दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 22.08.15

दबंगों ने दलित महिला के घर में घुसकर की अश्लील हरकत – पंजाब केसरी

http://www.punjabkesari.in/news/article-388426

दलित को मंदिर में पूजा करने से रोका – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/barabanki/barabanki-hindi-news/schedule-cast-prevented-from-worshiping-in-the-temple-hindi-news/

दलित कांवड़ियों को मंदिर में जल चढ़ाने से रोका – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/feature/samachar/national/dalit-kanwariyas-prohibited-to-offer-jal-in-mandir-hindi-news-ap/

रास्ते ने लगाई डोलियों पर ब्रेक – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/bihar/araria-12766507.html

मिर्जापुर की हरिजन चौपाल खंडहर में तब्दील – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/haryana/faridabad-12764783.html

बुनियादी सुविधा से वंचित हैं वार्ड निवासी – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/punjab/kapurthala-12766742.html

दलित-आदिवासी यूनियन की बैठक – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/bihar/purnea-12765594.html

Please Watch:

Dashrath Manjhi – The Man Who Broke A Mountain Alone

https://www.youtube.com/watch?v=xAVUDKw4AIk

Save Dalit Foundation:

Educate, agitate & organize! – Dr. Ambedkar.

Let us all educates to agitate & Organize to Save Dalit Foundation !

Please sign petition by click this link : https://t.co/WXxFdysoJK

पंजाब केसरी

दबंगों ने दलित महिला के घर में घुसकर की अश्लील हरकत

http://www.punjabkesari.in/news/article-388426

किशनपुरा गांव की एक दलित महिला ने पुलिस को दी शिकायत में गांव के 4 दबंगों के खिलाफ घर में घुसकर अश्लील हरकतें करने और मारपीट करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस को दी शिकायत में गांव की दलित महिला ने बताया कि गांव के 2 लोग पिछले काफी दिनों से उसे परेशान कर रहे हैं।

वह गांव में जहां भी जाती है वे उसके पीछे-पीछे हो जाते हैं तथा छेडख़ानी करते हैं। दोनों कई बार उससे गाली-गलौच कर चुके हैं। पीड़िता ने बताया कि गत 18 अगस्त की रात्रि को वह अपने परिवार के सदस्यों के बीच घर में सो रही थी। 

उसी समय 4 लोग उसके घर में घुस गए और आते ही उसके साथ छेडख़ानी करने लगे। जब उसने शोर मचाया तो परिवार के अन्य सदस्य भी उठ गए। पीड़िता के अनुसार चारों लोग उसके साथ गाली-गलौच व मारपीट करने लगे। वे लोग वहां पड़ी ईंटें उठाकर फैंकने लगे जो कि घर के सदस्यों को लगी और उन्हें चोटें भी आईं। चारों ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी तथा वहां से फरार हो गए। 

पीड़िता ने उसे व परिवार को जान माल का खतरा बताते हुए पुलिस से सुरक्षा प्रदान करने और आरोपियों के खिलाफ कड़ी कारवाई किए जाने की मांग की है। मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी जयदेव ने बताया कि इनका पहले भी आपस में लड़ाई झगड़ा हुआ था जिसमें कुछ लोग अस्पताल में भर्ती हैं। उनके पास पीड़िता से छेड़छाड़ वाली शिकायत आई है। अभी कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है।

अमर उजाला

दलित को मंदिर में पूजा करने से रोका

http://www.amarujala.com/news/city/barabanki/barabanki-hindi-news/schedule-cast-prevented-from-worshiping-in-the-temple-hindi-news/

टिकैतनगर थाना क्षेत्र के एक गांव में दलित को मंदिर में पूजा करने से रोके जाने से लोगों में आक्रोश फैल गया है। ग्रामीणों ने शुक्रवार को जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक से शिकायत करते हुए कहा कि खत्म हो चुकी प्रथा को अगर फिर शुरू करने की कोशिश की गई तो गांव में तनाव की स्थित पैदा हो सकती है।

टिकैतनगर थाना क्षेत्र के ग्राम पिपरौली निवासी गुड्डू का आरोप है कि वह गांव के ही सैलानी माता मंदिर में पूजा करने गया था। मंदिर गांव के ही शिव नरायण वर्मा के घर के पास बना है।

आरोप लगाया कि शिव नरायण वर्मा ने उसे जाति सूचक गाली देकर पूजा करने से मना कर दिया। गुड्डू व अन्य गांव वालों ने इसका विरोध किया तो आरोपी मारपीट पर आमादा हो गए।

ग्रामीणों में महेश प्रसाद एडवोकेट, राकेश, प्रेमचंद, पुत्तीलाल, नौमीलाल, अयोध्या प्रसाद आदि ने जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र देकर मंदिर में सभी को पूजा करने का हक दिलाने की मांग की है।

