य, गढ़मुक्तेश्वर के ओमेश्वर स्वरूप महाराज, कैराना से जयस्वरूप महाराज व मेरठ से बाबा सीताराम आदि कई संत सांकरौद में पीडि़त युवती के घर पहुंचे और अब तक हुए घटनाक्रम की जानकारी ली। ब्रह्मचारी कृष्णस्वरूपानंद महाराज ने कहा, गांव वालों का काम है, वे धर्म की रक्षा करें। धर्म के अनुसार ही कार्य करें। कहा, पीडि़त परिवार की गरीबी उनको न्याय दिलाने में आड़े नहीं आनी चाहिए। गांव को सहयोग करना चाहिए। उन्होंने कहा, यदि पीडि़ता को न्याय नहीं मिलता है तो इसके लिए संत समाज आगे आएगा और न्याय दिलाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक देगा।

नई दुनिया

अस्पताल में दवा, फिर भी महिला की मौत

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/narsimhapur-narsinghpur-news-468850

करेली। नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सर्पदंश की शिकार एक दलित महिला की रविवार रात जहररोधी इंजेक्शन न लगने की वजह से मौत हो गई। इस मामले में अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि हमारे यहां इंजेक्शन नहीं था। वहीं स्टोर रूम में इंजेक्शन मौजूद था। परिजनों का आरोप है कि महिला को जीवित अवस्था में लाया गया था, जबकि डॉक्टर की मानें तो महिला मृत अवस्था में लाई गई थी। परिजनों ने स्टॉफ पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

लाख मिन्नतों के बाद नहीं दिया इंजेक्शन

समीपस्थ ग्राम गिधवानी निवासी गंगाराम जाटव की पत्नी बेटी बाई जाटव को रविवार रात्रि को सोते समय सांप ने काट दिया था। परिजन तुरंत महिला को करेली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र इलाज के लिए लेकर आएं। अस्पताल में महिला को डॉक्टर श्रीमती बेलिया ने देखा और अपने स्टॉफ को उसे वाटल लगाने के लिए कह दिया। परिजनों ने जब जहररोधी इंजेक्शन देने की बात कही तो उन्होंने अस्पताल में नहीं होने की बात कह दी। परिजनों की लाख मिन्नतों के बाद ही डॉक्टर सर्पदंश की पीड़ित महिला को जहररोधी इंजेक्शन नहीं लगाया। इसी बीच समय पर सही इलाज न मिलने के कारण महिला की मौत हो गई।

मरी हुई लाए, अस्पताल में नहीं थी दवा

जब इस संबंध में महिला डॉक्टर श्रीमती एस बेलिया से बात करनी चाही तो पहले उन्होंने कहा कि आप देख नहीं रहे इतनी भीड़ है। पहले मैं मरीज देख लूं। जब उनसे दोबारा पूछा तो उन्होंने कहा कि वह लोग तो महिला को मरी हुई लाये थे तो फिर कैसा इलाज और कैसा इंजेक्शन। अस्पताल में दवाई नहीं है। जबकि परिजनों ने बताया कि अस्पताल में बॉटल लगने के बाद ही महिला की मौत हुई है। डॉक्टर ने जब उसका चैकअप किया था तब उसकी सांस चल रही थी।

फ्रीजर में रखे थे 30 से अधिक इंजेक्शन

अस्पताल में सर्पदंश के इलाज का इंजेक्शन उपलब्ध नहीं होने की जब पड़ताल शुरू की तो पता चला कि प्रसूति वार्ड में रखे फ्रीजर में लगभग 12 इंजेक्शन रखे हुए हैं। इनकी एक्सपायरी डेट सितंबर 2015 है। वहीं स्टोर रूम में लगभग 20 इंजेक्शनों का पैकेट रखा पाया गया और जिसकी एक्सपायरी डेट 2019 है। पहले स्टॉक में 10 जून 2015 में 15 इंजेक्शनों का आना दर्शाया गया था। इन्हें 17 अगस्त में स्टाफ को सौंप दिया गया था। वहीं अस्पताल में दूसरा स्टाक 26 अगस्त 2015 में 20 इंजेक्शनों का आया जो स्टोर रूम में मौजूद है। इनका ब्यौरा रजिस्टर में भी दर्शाया गया है।

स्टाफ ने कहा, रखे हैं इंजेक्शन

अस्पताल में पदस्थ एक और डॉक्टर ने यह कहते हुए पर्दा डालने की कोशिश की कि शायद इंजेक्शन की एक्सपायरी डेट होने के कारण नहीं लगाया होगा। अस्पताल में मौजूद अन्य स्टॉफ ने स्पष्ट तौर से बताया कि अस्पताल में इंजेक्शन मौजूद है।

एक दूसरे पर थोप रहे जिम्मेदारी

स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ सीबीएमओ किसी प्रशिक्षण में गये हुए हैं। उन्होंने फोन में बताया कि मैने प्रभार डॉक्टर मधुसूदन उपाध्याय को दिया है। जब इस मामले पर उपाध्याय से बात की तो उन्होंने कहा प्रभार मेरे पास नहीं बल्कि डॉक्टर बेलिया के पास है। इस बीच उन्होंने सीबीएमओ का लिखित पत्र दिखाया जिसमें डॉक्टर बेलिया व डॉक्टर उपाध्याय को भी प्रभार सौंपना दर्शाया गया था। हालांकि दोनों डॉक्टरों ने प्रभार होने से साफ इंकार किया और सारी जवाबदेही सीबीएमओ पर डाल दी।

दैनिक जागरण

ग्रामीणों ने लगाया डीलर पर मनमानी का आरोप

http://www.jagran.com/bihar/araria-12852707.html

अररिया। प्रखंड के दर्जनों ग्रामीणों ने सोमवार को डीएम को आवेदन दे कर डीलर पर मनमानी का आरोप लगाया है। दिये गए आवेदन में ग्रामीण व जनता जागरूकता गठन के जिला अध्यक्ष मो. अली बाबा ने बताया कि डीलर दुजेन्द्र झा द्वारा राशन व किरासन के उठाव के बाद भी तीन माह का गेहूं चावल का वितरण नहीं किया गया है। ग्रामीणों द्वारा जब राशन की मांग की जाती है तो डीलर ग्रामीणों के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए फटकार कर भगा दिये जाने की बात भी कही गयी है।

यह भी कहा गया कि इससे पूर्व सभी लाभुकों को पाच किलो अनाज के बदले चार किलो तथा तीन लिटर किरासन तेल के बदले दो लीटर ही वितरण किया जाता था। यही नहीं लाभुकों से निर्धारित मूल्य से अधिक राशि वसूल करने का भी आरोप लगाया है। वहीं संगठन के अध्यक्ष अली बाबा ने बताया कि अधिक लाभुक दलित व महादलित समुदाय के है तथा अंगूठा छाप है। जनवितरण प्रणाली के दुकानदार द्वार एक माह का अनाज देकर कार्ड में दो माह का उठाव अंकित कर देते है।

ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से जाचकर डिलर के विरूद्ध कार्रवाई की माग की है। जबकि सम्पर्क करने पर जनवितरण प्रणाली दुकानदार दुजेन्द्र झा ने ग्रामीणों के आरोप को बेबुनियाद एवं मनगढ़त बताया।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s