दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 24.07.15

दलित युवती से दुष्कर्म, रिपोर्ट दर्ज – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/hardoi-12637913.html

दलित महिला का बाल काट दबंगों ने गांव में घुमाया – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/kushinagar-12640042.html

वॉशरूम नहीं बनाए तो करेंगी भूख हड़ताल – दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news/MP-OTH-MAT-latest-sehore-news-034029-2316985-NOR.html

दाखिला न देने का लगाया आरोप – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/haryana/jhajjar-12636377.html

पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम बंद न होने देंगे : पीएसएफ – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/punjab/jalandhar-city-12637644.html

दिल्ली पुलिस कमिश्नर को आयोग ने किया तलब – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/punjab/amritsar-12639182.html

बांदकपुर सरपंच पर देर रात मामला दर्ज नई दुनिया

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/damoh-dmoh-news-430704

Please Watch:

सौ में पच्चीस हक़ हमारा

https://www.youtube.com/watch?v=ZEEzcFZG8lY

दैनिक जागरण

दलित युवती से दुष्कर्म, रिपोर्ट दर्ज

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/hardoi-12637913.html

हरदोई, जागरण संवाददाता : बघौली थाना क्षेत्र में बुधवार को एक दलित युवती से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामले की एफआइआर दर्ज कर पीड़िता का चिकित्सीय परीक्षण कराया है। वहीं कोतवाली देहात थाना क्षेत्र में रिश्तेदारी में आए युवक ने किशोरी से दु्ष्कर्म किया। पुलिस ने इस मामले की रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

बघौली में हुई घटना के बारे में युवती का कहना है कि बुधवार को वह घर पर अकेली थी। दोपहर को आरोपी उसके घर में घुस आया और उसके साथ दुष्कर्म किया। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी भी दी। किसी तरह उसके चंगुल से छूटकर शोर मचाया तो आसपास के लोग आए गए। मां के लौटने पर उसने पूरी बात बताई। मां के साथ बघौली थाना पहुंची और पुलिस को घटना की जानकारी दी। थानाध्यक्ष जाबेद खां ने बताया कि तहरीर के आधार पर आरोपी चमन के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कर ली गई है।

सीओ बघौली मामले की जांच करेंगे। देर शाम अपर पुलिस अधीक्षक बीसी दुबे ने भी थाने पहुंचकर पूरी जानकारी ली। वहीं कोतवाली देहात थाना क्षेत्र में हुई घटना के बारे में बताया जाता है कि रविवार को किशोरी शौच के लिए घर से गई थी। पिता का कहना है कि काफी देर तक नहीं लौटी तो खोजबीन की तो उसे पुत्री आती मिली। उसने बताया कि गांव में ही रिश्तेदारी में आए युवक ने उससे दुष्कर्म किया। शिकायत करने पर उन लोगों ने धमकी भी दी। थानाध्यक्ष अरुण कुमार राय ने बताया कि आरोपी विवेक के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कर ली गई है। आरोपी बेनीगंज थाना क्षेत्र का रहने वाला है और पुलिस उसकी तलाश भी कर रही है।

दैनिक जागरण

दलित महिला का बाल काट दबंगों ने गांव में घुमाया

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/kushinagar-12640042.html

कुशीनगर : पटहेरवा क्षेत्र के गांव बेलवा कारखाना में गुरूवार की शाम 5:30 बजे महिला उत्पीड़न की समाज को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। आरोप है कि दबंगों ने एक दलित महिला को डायन बताकर बाल काटा और चेहरे पर कालिख पोत गांव में घुमाया। बर्बरता यहीं नहीं रुकी दबंगों ने महिला को अ‌र्द्धनग्न कर बेरहमी से पीटा भी। इस दौरान गांव के लोग तमाशबीन बने रहे। पुलिस ने ऐसी किसी घटना से इन्कार किया है। गांव के एक व्यक्ति की पत्नी की तबीयत खराब चल रही है।

