दलित मीडिया वांच – हिन्दी न्यूज़ अपडेट 29.08.15

 Save Dalit Foundation:

Educate, agitate & organize! – Dr. Ambedkar.

Let us all educates to agitate & Organize to Save Dalit Foundation !

Please sign petition by click this link : https://t.co/WXxFdysoJK

चाकू घोंप कर ओझा की हत्याअमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/jaunpur/jaunpur-crime-news/exorcist-knife-sword-killing-hindi-news/

डर के मारे दो परिवारों ने छोड़ा गांवअमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/karnal/karnal-hindi-news/two-families-move-from-village-hindi-news/

जिलाधीश ने किया जमनकिरा ब्लाक का दौरादैनिक जागरण

http://www.jagran.com/odisha/sambalpur-12804450.html

पड़ोसी की दीवार गिरने से दो बच्चे घायलदैनिक जागरण

http://www.jagran.com/bihar/kaimoor-two-children-injured-by-the-falling-wall-of-neighbor-12801833.html

जजपुरा के दलितों ने जताया विरोध, प्रदर्शनअमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/budaun/budaun-hindi-news/jjpura-the-dalits-expressed-protest-hindi-news/

Please Watch:

Untouchability Captured on Camera, Rajasthan

https://www.youtube.com/watch?v=EdosKk6htrQ

अमर उजाला

 चाकू घोंप कर ओझा की हत्या

http://www.amarujala.com/news/city/jaunpur/jaunpur-crime-news/exorcist-knife-sword-killing-hindi-news/

कोतवाली क्षेत्र के बेलवा दलित बस्ती में गुरुवार की रात कुछ लोगों ने झाड़-फूंक के विवाद में एक ओझा की चाकू घोंपकर हत्या कर दी। पुलिस ने शव कब्जे में ले लिया।

ओझा की पत्नी की तहरीर पर पांच लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर पुलिस उनकी तलाश में जुट गई। सिकरारा थानाक्षेत्र के जमुआ गांव निवासी नन्हें लाल गौतम का ससुराल बेलवा दलित बस्ती में है। नन्हें सुसराल में अपने साला सुरेश गौतम के साथ  झाड़फूंक करता था। गुरुवार की रात 12 बजे नन्हें और सुरेश एक किशोरी की झाड़-फूंक कर रहे थे। इस दौरान वे कभी किशोरी को मार देते तो कभी बाल  नोचते थे।

acr300-55e0b7a277fa428jon09P_4079487

किशोरी के परिवार वालों के विरोध करने पर भी नहीं मान रहे थे। वे कमरे का दरवाजा बंद करने का प्रयास करने लगे। किशोरी के पिता से 25 हजार रुपये मांगने लगे और न देने पर घर पर भूत छोड़ने की धमकी देने लगे। इस पर किशोरी के परिवार वालों ने दोनों को मारने के लिए दौड़ा.

लिया और सुरेश को चाकू गोदकर घायल कर दिया। उसके परिवार वाले उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए और पुलिस को सूचना दी। वहां से जिला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में सुरेश की मौत हो गई। इस मामले में सुरेश की पत्नी अनीता देवी ने नन्हें गौतम, नीरज, धीरज, राजनारायण, फूलचंद्र के खिलाफ हत्या का केस दर्ज करा दिया। एसपी ग्रामीण राम स्वरूप का कहना है कि केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है।

अमर उजाला

 डर के मारे दो परिवारों ने छोड़ा गांव

http://www.amarujala.com/news/city/karnal/karnal-hindi-news/two-families-move-from-village-hindi-news/

घरौंडा के विधायक हरविंद्र कल्याण के गांव कुटेल से दलित समुदाय के दो परिवारों ने दबंगों के डर से गांव छोड़ दिया है। मामला गंभीर होने के कारण गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है। उधर, पीड़ित परिवार ने चेताया है कि उन्हें गांव में जान का खतरा है। पीड़ित पक्ष ने आईजी के सामने पूरे मामले में दुखड़ा रोया।

