दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 10.07.15

दलित महिला को पीटकर कपड़े फाड़ने का आरोप – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/bareilly/police-station-hindi-news-3/

दलित इंजिनियर की हत्या जातीय हिंसा  नवभारत टाइम्स

http://navbharattimes.indiatimes.com/state/other-states/bangalore/chennai/dalit-engineer-is-murdered-for-belonging-to-dalit-caste/articleshow/48004620.cms

SC कमिशन ने कहा, दलित इंजीनियर की हत्या गंभीर मामला – नवभारत टाइम्स

http://navbharattimes.indiatimes.com/india/sc-commission-said-the-killing-of-dalit-engineer-severe-case/articleshow/48007528.cms

दलित अत्याचार निवारण समिति का अनिष्चितकालीन धरना १३ से – प्रेस नोट

http://www.pressnote.in/barmer-news-_278718.html

दलित उत्थान में डॉ. अंबदेकर की भूमिका महत्वपूर्ण : कुलपति – दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/bihar/muzaffarpur-12578362.html

लोगों ने चारों तरफ़ से गांव को घेरकर जला दिए दलितों के घर तीसरी जंग

http://teesrijungnews.com/state/

अधिकारी दलित का नाम अभिलेखों में न होने का बना रहे बहाना – वीर अर्जुन

http://www.virarjun.com/DisplayNews.aspx?newsid=162359&news

मुख्यमंत्री निवास का घेराव करेंगे दलित छात्र – नईदुनिया

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/guna-guna-news-420542

Please Watch:

Gandhi’s letter to Hitler, read by Clarke Peters

In celebration of London’s Letters Live season, BBC Newsnight invited actor Clarke Peters to read a letter written by Mahatma Gandhi to Adolf Hitler.

 Written just one month before the German invasion of Poland, the letter never reached its intended recipient.

http://www.bbc.com/news/entertainment-arts-32156733

अमर उजाला

दलित महिला को पीटकर कपड़े फाड़ने का आरोप

http://www.amarujala.com/news/city/bareilly/police-station-hindi-news-3/

मीरगंज। फतेहगंज पश्चिमी के पनवड़िया गांव की दलित महिला ने बैंक के बिचौलिया पर चप्पलों से पीटने और कपड़े फाड़ने का आरोप लगाते हुए डीआईजी से शिकायत की है। डीआईजी ने एसएसपी को जांच के आदेश दिए हैं।

रामबेटी सागर ने आरोप लगाया कि मोहल्ला अहमदनगर फतेहगंज पश्चिमी का मेराजुद्दीन बैंकों से कमीशन पर लोन दिलवाने का काम करता है। मेराजुद्दीन ने दो माह पहले उससे बेटी की शादी के लिए बड़ौदा उप्र ग्रामीण बैंक नगर शाखा से एक लाख का लोन मंजूर करवाने के लिए 10 फीसदी कमीशन बतौर दस हजार लिए थे। बैंक से लोन नहीं मिला तो रिश्तेदारों से रुपये उधार लेकर और जेवरात गिरवी रखकर जैसे-तैसे बेटी का ब्याह कर दिया।

आरोप है कि पांच जुलाई 2015 की शाम साढ़े छह बजे रामबेटी अपने पति के साथ कस्बे के बाईपास लिंक रोड के दक्षिणी रास्ते से घर लौट रही थी तो मेराजुद्दीन ने अपने बेटों फयाजुद्दीन, राजू, निजामुद्दीन की मदद से दोनों को रोक लिया और जातिसूचक गाली गलौज कर दोनों को जमकर पीटा। कपड़े भी फाड़े गए। डीआईजी ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी धर्मवीर यादव को निष्पक्ष जांच करवाकर दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

मामला आपसी विवाद का है। एसएसपी से जांच कराकर निष्पक्ष कार्रवाई करने को कहा गया है। आरोप सही पाए गए तो दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी- आरकेएस राठौर, डीआईजी

नवभारत टाइम्स

दलित इंजिनियर की हत्या जातीय हिंसा

http://navbharattimes.indiatimes.com/state/other-states/bangalore/chennai/dalit-engineer-is-murdered-for-belonging-to-dalit-caste/articleshow/48004620.cms