अमर उजाला

दलित कांवड़ियों को मंदिर में जल चढ़ाने से रोका

http://www.amarujala.com/feature/samachar/national/dalit-kanwariyas-prohibited-to-offer-jal-in-mandir-hindi-news-ap/

बरेली में दलित कांवड़ियों को मंदिर में जल चढ़ाने से रोक दिया गया। चौधरी तालाब के दलित कांवड़ियों का कहना है कि उन्हें गौरी शंकर मंदिर के पुजारी के बेटे और छोटे भाई ने मंदिर में जल चढ़ाने से रोक ‌दिया। 

उन्होंने आरोप लगाया कि दोनों ने कांवड़ियों पर डंडों से हमला कर खदेड़ दिया। कांवड़ियों ने उनके हाथों से डंडे छीनकर शोर मचाया तो मोहल्ले के काफी लोग इकट्ठा हो गए। 

dalit-in-bareilly-55d6c7efba114_exlst

एसपी सिटी से मिलकर कावड़ियों ने मामले की शिकायत की। उन्होंने कहा है कि वह 16 अगस्त को कछला घाट से गंगा जल लेकर आए और रात नौ बजे प्रेमनगर स्थित गौरी शंकर मंदिर पर पहुंच गए। लेकिन पुजारी के छोटे भाई अग्निहोत्री ने ब्राह्मण का मंदिर बताते हुए उन्हें छोटी जाति का होने के कारण मंदिर पर जल नहीं चढ़ाने दिया। इसको लेकर लोगों में खासा आक्रोश पनप गया। 

दैनिक जागरण

रास्ते ने लगाई डोलियों पर ब्रेक

http://www.jagran.com/bihar/araria-12766507.html

अररिया। निजाम बदला पर नहीं बदल सकी गांवों की तस्वीर। जिले में एक गांव ऐसा भी है जहां रास्ते के चलते डोलियां नहीं उठ रही हैं। जी हां!ं हम बात कर रहे हैं रानीगंज प्रखंड के रानीगंज हांसा पंचायत महादलित राम टोले की। इस टोले की हकीकत ऐसी है कि जानने के बाद लोग अचंभित रह जायेंगे।

प्रखंड के हांसा पंचायत महादलित राम टोला में लड़के वाले बारात लेकर नहीं आना चाहते हैं, क्योंकि टोले में आने-जाने का कोई रास्ता ही नहीं है। आज के समय में जो भी बारात आता है वह डीजे की धुन पर ही लड़की की विदाई चाहता है ऐसे में टोले में पैदल प्रवेश करना भी बेहद कठिन है, तो डीजे गाड़ी कहां से पहुंचेगी। इन सभी का खामियाजा यहां की लड़कियां को भुगतना पड़ रहा है।

आजादी के पूर्व ही बसी थी बस्ती आजादी के पूर्व बसे महादलित बस्ती, रानीगंज प्रखंड के हांसा पंचायत के वार्ड नम्बर-5 के वासी एक अदद सड़क भी नसीब नहीं हैं। बीते दस वर्ष से महादलित परिवार सड़क के लिए कार्यालय का चक्कर काट रहे है। वर्ष 2013 में तत्कालीन अंचलाधिकारी रमण कुमार ¨सह गावं पहुंचकर स्थल जांचकर गांव वासियेां को भरोसा दिलाया था। तबसे फाईल जिला मुख्यालय का धूल चाट रही है। दलित परिवारों का आरोप है कि नजराना के अभाव में यह फाईल आगे नहीं बढ़ रहा है। कई बार डीएम के जनता दरबार मे भी आवेदन दिया गया।क्या कहते हैं दलित परिवार कलावती देवी, छोटू राम, डोमी राम कहते हैं कि 1947 ई से पूर्व से यह दलित की बस्ती है।

1954 के सर्वे के दौरान से ही उनके बाप दादा के नाम से करीब साढे पांच बीघा जमीन खतियानी बना था। इसी जमीन पर घर बनाकर रह रहे हैं। पूर्व में चारो तरफ खुला था। धीरे धीरे दूसरे जाति के लोग अपना अपना जमीन घेर लिया है। अब गांव आने के लिए कोई रास्ता नहीं है। सईकिल व मोटर साईकिल से भी लोग गांव नहीं पहुंच पाते है।