उधर पुलिस ने इस मामले में आरोपी पक्ष के पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। मामले के अनुसार एक महीने पहले गांव में एक समुदाय के लोगों और दलित समाज के रामकिशन के साथ मारपीट कर दी। रामकिशन की शिकायत पर पुलिस ने एक पक्ष के तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया और उन्हें जेल भेज दिया। इसके बाद से दोनों पक्षों में रंजिश चल रही है।

मामला उस समय गरमा गया जब 23 अगस्त को दोबारा से रामकिशन के घर में घुसकर दूसरे पक्ष के लोगों ने गालियां और धमकी दी। रामकिशन की पत्नी महेंद्रों की शिकायत पर मधुबन थाना पुलिस ने पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इससे गांव में तनाव की स्थिति बन गई। पीड़ित रामकिशन व उसके परिजनों का कहना है कि मधुबन थाना पुलिस पर विधायक आरोपी पक्ष की मदद के लिए दबाव बना रहे हैं। ऐसे में आरोपी पक्ष की तरफ से लगातार उन पर दबाव बनाया जा रहा है और धमकी दी जा रही है।

दबंगों से घबराए रामकिशन व धनीराम के परिवार ने वीरवार को गांव छोड़ दिया। शुक्रवार को आईजी से मिले पीड़ितों ने बताया कि विधायक थाना प्रभारी के तबादले को लेकर भी प्रयास कर रहे हैं और उनके समुदाय के पक्ष के लोग उन्हें जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। उधर गांव में दो पक्षों में तनाव के बाद पुलिस तैनात कर दी है। पीड़ितों का कहना है कि वे तब तक गांव में नहीं जाएंगे, जब तक उन्हें पूरी सुरक्षा मुहैया नहीं कराई जाती।

पीड़ित बोले, मिल रही धमकी

पीड़ित रामकिशन, बेनीराम आदि ने बताया कि गांव में उन्हें लगातार धमकी मिल रही है। दोनों केसों को वापस लेने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। उन्होंने इस मामले में घरौंडा के विधायक पर भी भेदभाव करने के आरोप जड़े हैं। पीड़ितों ने बताया कि विधायक के दम पर कुछ लोग थाना प्रभारी को बदलवाने और क्रास केस दर्ज कराने की धमकी दे रहे हैं। 

यह है मामला

गांव में 8 जुलाई को रामकिशन के साथ मारपीट की गई। इसमें पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत आरोपी रोबिन, अनूप और सोनू को गिरफ्तार किया है। रंजिश के कारण 23 अगस्त को दोनों पक्षों में दोबारा से विवाद हो गया। आरोप है कि एक पक्ष के लोगों ने रामकिशन के घर में घुसकर गालियां देते हुए धमकी दी। इस पर पुलिस ने आरोपी मुनीष, रिंकू, रवि, रोहित व कुशल के खिलाफ केस दर्ज करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि मामला विधायक के गांव का होने और एक पक्ष के कई लोगों की गिरफ्तारी के कारण विधायक पुलिस व थाना प्रभारी से नाराज हैं।

आरोपी गिरफ्तार, स्थिति कंट्रोल में : थाना प्रभारी

मधुबन थाना प्रभारी कमलदीप राणा का कहना है कि गांव में दो पक्षों में पुराना विवाद चल रहा है। दोनों मामलों में केस दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। गांव में सुरक्षा के लिहाज से पीसीआर तैनात कर दी है। थाना प्रभारी ने दावा किया कि दोनों पक्षों से बात करके पलायन किए गए परिवारों को गांव में वापस लाया ले आए हैं। उनका सामान दूसरे गांव में है, उसे भी लाया जा रहा है। उधर, आईजी हनीफ कुरैशी का कहना है कि गांव का माहौल किसी भी सूरत में खराब नहीं होने देंगे।

कुछ कर रहे माहौल खराब : विधायक

विधायक हरविंद्र कल्याण का कहना है कि उनका इस मामले से कोई लेना देना नहीं है। कुछ लोग जानबूझकर मामले को तूल दे रहे हैं। उन पर लगाए गए सभी आरोप निराधार और राजनीति से प्रेरित हैं। उनके लिए सभी समाज एक समान हैं।