तमिलनाडु में हाल में एक दलित इंजीनियर की हत्या को जाति संबंधित हिंसा बताते हुए राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (एनसीएससी) ने गुरुवार को कहा कि इसे महज हत्या बताकर नजरंदाज नहीं किया जा सकता और दोषियों के खिलाफ कानूनी प्रावधानों के तहत कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिये । 

एनसीएससी अध्यक्ष पी एल पुनिया ने कहा कि पिछले सप्ताह नामक्कल में दलित इंजीनियर गोकुलराज की हत्या एक गंभीर मामला है। राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता के बाद पूनिया ने संवाददाताओं से कहा, ‘यह एक गंभीर मामला है। इस मामले में कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। इसे हत्या बताकर नजरंदाज नहीं किया जा सकता।’

उन्होंने कहा कि कानूनी प्रावधानों- आईपीसी की धारा 302 हत्या या एससी, एसटी अत्याचार रोकथाम कानून लगाना ही पर्याप्त नहीं होगा बल्कि गुंडा कानून या राज्य का कठोर कानून भी दोषियों पर लगाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘यह जाति संबंधी हिंसा है और यह फैल सकती है। राज्य सरकार को इसे रोकना चाहिए।’ 

27 जून को नामक्कल जिले के पल्लीपालयम के निकट रेलवे लाइन पर गोकुलराज का शव पाए जाने के बाद उनके रिश्तेदारों ने प्रदर्शन किया था और इसे इज्जत की खातिर हत्या का मामला बताया था। संदेह है कि हत्या का कारण दूसरी जाति की एक लड़की से प्रेम संबंध हो सकता है। इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है । 

नवभारत टाइम्स

SC कमिशन ने कहा, दलित इंजीनियर की हत्या गंभीर मामला

http://navbharattimes.indiatimes.com/india/sc-commission-said-the-killing-of-dalit-engineer-severe-case/articleshow/48007528.cms

भाषा, चेन्नै : तमिलनाडु में दलित इंजीनियर की हत्या को जाति संबंधित हिंसा बताते हुए राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (एनसीएससी) ने गुरुवार को कहा कि इसे महज हत्या बताकर नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। दोषियों के खिलाफ कानूनी प्रावधानों के तहत कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। एनसीएससी अध्यक्ष पी. एल. पुनिया ने कहा कि पिछले हफ्ते नामक्कल में दलित इंजीनियर गोकुलराज की हत्या ‘गंभीर मामला’ है, जिसमें कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। इसे हत्या बताकर नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

इस मामले में आईपीसी की धारा 302 (हत्या) या एससी-एसटी एक्ट (अत्याचार रोकथाम कानून) लगाना ही पर्याप्त नहीं, बल्कि गुंडा कानून या राज्य का कठोर कानून भी दोषियों पर लगाया जाना चाहिए। संदेह है कि हत्या का कारण दूसरी जाति की एक लड़की से प्रेम संबंध हो सकता है। इस मामले में 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

प्रेस नोट

दलित अत्याचार निवारण समिति का अनिष्चितकालीन धरना १३ से

http://www.pressnote.in/barmer-news-_278718.html

बाडमेर, दलित अत्याचार निवारण समिति ने मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर दलितों पर उत्पीडन के आपराधिक प्रकरणों में पुलिस द्वारा कार्यवाही नही किए जाने पर रोश जताते हुए १३ जुलाई से जिला मुख्यालय पर अनिश्चितकालीन धरने की चेतावनी दी है।

दलित अत्याचार निवारण समिति के संयोजक उदाराम मेघवाल की अगुवाई में दलित समाज के लोगों ने गुरूवार को जिला कलक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि बाडमेर जिले में दलित समुदाय के परिवारों पर आये दिन होने वाले जुल्मों की घोर अनदेखी की जाकर पीडतों के साथ नाइंसाफी की जा रही हैं। पुलिस के इस रवैये से दलित समुदाय मे जबरदस्त आक्रोश एवं विरोध हैं।