दिन में उसके घर एक झाड़ फूंक वाला आया और बताया कि गांव की ही एक महिला ने बुरी नजर से देखा है। बताते हैं कि इतना सुनते ही बीमार चल रही महिला के परिजन आरोपी महिला के घर पहुंचे और उसे घर के अंदर से खींच अपने दरवाजे पर लाए। आस-पास के लोग कुछ समझ पाते कि दबंग आरोपियों ने महिला को डायन बताते हुए उसका बाल काटा, फिर बाल को जलाया और राख को महिला के मुंह पर पोत कर पूरे गांव में घुमाया। महिला को बचाने कोई सामने नहीं आया। प्रभारी थानाध्यक्ष सत्येंद्र यादव ने कहा कि मामला संज्ञान में आया है। जांच कर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

दैनिक भास्कर

वॉशरूम नहीं बनाए तो करेंगी भूख हड़ताल

http://www.bhaskar.com/news/MP-OTH-MAT-latest-sehore-news-034029-2316985-NOR.html

धबोटी गांव में अधिकतर घरों में तो टॉयलेट का निर्माण हो गया लेकिन कई दलित वर्ग के परिवार ऐसे हैं जो इस सुविधा से वंचित हैं। इस गांव की यह महिलाएं गुरुवार को अधिकारियों से मिलीं और उन्होंने चेतावनी दी कि यदि उनके यहां पर शौचालयों का निर्माण नहीं कराया गया तो वह भूख हड़ताल करेंगी।

ग्राम धबोटी की महिलाओं ने मप्र कांग्रेस कमेटी अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश संयोजक नरेंद्र खंगराले के नेतृत्व में जिला पंचायत कार्यालय पहुंचकर जनपद पंचायत सीईओ राजेश खरे तथा तहसीलदार पुष्पेंद्र निगम को ज्ञापन दिया। आक्रोशित महिलाओं ने ग्राम पंचायत धबोटी के दलितों के घरों में तत्काल टॉयलेट निर्माण की मांग की है। इनके साथ महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष आरती खंगराले भी थीं। ज्ञापन में कहा गया है कि तत्काल अगर दलितों के घरों में टॉयलेट का निर्माण नहीं किया गया तो महिलाएं कलेक्टर कार्यालय के समक्ष अनिश्चितकालीन धरना देकर भूख हड़ताल करेंगी। 

जिला पंचायत के सीईओ राजेश खरे ने इन महिलाओं को तत्काल शौचालय निर्माण का आश्वासन दिया। इस अवसर पर राजीव गांधी युवा मंच के प्रदेश अध्यक्ष कुतुबूद्दीन शेख, सैय्यद महमूद अली, डॉ. मो. रागीव सलीम, ललिता बाई, सुशीला बाई, अनसुईया, बसंती बाई आदि मौजूद थीं।

दैनिक जागरण

दाखिला न देने का लगाया आरोप

http://www.jagran.com/haryana/jhajjar-12636377.html

जागरण संवाददाता, झज्जर : पूर्व में अपनी कार्यप्रणाली को लेकर स्कूल स्टॉफ के सदस्यों व छात्रों के साथ ग्रामीणों की आखों किरकिरी बने गाव बिरधाना के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के मिडिल हैड ने एक बार फिर दबंगई का परिचय दिया है। इसी स्कूल से पाचवीं कक्षा पास कर चुके एक दलित छात्र को पढ़ाई में कमजोर बताते हुए छठी कक्षा में प्रवेश देने से इकार करने के साथ मिडिल हैड ने छात्र के परिजनों को होटल आदि में बर्तन साफ करने जैसे कार्य करवाने की नसीहत भी दे डाली।

