दलित मीडिया वाच- हिंदी न्यूज़ अपडेट 05.07.15

दलित मीडिया वाच

हिंदी न्यूज़ अपडेट  05.07.15

डॉक्टर की लापरवाही से गयी महिला की जान – प्रभात खबर

http://www.prabhatkhabar.com/news/kaimur/story/504342.html
हैंडपंप खराब, 50 परिवार परेशान – दैनिक भास्कर
http://www.bhaskar.com/news/MP-MUR-MAT-latest-morena-news-044027-2195581-NOR.html
मेघवंशी और टाक का स्वागत – दैनिक भास्कर
http://www.bhaskar.com/news/RAJ-OTH-MAT-latest-beawer-news-021003-2193035-NOR.html
दलितों को बसपा का वोट बैंक कहना गलत : सुभाष पासी अमर उजाला
http://www.amarujala.com/news/city/azamgarh/azamgarh-hindi-news/dalits-bsp-s-vote-wrong-subhash-passi-hindi-news/
बेघरों के घर सेउदय नारायण चैधरी के कार्य को निहारने का प्रयास आर्यावर्त
http://www.liveaaryaavart.com/2015/07/uday-narayan-chaudhry-mahadalit-work.html

Please Watch:

Danny Glover Reads Frederick Douglass

Actor Danny Glover reads abolitionist Frederick Douglass’s “Fourth of July Speech, 1852” on October 5, 2005 in Los Angeles, California.

https://www.youtube.com/watch?t=55&v=mb_sqh577Zw

 

प्रभात खबर

डॉक्टर की लापरवाही से गयी महिला की जान

http://www.prabhatkhabar.com/news/kaimur/story/504342.html

सदर अस्पताल में शुक्रवार को हुई दलित महिला की मौत और उसके बाद पुलिस द्वारा की गयी कार्रवाई पर युवा जोश के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को विरोध प्रकट करते हुए स्थानीय समाहरणालय के मुख्य द्वार पर धरना दिया. समाहरणालय पर युवा जोश के कार्यकर्ताओं द्वारा दिये गये धरने का नेतृत्व युवा जोश के प्रमुख विकास सिंह उर्फ लल्लू पटेल ने किया. युवा जोश प्रमुख लल्लू पटेल ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सदर अस्पताल में महिला चिकित्सक की लापरवाही से ही दलित गरीब महिला की मौत हुई है.

सदर अस्पताल की व्यवस्था से यहां आये दिन मरीज और उनके परिजन डॉक्टरों और कर्मियों द्वारा प्रताड़ित किये जाते हैं. वहीं, अक्सर कर्मचारी भी अपनी ड्यूटी से फरार रहते हैं. उन्होंने शुक्रवार की घटना में पुलिस द्वारा सड़क जाम करने के दौरान की गयी लाठी चार्ज की भर्त्सना करते हुए लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पत्रकारों पर भी हमला किये जाने की तीव्र निंदा की.

युवा जोश के कार्यकर्ताओं ने जिला प्रशासन के समक्ष अपनी पांच सूत्री मांगों को रखा, जिसमें महादलित पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा देने, कार्यालय व सदर अस्पताल में व्याप्त भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने सदर अस्पताल की विधि व्यवस्था बेहतर करने, आरोपित महिला डॉक्टर पर लापरवाही के जुर्म में कार्रवाई करने तथा पत्रकार पर हमला करनेवाले पुलिसकर्मी को चिह्न्ति कर उस पर कार्रवाई करने की मांग की. युवा जोश द्वारा धरना कार्यक्रम के दौरान युवा जोश प्रमुख के अलावा पार्टी के कोषाध्यक्ष राशिद रोशन, ब्रजेश राम, अक्षय पासवान, धर्मराज पटेल, कमर  खां, अरविंद गोंड व बंधु साहनी सहित सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित थे.