दैनिक जागरण

 जिलाधीश ने किया जमनकिरा ब्लाक का दौरा

http://www.jagran.com/odisha/sambalpur-12804450.html

संबलपुर : संबलपुर जिले के दलित किसानों को अब अपने खेतों में पैदावर के लिए वर्षा पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। महानदी कोलडफील्डस लिमिटेड, एमसीएल की सहायता से पश्चिम ओडिशा के 250 गरीब दलित किसानों के खेतों में बोर-होलकर ¨सचाई स्थायी व्यवस्था की गई है। जिससे अब उनको खेती के लिए मौसमी बारिश पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा और पैदावर में भी बढ़ोत्तरी होगी।

कोल इंडिया की अनुषंगी कंपनी एमसीएल ने 250 गरीबी रेखा, बीपीएल के नीचे रहने वाले अनुसूचित जाति-जनजाति किसानों की ओर से राज्य सरकार द्वारा जारी की गई ¨सचाई योजना, जिसके अंतर्गत दस रुपये देने पर एक बोर-होल द्वारा ¨सचाई व्यवस्था की जाती है इसका लाभ उठाने हेतु आर्थिक सहायता की गई। एमसीएल के अध्यक्ष सह प्रबंधक निदेशक एएन सहाय एवं संबलपुर जिलाधीश बलवंत ¨सह ने संबलपुर जिले के जमनकिरा ब्लाक के गांवों का दौरा किया और लाभन्वित किसानों से मुलाकात की।

दैनिक जागरण

 पड़ोसी की दीवार गिरने से दो बच्चे घायल

http://www.jagran.com/bihar/kaimoor-two-children-injured-by-the-falling-wall-of-neighbor-12801833.html

कैमूर। जर्जर दीवार गिरने से शुक्रवार दोपहर मोहनियां के दादर गांव में दो मासूम बुरी तरह घायल हो गए। जब पड़ोसी राम बाबू कुशवाहा की दीवार मुन्ना यादव के आंगन में गिरी। जिससे मुन्ना यादव की छह वर्षीय पुत्री काजल एवं चार वर्षीय पुत्र विकास घायल हो गये। काजल के बायें हाथ एवं विकास के बायें पैर की हड्डी टूट गई है। गरीबी से बेजार मुन्ना यादव व पत्‍‌नी अष्टमी देवी, घायल बच्चों को लेकर इलाज के लिए अनुमंडलीय अस्पताल मोहनियां पहुंचे। घटना की सूचना मिलते ही अनुमंडल पदाधिकारी खुर्शीद अनवर सिद्दीकी व बीडीओ अरूण सिंह अस्पताल पहुंचे।

परिजनों से घायल बच्चों के स्थिति की जानकारी ली। अस्पताल के उपाधीक्षक डा. एस सी लाल व प्रबंधक तारकेश्वर उपाध्याय को मुस्तैदी से इलाज करने का निर्देश दिया। मुन्ना यादव की पत्‍‌नी अष्टमी देवी ने बताया कि बच्चे बगल के घर में सब्जी मांगने जा रहे थे। तभी राम बाबू कुशवाहा की दीवार आंगन में गिर पड़ी। जिससे दोनों बच्चे घायल हो गये। विकास की हालत गंभीर है। बताया कि वे लोग चार माह से राम बाबू को जर्जर दीवार को तोड़ने के लिए कह रहे थे। लेकिन उन्होंने इस पर विचार नहीं किया। मिट्टी की जर्जर दीवार तोड़ दी गई होती तो यह हादसा नहीं होता। ग्रामीणों ने बताया कि मुन्ना यादव की आर्थिक स्थिति काफी दयनीय है। परिवार को दो जून की रोटी भी मुश्किल से मिलती है। बीडीओ अरूण सिंह ने कहा कि दादर के हल्का कर्मचारी को घटना स्थल पर भेजा गया है। मुन्ना यादव को हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जायेगी। पंचायत के मुखिया भी इलाज में सहयोग कर रही हैं।