-घर में बैठी है जवान बटियां दलित परिवारों के अनुसार रास्ता के अभाव में गावं में कोई कुटूम नहीं आता है। एक बार कोई भूलबस आ भी जाए तो दोबारा संबंध जोडने गांव नहीं आते । एक दर्जन से अधिक जवान जवान लडकियां वर्षें से विवाह के लिए घर में कुवारी बैठी है। वहीं पतासी देवी ने बताया कि पोती की शादी दूसरे गावं में ले जाकर कराना पड़ा। इस गांव में कुटूम आने को तैयार नहीं थे। एक बार किसी तरह बेटी की विवाह हो जाती है तो ससुराल वाले दोबारा इस गांव में बेटी को आने नहीं देते।

अधिकारी ने की थी स्थल जांच

ग्रामीणों ने बताया कि तीन वर्ष पूर्व तत्कालीन अंचालाधिकारी रमण कुमार ¨सह ने गांव पहुचकर स्थल जांच किए थे। उन्होंने आश्वासन दिया था कि जल्द गांव आने के लिए रास्ता उपलब्ध कराया जाएगा। रास्ते का मापी कर नक्शा भी बना दिया गया था। आगे के कार्रवाई के लिए जिला मुख्यालय भू-अर्जन पदाधिकारी के कार्यालय भेजा गया। लेकिन भूअर्जन पदाधिकारी के कार्यालय के किरानी बाबू फाईल आगे बढ़ाने के लिए पैसे की मांग करते हैं।

घर में बैठीं हैं बच्चियां

मधु कुमारी, अनिता कुमारी, नेहा कुमारी, सोनी, ¨चकी कुमारी, ¨पकी आदि बच्चियां जो विवाह के लिए बैठी हैं। कई लोग रिश्ता छोड़ चुके हैं। रास्ते के अभाव में दो दर्जन से अधिक परिवार टोला छोड़कर दिल्ली, पंजाब आदि जगहों पर चले गांव हैं। ग्रामीणों का कहना है अगर सरकार उन लोगों पर भी ध्यान नहीं देगी तो एक एक कर वे लोग भी घर छोड़ने को मजबूर हो जाएंगे।

क्या कहते हैं अधिकारी

अनुमंडल पदाधिकारी संजय कुमार ने कहा कि इस संबंध में आवेदन मिला था। वे इसकी पूरी जानकारी लेकर रास्ते के लिए ठोस पहल किया जाएगा।

दैनिक जागरण

मिर्जापुर की हरिजन चौपाल खंडहर में तब्दील

http://www.jagran.com/haryana/faridabad-12764783.html

तिगांव : गांव मिर्जापुर में हरिजन चौपाल खंडहर में तब्दील हो गई है। हालत यह है कि दीवारों में दरार आने से कभी भी छत गिर सकती है। अन्य कोई जगह नहीं होने से दलित समाज के लोगों को बच्चों की शादी व सार्वजनिक कार्यक्रम करने में दिक्कत हो रही है। पंचायत व प्रशासनिक अधिकारी शिकायत करने के बावजूद सुनवाई नहीं कर रहे हैं।

गांव मिर्जापुर में 15 साल पहले हरिजन चौपाल बनाई गई थी। चौपाल बनने से दलित समाज के लोगों को सार्वजिनक कार्यक्रम व बच्चों की शादी समारोह के लिए किसी अन्य जगह की जरूरत नहीं पड़ती थी। इससे समाज के लोगों को काफी सुविधा थी। अब मरम्मत नहीं होने के कारण चौपाल खंडर में तब्दील हो चुकी है। चौपाल की सामने वाली दीवार गिर चुकी है और पीछे की दीवार में दरार आई हुई है। ग्रामीण लायक राम ने बताया कि पहले गांव में कहीं पर भी खाली पड़ी जगह में टेंट लगाकर लोग शादी समारोह व सार्वजनिक कार्यक्रमों का आयोजन कर लेते थे। अब गांव में खाली जगह न होने से विभिन्न समाज की बनी चौपाल ही कार्यक्रम करने का एक मात्र साधन हैं।

हरिजन चौपाल के खंडर होने से दलित समाज के लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण रचित का कहना है गांव में हरिजन समाज के लोगों की आबादी काफी है। इसके चलते सार्वजनिक कार्यक्रम व शादी समारोह होते रहते हैं। चौपाल के खंडर हो जाने व अन्य कोई जगह न होने से मजबूरी में लोगों को सड़क या फिर किसी की निजी जगह में टेंट लगाकर कार्यक्रम का आयोजन करना पड़ता है। इससे लोगों का पैसा भी अधिक खर्च होता है।

गांव मिर्जापुर की हरिजन चौपाल की जर्जर हालत के बारे में शिकायत नहीं मिली है। इस बारे में संबंधित ग्राम सचिव को मौके पर भेजकर मौका मुआयना कराने के बाद रिपोर्ट मिलने के बाद ही आगे की जानकारी दी जा सकती है।