दैनिक भास्कर

हैंडपंप खराब, 50 परिवार परेशान

http://www.bhaskar.com/news/MP-MUR-MAT-latest-morena-news-044027-2195581-NOR.html

मुरैना| लल्लू बसई गांव की दलित बस्ती में हैंडपंप खराब होने से हालात खराब हुए हैं। यहां ताल के पास की इस बस्ती में हैंडपंप ने पानी देना बंद कर दिया है। इसलिए लोग दूसरी बस्तियों के हैंडपंपों पर जाने को निर्भर हैं। जबकि वहां पहले से ही लोगों की कतार हैंडपंपों पर लगती रहती है। 

 दैनिक भास्कर

मेघवंशी और टाक का स्वागत

http://www.bhaskar.com/news/RAJ-OTH-MAT-latest-beawer-news-021003-2193035-NOR.html

ब्यावर | सरोजनीनायडू अवार्ड से सम्मानित लेख भंवरसिंह मेघवंशी और आरटीआई मंच राजस्थान के संयोजक एडवोकेट कमल टाक का शनिवार को ब्यावर में सामाजिक कार्यकर्ता महेंद्र मेघवंशी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। मेघवंशी टाक जयपुर से कुंभलगढ़ जाते समय कुछ समय के लिए ब्यावर में रुके थे। मेघवंशी ने दलितों के मुद्दों पर प्रकाश डालते हुए नागौर जिले के डांगावास गांव में हुए दलित नरसंहार की वस्तुस्थिति स्पष्ट की। उनकी लिखित चर्चित पुस्तक डांगावास दलित संहार (राष्ट्र के नाम एक रिपोर्ट) प्रदेश सहित देश में सुर्खियों में है। इस मौके पर एडवोकेट संजय नाहर, मेघराज बोहरा, अभिमन्यु सिंह चौहान, शक्ति सिंह, अशोक सारस्वत, जगदीश मेघवाल, कन्हैयालाल मेघवाल आदि मौजूद थे।

अमर उजाला

दलितों को बसपा का वोट बैंक कहना गलत : सुभाष पासी

http://www.amarujala.com/news/city/azamgarh/azamgarh-hindi-news/dalits-bsp-s-vote-wrong-subhash-passi-hindi-news/

acr300-559836a1c6cc504azm09p_3990914_c1

आजमगढ़। सूबे के सभी मंडलों में आयोजित होने वाले दलित सम्मेलन की शुरूआत आजमगढ़ से 11 जुलाई को होगी। क्योंकि यह धरती हमारे नेता जी का संसदीय क्षेत्र है। सम्मेलन में दलितों के लिए चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं से उन्हें अवगत कराया जाएगा। ये बातें शनिवार को समाजवादी अनुसूचित जाति और जनजाति प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष पासी ने जिला पंचायत अध्यक्ष के आवास पर पत्रकारों से कही।

उन्होंने कहा कि आजमगढ़ मुलायम सिंह यादव का संसदीय क्षेत्र है, इसलिए दलित सम्मेलन का आगाज यहीं से होगा। कुछ लोगों द्वारा यह आरोप लगाया जाता है कि सपा बसपा के वोट बैंक में सेंध लगाने का प्रयास कर रही है। यह गलत है दलित कभी बसपा के वोटबैंक थे ही नहीं। क्योंकि बहुत सी ऐसी जातियां हैं जो कभी बसपा से जुड़ी ही नहीं। वैसे भीसपा सरकार ने दलितों को सबसे ज्यादा फायदा पहुंचाया है। समाजवादी पेंशन का लाभ सबसे अधिक दलितों केे ही मिला है। हमारा यह प्रयास है कि दलितों को ज्यादा से ज्यादा फायदा पहुंचाया जाए। उन्होंने कहा कि आजमगढ़ के बाद अगला सम्मेलन वाराणसी में होगा, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है।

इसमें मुख्यमंत्री अखिलेश यादव स्वयं भाग लेंगे। छह दिसंबर को लखनऊ में अंबेडकर परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर दलित महासम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। इस मौके पर परिवहन मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव, सपा जिलाध्यक्ष हवलदार यादव, एसके सत्येन, अनुसूचित जाति और जनजाति प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव डा. गोविंद राम, अनुसूचित प्रकोष्ठ के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गौरव कुमार रावत आदि उपस्थित थे।