खता किसी की सजा किसी को

भभुआ: जिले में जर्जर दीवार गिरने से लोगों के हताहत होने का सिलसिला जारी है। हाल के महीनों में जर्जर दिवार गिरने से कई की मौत हो गयी, तो कई घायल भी हुए हैं। लेकिन अधिकांश मामलों में एक अजीब पक्ष यह हैं कि अपने घर की नहीं बल्कि पड़ोसी के घर की दीवार गिरने से लोग हताहत ही नहीं हुए बल्कि जान से भी हाथ धो बैठे हैं।

भभुआ नगर के वार्ड 14 के दलित बस्ती में गत मार्च में पड़ोसी के छज्जा गिर जाने से चार लोगों की मौत हो गयी थी। दो दिन पूर्व भी इसी बस्ती में पड़ोसी की दीवार गिरने से एक बच्ची बुरी तरह घायल हो गयी। मनीहारी गांव में गत माह पड़ोसी की गिरे दीवार की चपेट में आ जाने से एक बच्ची की मौत हो गयी थी। अब शुक्रवार को दादर गांव में भी पड़ोसी के गिरे दीवार की जद में आ दो बच्चे घायल हो गए। चांद प्रखंड के गेहुआं गांव में भी गांव के रास्ते में दूसरे के मकान की दीवार गिरने से तीन महिलाओं की मौत हो गयी थी।

वैसे जानकार मानते हैं कि इन घटनाओं में प्रशासन भी कहीं ना कहीं दोषी है। जर्जर दीवारों के गिरने से हो रही घटनाओं से प्रशासन सबक नहीं ले रहा है, जिस कारण घटनाओं का सिलसिला जारी है। आपदा प्रबंधन विभाग ने पूर्व में ही सभी अंचलाधिकारियों नगर परिषद व नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारियों को निर्देश जारी किया है कि संबंधित पदाधिकारी अपने क्षेत्र में जर्जर मकानों को चिन्हित कर उसे ध्वस्त कराएं जिससे संभावित घटनाओं को टाला जा सके, परंतु अबतक जर्जर मकानों को चिंहित नहीं किया गया है।

अमर उजाला

 जजपुरा के दलितों ने जताया विरोध, प्रदर्शन

http://www.amarujala.com/news/city/budaun/budaun-hindi-news/jjpura-the-dalits-expressed-protest-hindi-news/

सदर तहसील के गांव जजपुरा में राशन कोटे के लिए खुले प्रस्ताव में शामिल हुए दलित समाज के लोगों ने आरोप लगाया है कि उनके कुछ लोगों के हस्ताक्षर कराकर प्रधान का बेटा रजिस्टर छीनकर ले गया। इसमें गड़बड़ी करने की आशंका है। इसलिए जजपुरा गांव में प्रस्ताव दोबारा कराया जाए। इन लोगों ने यहां जिला मुख्यालय पहुंचकर प्रदर्शन किया और डीएम के नाम ज्ञापन दिया।

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वे 400 की संख्या में गांव के प्राथमिक विद्यालय में तय समय सूचना के आधार पर एकत्र हुए थे। ग्राम प्रधान और सचिव ने प्रस्ताव के रजिस्टर पर लगभग 100 हस्ताक्षर करा लिए। बाद में रजिस्टर छीनकर ले गया। इस पर सभी लोग प्रधान के घर पहुंचे, तो प्रधान सुरेंद्र मुखी घर पर ही थीं। उन्होंने भी कुछ नहीं कहा। इस पर गुस्साए लोगों ने शुक्रवार को मालवीय आवास पर प्रदर्शन कर डीएम को दिए गए ज्ञापन में मांग की है कि राशन कोटा का प्रस्ताव दोबारा तारीख देकर कराया जाए।

प्रदर्शन करने वालों में नंद पाल सिंह, प्रेम बाबू, विशेष कुमार, अनार सिंह, संतोष, बंटी, सुनील, श्याम लाल, परवेंद्र, जुगेंद्र, बादाम, प्रताप सिंहह, धीर पाल, राजेश, रतीराम, विशन पाल, अनेक पाल, मुकेश, कप्तान, जगदीश आदि शामिल रहे।

News monitored by Kuldeep Chadan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s