ज्ञापन के मुताबिक भेडाणा की दलित सरपंच हस्तुदेवी मेघवाल, इटादा निवासी नबूदेवी पत्नी भंवराराम मेघवाल, बाडमेर आगोर निवासी बबरी देवी पत्नी बाबूलाल मेघवाल, श्रवणराम पुत्र गाजीराम जाति मेघवाल निवासी गुमाने का तला, अरूण पुत्र मनोज कुमार वाल्मिकी के अपहरण के मामले में पुलिस की ओर से आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही नहीं की जा रही है। इनमें से कुछ मामलों में पीडत पक्ष के खिलाफ मामले दर्ज किए गए है। वहीं कुछ मामलों में धारा १६४ सीआरपीसी के बयान दर्ज होने के बाद भी आरपियों की गिरफतारी नहीं हो पाई है। ज्ञापन में बताया कि बाडमेर जिले के अनुसूचित जाति एवं जन जाति के निवार्चित महिला जन प्रतिनिधियों, अन्य महिलाओं और गरीब लोगों पर आए दिन अत्याचारों की घटनाओं में लगातार वृद्वि हो रही है।

पुलिस प्रशासन में दर्ज प्रकरणों में कोई त्वरित एवं न्यायिक कार्यवाही नहीं होने से इस वर्ग में भारी असंतोष एवं भय व्याप्त है। ज्ञापन में आरोप लगाया कि उत्पीडन की घटनाओं की पुलिस लगातार अनदेखी कर पहुंच वाले लोगों को सरंक्षण दे रही हैं। अतः पुलिस के इस रवैये से नाराज होकर दलित समुदाय के लोग सोमवार से बेमियादी धरना देंगे। ज्ञापन में इन प्रकरणों के आरोपियों को तत्काल गिरफतार कर पीडतों को न्याय एवं सहायता दिलाने एवं लापरवाह बरतने वाले अनुसंधान अधिकारियों के खिलाफ भी कार्यवाही की मांग की गई है।

दैनिक जागरण

दलित उत्थान में डॉ. अंबदेकर की भूमिका महत्वपूर्ण : कुलपति

http://www.jagran.com/bihar/muzaffarpur-12578362.html

मुजफ्फरपुर : बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. पंडित पलांडे ने कोल्हापुर के राजा छत्रपति साहूजी महाराज द्वारा दलितों के उत्थान के लिए किए गए कार्यो की विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि साहूजी महाराज ने दलितों के उत्थान के लिए कई कदम उठाए थे। वे विवि के सीनेट हॉल में अंबेदकर जयंती पर मानवाधिकार की प्राप्ति में डॉ. अंबेदकर की भूमिका विषय पर संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। बिहार प्रदेश राजद अध्यक्ष सह पूर्व शिक्षा मंत्री रामचंद्र पूर्वे ने संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि यूएनओ ने मानव अधिकार आयोग की स्थापना 10 दिसंबर 1948 को किया।

डॉ. अंबेदकर ने नैसर्गिक अधिकार एवं शाश्वत अधिकार दोनों के सम्मिश्रण से लीगल राइट को अस्तित्व में लाया। मानवाधिकार की क्रांति के कारण ही बराक ओबामा अमेरिका के राष्ट्रपति बन पाए। डॉ. पूर्व ने कहा कि डॉ. अम्बेदकर पुरुष ही नहीं महिलाओं के अधिकार के प्रति भी संवेदनशील थे। मनोविज्ञान विभाग के डॉ. अलका जायसवाल ने मानवाधिकार एवं संविधान में नीति निर्देशक तत्वों पर डॉ. अंबेदकर की ओर से किए गए प्रावधानों एवं महिलाओं के अधिकार में ह्ययूमन राइट के योगदान पर चर्चा की।

डॉ. राम इकबाल राम ने कहा कि मानवाधिकार नियम बना लेने से समाज का कल्याण नहीं हो सकता। प्रतिकुलपति डॉ. प्रभा किरण ने कहा कि डॉ. अंबेदकर बचपन से ही तीक्ष्ण बुद्धि के थे। समाज में अपमान सहन करने के बाद भी उन्होंने समाज में उच्च स्थान प्राप्त करने के लिए आजीवन संघर्ष किया। दलित उत्थान के लिए बहिष्कृत हितकारिणी सभा की स्थापना की।

संगोष्ठी को कुलसचिव डॉ. रत्नेश मिश्रा, पूर्व मंत्री डॉ. शीतल राम , डॉ. हरिनारायण ठाकुर, कुमोद पासवान, डॉ. एचसी सत्यार्थी, राजद जिलाध्यक्ष चंदन यादव, राजद अध्यक्ष दीपक ठाकुर, डॉ. विजय कुमार जायसवाल, उमाशंकर दास आदि ने भी संबोधित किया।