यह अलग बात है कि 14 साल से कम उम्र के बच्चों को काम पर लगाना बाल श्रम के तहत अपराध माना जाता है। छात्र के दाखिले को लेकर जिला उपायुक्त तक गुहार लगा चुके परिजनों की शिकायत पर अधिकारियों तक ने दाखिला देने का भरोसा दिलाया, लेकिन परिजनों की माने तो मिडिल हैड ने स्पष्ट धमकी दी है कि वे कुछ भी कर लें, लेकिन छात्र का दाखिला वे इस स्कूल में नहीं होने देंगे।

गाव बिरधाना निवासी राजेश ने मंगलवार को जिला उपायुक्त को दी शिकायत में बताया कि उसके पुत्र दीपाशु ने इसी वर्ष गाव के स्कूल से ही पाचवीं कक्षा पास की है। अप्रैल माह के शुरू में जब वह अपने लड़के को छठी क्लास में दाखिला दिलाने के लिए गया तो स्कूल के मिडिल हैड ने उसे जातिसूचक शब्द कहकर अपमानित करते हुए कहा कि उसका लड़का पढ़ाई में कमजोर है और उसे छठी कक्षा में दाखिल नहीं किया जा सकता। इतना ही नहीं शिकायत के अनुसार स्कूल हैड ने यह भी कहा कि छात्र की पढ़ाई-लिखाई का कोई फायदा नहीं है और इसे मजदूरी या फिर कहीं होटल आदि में बर्तन साफ करने जैसे कार्यो में लगा दो। राजेश ने जब इन बातों का विरोध करते हुए ऊपर शिकायत करने की बात कही तो मिडिल हैड ने कहीं तक चले जाने की धमकी देते हुए दाखिला देने से स्पष्ट मना कर दिया।

हैरानी की बात तो यह है कि स्कूल के प्राचार्य ने भी बाकायदा लिखित रूप से छात्र को दाखिल करने की हिदायत दी, लेकिन स्कूल प्राचार्य की हिदायतों के साथ-साथ जिला शिक्षा अधिकारी के आदेशों को भी हवा में उड़ा दिया। जिला उपायुक्त ने मंगलवार को एक बार फिर जिला शिक्षा अधिकारी को पूरे मामले पर संज्ञान लेते हुए छात्र का दाखिला सुनिश्चित करने के आदेश दिए हैं।

ग्रामीणों ने की तबादले की माग

पीड़ित छात्र के पिता के साथ जिला उपायुक्त से मिलने पहुंचे ग्रामीणों ने मिडिल हैड पर अनेक आरोप लगाते हुए उसके तबादले की भी माग की है। ग्रामीणों के अनुसार मिडिल हैड न सिर्फ स्कूल स्टॉफ के अन्य सदस्यों के साथ आए दिन नोंक-झोंक करता रहता है। इससे स्कूल का माहौल खराब हो रहा है, बल्कि गाव के खिलाडि़यों के लिए बने खेल मैदान में खिलाड़ियों को जाने से भी रोकता है। इतना ही नहीं मिडिल हैड ने दौड़ करने वाले खिलाड़ियों के लिए बने ट्रेक व वालीबाल के लिए बने मैदान में पौधे लगाने के नाम पर गड्ढे खुदवा दिए है, जिससे खिलाड़ियों के सामने अभ्यास करने की समस्या आ खड़ी हुई है। ग्रामीणों के अनुसार मिडिल हैड बीते लंबे समय से परेशानी का सबब बना हुआ है, लेकिन बार-बार शिकायत करने के बावजूद उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

दैनिक जागरण

पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम बंद न होने देंगे : पीएसएफ

http://www.jagran.com/punjab/jalandhar-city-12637644.html

जालंधर : दलित विद्यार्थियों को प्राप्त पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम को किसी कीमत पर बंद नहीं होने दिया जाएगा। यह बात पंजाब स्टूडेंट्स फेडरेशन (पीएसएफ) की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कही गई। अगर सरकार ने अपना फैसला वापस न लिया तो 28 जुलाई को पूरे पंजाब में अर्थी फूंक प्रदर्शन किए जाएंगे।