– उपमा अरोड़ा, खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी बल्लभगढ़।

दैनिक जागरण

बुनियादी सुविधा से वंचित हैं वार्ड निवासी

http://www.jagran.com/punjab/kapurthala-12766742.html

भुलत्थ के वार्ड नं-1 में विकास कार्यों की अनदेखी की जा रही है। वार्ड में सुविधाओं का अभाव होने से लोग परेशान हैं। विशेष कर दलित कालोनी में न तो पीने वाले पानी की सप्लाई है, न ही सीवरेज पाइप लाइन। लोगों को मजबूरन दूषित पानी पीना पड़ रहा है जिसके चलते लोग पेट संबंधी कई बीमारियों का शिकार लोग हो रहे हैं। इसके बावजूद प्रशासन व कौंसिल लोगों की समस्याओं की ओर ध्यान नहीं दे रही है।

वार्ड के मुहल्लों में सफाई व्यवस्था का भी बुरा हाल है। जगह-जगह गंदगी व कूडे़ के ढेर लगे हुए हैं। सफाई कर्मचारी महीने में कभी कभार ही सफाई करने के लिए आते हैं जिससे गलियों में जगह-जगह गंदगी फैली रहती है। मोहल्लावासियों ने बताया कि हर बार चुनावों में राजनेता विकास के काम जल्द शुरू कराने के दावे करते है लेकिन सच्चाई कुछ और ही है। राजनेताओं के झूठे वायदों की पोल खुल चुकी है। कालोनी की अधिकांश गलियों और सड़कों की हालत दिन-प्रतिदिन दयनीय होती जा रही है।

इस संबंध में में फौजी प्रेम चंद, कश्मीर ¨सह, बल¨वदर ¨सह, सतपाल, बल¨वदर कौर ने बताया कि जब से एमसी बनकर नगर पंचायत में शामिल हुआ है भुलत्थ में विकास कार्य ठप हो कर रह गया है। वार्ड नं-1 में पानी की सप्लाई न होने व टूटी सड़कों व फैली गंदगी से वार्ड निवासियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता हैं। जगह-जगह फैली गंदगी के कारण लोगों में बीमारियों के फैलने का खतरा बना रहता है। वार्ड नं-1 की मेन सड़क पर गंदगी के ढेर लगे है।

गंदगी के ढेर होने से निकलने वाली बदबू से आसपास के लोगों का सांस लेना भी मुश्किल हो गया है। जिस कंपनी को कूड़ा उठाने का ठेका दिया गया है उसके कर्मचारी लोगों के घरों से कूड़ा उठाने के बदले 30 से 50 रुपये वसूल रहे हैं। कंपनी की ओर से कई जगहों पर कूड़ा फेंकने वाले डंप तो रखवा दिए है लेकिन वार्ड नं-1 की कालोनी में कूड़ा फेंकने के लिए कूड़ेदान नहीं रखा गया। वार्ड निवासियों ने मांग की कि जल्द से जल्द कालोनी की गलियों और मेन सड़क का निर्माण करवाया जाए तथा लोगों को पेयजल की सप्लाई मुहैया करवाई जाए।

इस संबंध में नगर पंचायत भुलत्थ के वार्ड नं-1 एमसी कैप्टन अमरीक ¨सह से जब पानी, सफाई व टूटी हुई गलियों संबंधी पूछा गया तो उन्होंने कहा कि टेंडर जारी किए जा चुके हैं। जल्द ही काम शुरू करवा दिया जाएगा।

दैनिक जागरण

दलित-आदिवासी यूनियन की बैठक

http://www.jagran.com/bihar/purnea-12765594.html

पूर्णिया। दलित-आदिवासी स्टुडेंटस यूनियन (दासु) के बैनर तले राजकीय कल्याण छात्रावास में शुक्रवार को एक बैठक आयोजित की गई। जिसमें जिलाध्यक्ष मूलचंद कुमार तथा मंच संचालन विक्रम कुमार पासवान ने किया। इसमें मुख्य अतिथि प्रदेश अध्यक्ष डा. अमित कुमार भी उपस्थित थे। बैठक में आदिवासियों के छात्रावास निर्माण पर विशेष चर्चा की गई। बैठक में शामिल वक्ताओं ने कहा कि अभी तक जिले में अनुसूचित जनजाति छात्रों के लिए महाविद्यालय स्तरीय छात्रावास का निर्माण नहीं किया गया है। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि अगर जल्द छात्रावास का निर्माण नहीं कराया गया तो छात्र उग्र आंदोलन करेंगे। इस अवसर पर प्रकाश कुमार मुर्मू, गंगाराम हांसदा, कृष्ण कुमार टुडू, राकेश कुमार पासवान, आमोद रजक, शिवरंजन, मदन, बालकृष्णन, रामलाल हांसदा आदि उपस्थित थे।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s