तीसरी जंग

लोगों ने चारों तरफ़ से गांव को घेरकर जला दिए दलितों के घर

http://teesrijungnews.com

फलौदी।राजस्थान के जोधपुर के समीप स्थित सांवरीज गांव के लोग पूरी रात दहशत में रहे।यहां हिरण के शिकार की अफवाह उड़ी तो गुस्साए लोगों ने गांव घेरकर कई दलितों के घर फूंक दिए।रात करीब 9 बजे फलौदी पुलिस घटना को सूचना मिली तो थानाधिकारी सुरेंद्र कुमार व अन्य की टीम मौके पर पहुंची। तब तक मौके पर तकरीबन 400 लोगों की भीड़ जमा हो चुकी थी।पुलिस ने पीड़ित परिवार के लोगों को बाहर निकालने का प्रयास किया तो भीड़ ने पुलिस पर भी पथराव किया।इससे थानाधिकारी सहित तीन पुलिस कर्मचारियों को चोटें आईं।पुलिस ने बड़ी मुश्किल से पीड़ित परिवार के सभी 27 सदस्यों को वहां से बाहर निकाला।

मामले की जानकारी मिलने पर एसपी (ग्रामीण) हरेंद्र कुमार महावर, एएसपी (फलौदी) सत्येंद्र पाल सिंह, डीएसपी सायर सिंह व अन्य अधिकारी देर रात मौके पर पहुंचे।जबकि कलेक्टर प्रीतम बी यशवंत सोमवार सुबह घटना स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे।

 तत्पश्चात उन्होंने एडीएम आरडी बारठ के साथ फलौदी के राइका बाग इलाके में स्थित भील समाज के न्याति नोहरे में पीड़ित परिवार के लोगों से मुलाकात कर पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली।घटना के संबंध में सांवरीज निवासी भोजाराम की रिपोर्ट पर फलौदी पुलिस ने महिपाल भादू, प्रकाश विश्नोई, बक्सीराम विश्नोई, प्रकाश विश्नोई, हड़मान राम, महिपाल उदाणी सहित 43 लोगों को नामजद किया है।मामले की जांच ओसियां उप अधीक्षक को सौंपी गई है।इस संबंध में कलेक्टर ने मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए कहा कि पीड़ित परिवार को पूरी सुरक्षा देकर उनका पुनर्वास किया जाएगा इस प्रकरण में किसी भी आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस के अनुसार रविवार को सांवरीज के पास एक हिरण मिला, जिसके पैर में कुड़की लगी थी वन्यजीव प्रेमियों ने इसे फलौदी स्थित रेस्क्यू सेंटर पहुंचाया। इसके बाद किसी ने हिरण के शिकार होने की अफवाह उड़ा दी और लोग आक्रोशित हो गए।जहां हिरण मिला था उससे करीब दो-ढाई किमी दूर भोजाराम भील के परिवार पर शिकार का शक करते हुए भीड़ ने ढाणी को घेर लिया।

 कुछ ही देर में झोपडिय़ों को आग लगा दी।भील समाज के सचिव जीवनराम भील, पूर्व सरपंच फूलाराम भील, दलित अधिकार अभियान के सचिव अशोक कुमार, गोरधन जयपाल, पंस सदस्य उम्मेदाराम भील, बलाराम भील, जयगोपाल मेघवाल ने कलेक्टर व एसपी (ग्रामीण) से मुलाकात कर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही और पीड़ित परिवार को राहत दिलाने की मांग की है।वहीं दलित आदिवासी मानवाधिकार मंच के संयोजक जीवनराम भील ने 10 जून को भील समाज के न्याति नोहरा में महापड़ाव की घोषणा की है।

 ढाणी पर हमले में पुरखाराम (35) पुत्र पाबूराम, कानाराम (50) पुत्र मूलाराम, रामाराम (55) पुत्र भोजाराम, नारायणराम (35) वर्ष पुत्र रुघाराम व जेठाराम (30) पुत्र नारायणराम गंभीर रूप से घायल हो गए।इन्हें फलौदी अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद जोधपुर रेफर कर दिया गया।गरीब परिवार का आशियाना उजड़ा, तो एसडीएम राकेश कुमार ने स्थानीय व्यापार संघ के अध्यक्ष राधाकिशन थानवी सहित अन्य से बातचीत की।व्यापार संघ ने दलित परिवार को तात्कालिक राहत पहुंचाने के लिए 21 हजार रुपए पीड़ित परिवार को दिए।

वीर अर्जुन

अधिकारी दलित का नाम अभिलेखों में न होने का बना रहे बहाना

http://www.virarjun.com/DisplayNews.aspx?