पंजाब स्टूडेंट्स फेडरेशन व शहीद भगत सिंह नौजवान सभा पंजाब हरियाणा द्वारा जारी किए संयुक्त प्रेस बयान में अजय फिल्लौर, रोजदीप कौर व नौजवान सबा के स्टेट प्रधान जसविंदर ढेसी, मंदीप रतिया, प्रेस सचिव बलदेव सिंह पंडोरी ने कहा कि पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम विद्यार्थियों द्वारा किए लंबे संघर्ष के बाद प्राप्त हुई है। स्कीम के अनुसार 2.50 लाख से कम आमदन वाले दलित लोगों के बच्चों की शिक्षा पूरी तरह मुफ्त है तथा उपरोक्त विद्यार्थियों से किसी भी तरह की फीस नहीं ली जा सकती।

बावजूद इसके राज्य सरकार द्वारा जारी एक नोटीफिकेशन अनुसार अब दलित विद्यार्थियों से पूरी फीस वसूली जाएगी। ऐसा फैसला आने से करीब तीन लाख दलित विद्यार्थियों का भविष्य दांव पर लग गया है। उन्होंने कहा कि सरकार के इस फैसले के खिलाफ 28 जुलाई को पूरे पंजाब में पुतले फूंक प्रदर्शन किए जाएंगे और अगर सरकार ने अपना फैसला वापस लिया तो संघर्ष तेज किया जाएगा।

दैनिक जागरण

दिल्ली पुलिस कमिश्नर को आयोग ने किया तलब

http://www.jagran.com/punjab/amritsar-12639182.html

अमृतसर : दिल्ली के चर्चित मीनाक्षी हत्याकाड मामले में राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष डॉक्टर राजकुमार वेरका ने दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर असंतुष्टि और नाराजगी जताते हुए 27 जुलाई को पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी को नोटिस जारी कर आयोग के दफ्तर में तलब किया है। डॉक्टर वेरका ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को भी नोटिस जारी कर दलित पीड़ित परिवार को 20 लाख रुपये का रिलीफ फंड, परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी तथा पीड़ित परिवार के बीमार सदस्यों का मुफ्त इलाज कराने के निर्देश दिए हैं।

पंजाबी बस्ती नई दिल्ली की रहने वाली मीनाक्षी के पिता राजकुमार तथा मीनाक्षी की मां उषा देवी ने आयोग के उपाध्यक्ष डॉक्टर राजकुमार वेरका के समक्ष वीरवार को दिल्ली में अपने बयान रिकॉर्ड करवाए। डॉक्टर वेरका पीड़ित परिवार के बयान रिकॉर्ड करने के बाद दिल्ली पुलिस से खफा दिखे। पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी को मारने वाले मुख्य आरोपी जयप्रकाश और इलू थे और उनके साथ उनकी मां शशि भी शामिल थी जो उनके पड़ोस में रहती हैं।

पुलिस ने एफआइआर में सिर्फ लड़कों का नाम ही रखा, जबकि मुख्य साजिश रचने वाली शशि को एफआइआर से बाहर रखा। इस मामले में मुख्य गवाह कमलेश के बयान भी पुलिस ने दर्ज नहीं किए। पीड़ित परिवार ने उक्त आरोपियों के खिलाफ थाना आनंद पर्वत में एक शिकायत पहले भी दर्ज करवाई थी, लेकिन पुलिस ने कोई उचित कार्रवाई नहीं की। अगर उस वक्त पुलिस गंभीरता से कार्रवाई करती तो शायद मीनाक्षी जिंदा होती। वेरका इन सभी बातों पर पुलिस विभाग से नाराज दिखे। मीनाक्षी के पिता खुद कैंसर के मरीज हैं और उनकी पत्‍‌नी शुगर की मरीज।