आर्यावर्त

बेघरों के घर सेउदय नारायण चैधरी के कार्य को निहारने का प्रयास

http://www.liveaaryaavart.com/2015/07/uday-narayan-chaudhry-mahadalit-work.html

uday_2

नयी दिल्ली स्थित गांधी शांति प्रतिष्ठान के सभाकक्ष में नरेन्द्र पाठक द्वारा संपादित ‘बेघरों के घर से’ का लोकापर्ण हुआ। बिहार विधान सभा अध्यक्ष उदय नारायण चैधरी की अधिकृत जीवनी पर आधारित ‘बेघरों के घर से’ है। लोकापर्ण समारोह की अध्यक्षता डाॅ. राधा बहन भट्ट ने की। मौके पर डाॅ. राधा बहन भटट् ने कहा कि बिहार विधान सभा के अध्यक्ष उदय नारायण चैधरी ने सामाजिक जीवन में ऐतिहासिक कार्य कर उपलब्धि हासिल किए हैं। अपने जुझारू साथियों के साथ मिलकर कार्य किया है। सबसे नीचले पायदान पर खड़े महादलितों को अंगीकार किए। उनके साथ रहना,खाना खाना और रात्रि में महादलितों के साथ सो जाना। महादलितों की विजय में और उनके मुक्ति में मील का पत्थर बनकर चमकेगा।

एकता परिषद के संस्थापक पी.व्ही.राजगोपाल ने कहा कि श्री चैधरी ने जिस सत्य का साक्षात्कार किया और उससे यह निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि अछूत की समस्या का समाधान अछूत जातियों की सांस्कृतिक उन्नति में निहित है। जिसकी शुभारम्भ उदय नारायण चैधरी ने महादलितों को पाठशाला के करीब लाकर किया। और तो और दारू के अड्डों से दूर ले जाने में सफल हुए। 

‘बेघरों के घर से’ पुस्तक के सम्पादक नरेन्द्र पाठक ने कहा कि उदय जी की यही मंशा थी कि दलित जातियों के इतिहास से भी अपने सवालों के जवाब ढूढें । 10 जनों के लिए दो सौ बीघा जमीन और 560 जनों के लिए नौ कठठा ही क्यों? जो नौ कठ्ठा भी चकबैरिया के मुसहरों को विरासत में नहीं मिली। बल्कि इसके लिए भी लम्बी लड़ाई लड़ी गई। छोटे दायरे में लड़ी गई लड़ाई भी इतिहास में दर्ज होने के योग्य नही है, क्योंकि ये राजा-रानी द्वारा नहीं लड़ी गई। एक दलित यह लड़ाई अपने समान मुसहर जातियों के लिए वासभूमि दिलाने, राशन कार्ड और नागरिकता दिलाने के बाद सुअर के वाड़ों से निकाल कर उन्हें स्कूल भेजने के लिए लड़ता रहा, उस महान योद्वा का नाम है उदय नारायण चैधरी।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि कुलदीप नैय्यर पूर्व सांसद एवं प्रसिद्ध चिंतक-विचारक व पत्रकार, मुख्य अतिथि के रूप में स्वामी अग्निवेश ,अध्यक्ष , बंधुआ मुक्ति मोर्चा, पवन कुमार वर्मा, सांसद व पूर्व राजनयिक आदि ने भी विचार व्यक्त किए। सभी लोगों ने उदय नारायण चैधरी के आर्कषक व्यक्तित्व पर विस्तार से अपने विचार रखे।सामाजिक कार्यकर्ता उदय नारायण चैधरी ने महादलित मुसहर समुदाय के युवाओं को लाकर प्रशिक्षण देते थे। तब जाकर जवाहर सदा,बिहारी सदा आदि नेतृत्व करने में सक्षम हो सके। अपने समुदाय को आगे बढ़ाने में समर्थ हो सके।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s