हाथरस । सासनी के गांव अजरोई में बनाई गई पेयजल परियोजना के निर्माण में भले ही फ्रशासनिक अधिकारी दलितकानाम उनके राजस्व अभिलेखों में दर्ज न होने का बहाना बना रहे हों, लेकिन वह यह अच्छी तरह जानते हैं कि कानूनन1975 से पहले से काबिज दलितों को ग्राम पंचायत की भूमि से बेदखल नहीं किया जा सकता है।

अजरोई फ्रकरणफ्रशासनकी मनमानी के विरोध में पहले ही कोर्ट की शरण में जा चुका है। अब मारपीट फ्रकरण के बाद यह मामला मुख्यमंत्री केपास भी भेजा गया है, जिसमें फ्रशासन की भूमिका पर भी उंगली उ”ाई गई है। 

अजरोई के गोधना पुत्र देविया को ग्रामफ्रधान की रसीद के आधार पर 1973 में ही खसरा संख्या 57 में कब्जा मिल गया था। पीड़ित अनुसूचित जाति के खटीक समाज से है।

ऐसे में कानून में भी उन्हें बेदखली करने का अधिकार नहीं दिया गया है। जमींदारी विनाश अधिनियम बनातेसमय 122 में कुछ फ्रावधान दिए गए हैं, जिसमें यह स्पष्ट कहा गयाहै कि अगर अनुसूचित जाति का कोई व्यक्ति ग्रामसमाज की जमीन पर 1975 से पूर्व से काबिज है तो उसे बेदखल नहीं किया जा सकताहै। 

इतना ही नहीं इसका संज्ञानआने के बाद जिला कलक्टर इस भूमि को तीन माह के अंदर उसके पक्ष में दाखिल करेंगे,लेकिन यहां तो इस दलित कोजमीन से बेदखल करने के लिए वहां पर पेयजल परियोजना लगवाई गई। विरोध का परिणाम शांति भंग के रूप में झेलनापड़ा। अब फ्रशासन मामला कोर्ट में होने की वजह से अपने बचाव में जुटा है।कलक्टर व डिप्टी कलक्टर इस मामले में जमीन को राजस्व अभिलेखों में उसके नाम न होने का मामला बताकर अलग-थलग हो गए हैं।

नईदुनिया

मुख्यमंत्री निवास का घेराव करेंगे दलित छात्र

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/guna-guna-news-420542

गुना(ब्यूरो)। छात्रवृत्ति न मिलने के कारण परेशान हो रहे पीजी कॉलेज के दलित छात्र अब मुख्यमंत्री निवासी का घेराव करेंगे। छात्र शिवराम सिंह सूर्या, नरेंद्र मोहनी, धर्मेंद्र सिंह करैया, उर्मिला पटेलिया, पिंकी भील, रणजीत सिंह भिलाला, लालाराम लोधा, सोनिया जाटव ने बताया कि आवास योजना के तहत उन्हें राशि का वितरण नहीं किया गया है। उनके जैसे 650 छात्रों को भी इस योजना का लाभ नहीं मिला है।

इसके लिए उन्होंने पिछले दिनों धरना दिया और प्रदर्शन किया, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। छात्रों ने उच्च शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता के गुना आगमन पर मंत्रीजी का भी घेराव कर ज्ञापन सौंपा, लेकिन अब तक छात्रवृत्ति नहीं मिल सकी है। छात्रों ने बताया कि यदि अब सात दिवस के भीतर उन्हें छात्रवृत्ति का वितरण नहीं होता है, तो वे अपने पालकों के साथ भोपाल पहुंचकर मुख्यमंत्री निवासी का घेराव करेंगे।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s