डॉक्टर वेरका ने दिल्ली के मुख्यमंत्री को नोटिस जारी कर पीड़ित परिवार को 20 लाख रुपये देने को कहा है। डॉक्टर वेरका ने कहा कि केजरीवाल विज्ञापन में 526 करोड़ रुपये खर्च सकते हैं तो एक दलित परिवार की मदद करने में इतना सोच विचार क्यों? सिर्फ 5 लाख रुपये का मुआवजा पीड़ित परिवार के लिए काफी नहीं है। परिवार के एक सदस्य को भी दिल्ली सरकारी नौकरी दे। राजकुमार और उनकी पत्नी उषा का मुफ्त में इलाज भी करवाया जाए।

नई दुनिया

बांदकपुर सरपंच पर देर रात मामला दर्ज

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/damoh-dmoh-news-430704

दमोह। जिले के ग्राम पंचायत बांदकपुर की दलित सरपंच पूनाबाई द्वारा बुधवार की दोपहर गांव के ही प्राइमरी स्कूल में पदस्थ हेडमास्टर हीरा सींग ठाकुर को थप्पड़ व चप्पल से पीटने के मामले में देर रात ही सरपंच पर शासकीय कार्य में अभद्रता समेत मारपीट की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया। इसके अलावा गुरुवार को संकुल केंद्र में हुई बैठक में मौजूद प्राचार्य समेत शिक्षकों ने घटना के विरोध में आक्रोश जताया।

प्राइमरी स्कूल बांदकपुर में मध्यान्ह भोजन व्यवस्था के तहत कुछ दिनों पहले जिला पंचायत द्वारा गांव के पारस स्वसहायता समूह को जिम्मेदारी सौंपी थी। जिसके तहत ही स्वासहायता के पदाधिकारी बुधवार की दोपहर स्कूल में पहुंचे थे। जहां पर पहुंची बांदकपुर सरपंच पूनाबाई अहिरवाल ने प्राइमरी स्कूल के हेडमास्टर हीरा सींग ठाकुर पर मध्या- भोजन का अनुबंध ग्राम पंचायत से हटाने की बात कहते हुए चप्पलों से पिटाई कर दी थी। मामले के तहत पहले तो सरपंच ने लिखित रूप में माफीनामा लिखा था, लेकिन मामला मीडिया में आ जाने के बाद देर रात हिंडोरिया थाने में आरोपी सरपंच के खिलाफ धारा 353, 181 का मामला दर्ज किया गया।

गांव में नहीं दिखीं सरपंच

बुधवार की रात मामला दर्ज होने की जानकारी मिलने के बाद गुरुवार की सुबह से ही सरपंच गांव में नजर नहीं आईं। मामला दर्ज होने के बाद अब जहां गांव की चौपालों पर सरपंच पद पर रहते हुए जेल जाने की बात हो रही हैं। वहीं, घटना के बाद समूचे शिक्षक वर्ग में आक्रोश व्याप्त है। गुरुवार को संकुल केंद्र में हुई बैठक में पहुंचे अनेक शिक्षकों ने घटना को गलत बताते हुए जिला प्रशासन से तत्काल ही सरपंच पद से पृथक करते हुए कार्रवाई की मांग की।

आज सौंपेगा ज्ञापन

स्कूल में घुसकर शिक्षक को पीटने के मामले के विरोध में और बांदकपुर सरपंच की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अध्यापक संघ द्वारा आज शुक्रवार को एक लिखित ज्ञापन कलेक्टर के नाम सौंपा जाएगा। इस ज्ञापन में पहुंचने की अपील अध्यापक संघ अध्यक्ष आरिफ अंजुम के साथ-साथ पारस जैन, सुरेंद्र, गणेश दुबे, आलोक सोनवलकर, प्रमोद असाटी, देवेंद्र ठाकुर समेत अन्य लोगों ने शिक्षकों से की है।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s