दलित मीडिया वाच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 17.06.15

दलित मीडिया वाच
हिंदी न्यूज़ अपडेट 17.06.15

दलित दुल्हन को बग्घी से उतारने के 6 आरोपियों को जेल भेजा – दैनिक भास्कर
http://www.bhaskar.com/news-srh/RAJ-OTH-MAT-latest-rajsamand-news-060532-2080139-NOR.html
परछाई पड़ी तो दबंगों ने दलित लड़की को पीटानवभारत टाइम्स
http://navbharattimes.indiatimes.com/india/dalit-girl-was-beaten-to-the-reflection-dbangon/articleshow/47694638.cms
कनेक्शन नहीं है फिर भी दे रहे बिजली बिलदैनिक भास्कर
http://www.bhaskar.com/news/MP-MUR-MAT-latest-morena-news-041523-2082041-NOR.html
दबंगों ने रोका विद्युतीकरण कार्य, हड़कंप – दैनिक जागरण
http://www.jagran.com/uttar-pradesh/azamgarh-12486732.html
वो कहता है जिंदा हूं मैं, पर अफसर मानने को तैयार नहीं पत्रिका
http://www.patrika.com/news/faridkot/faridkot-1053991/

Please Watch:

Dalit’s Concerns Before Land Rights Struggle Groups/ Mainstream Movements

https://www.youtube.com/watch?v=WU7Sqd7d_9k

दैनिक भास्कर

दलित दुल्हन को बग्घी से उतारने के 6 आरोपियों को जेल भेजा

http://www.bhaskar.com/news-srh/RAJ-OTH-MAT-latest-rajsamand-news-060532-2080139-NOR.html

रेलमगराके चावंडिया में दलित दुल्हन को बिंदोली में बग्गी से उतारने मारपीट करने के मामले में सोमवार को गिरफ्तार सभी छह आरोपियों को मंगलवार को जेल भेज दिया गया। घटना के करीब डेढ़ माह बाद ही सोमवार को आरोपियों की गिरफ्तारी हो पाई थी।

थानाधिकारी मदनसिंह ने बताया कि चावंडिया निवासी राजूदान पुत्र नारूदान चारण, शंभुदान पुत्र देवराज चारण, ईश्वरदान पुत्र ईबादान चारण, शुभकरण पुत्र बद्रीदान चारण, शिवकरण पुत्र देवराज चारण तथा राजूदान पुत्र हेमदान चारण को कोर्ट ने जेल भेज दिया। चावंडिया निवासी गणेशलाल पुत्र मोहनलाल सालवी की बेटी पूजा का विवाह 30 अप्रैल को होना तय था। शादी के एक दिन पहले उसकी डीजे साउंड के साथ दुल्हन को बग्गी में बिठाकर बिंदोली निकाली जा रही थी।

बिंदोली गांव में रात करीब 10 बजे आयड़ माताजी मंदिर के पास पहुंची तो दुल्हन पूजा को उतार कर माताजी के बाहर धोक लगवा कर वापस बग्गी में बैठाया। इस बीच गांव के ही आरोपी हाथों में लाठियां लेकर आए। आरोपियों ने बिंदोली को रोक दिया। इसके बाद जाति गत रूप से अपमानित करते हुए दुल्हन का हाथ पकड़ कर नीचे उतार दिया।

इसके बाद पैदल बिंदोली निकालनी पड़ी। बीच बचाव करने पर दुल्हन की मां निर्मला पिता गणेशलाल सहित अन्य रिश्तेदारों के साथ भी आरोपियों ने मारपीट की। इस संबंध में चावंडिया निवासी गणेशलाल पुत्र मोहनलाल सालवी ने थाने पर मामला दर्ज कराया था।

नवभारत टाइम्स

परछाई पड़ी तो दबंगों ने दलित लड़की को पीटा

http://navbharattimes.indiatimes.com/india/dalit-girl-was-beaten-to-the-reflection-dbangon/articleshow/47694638.cms

मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में एक दलित लड़की को दबंगों की ‘शर्मनाक’ करतूत का शिकार होना पड़ा। जिला मुख्यालय से लगभग 35 किलोमीटर दूर गनेशपुरा गांव में 11 वर्षीय दलित लड़की की कथित तौर पर उच्चजाति के व्यक्ति पर छाया पड़ने की बात को लेकर हुए विवाद में हाल ही दबंग परिवार की महिलाओं ने उसकी जमकर पिटाई कर दी। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज पांडे ने बताया कि दलित लड़की और उसके परिजन की शिकायत पर गांव के दबंग परिवार की महिलाओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 323, 341 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

उन्होंने बताया कि लड़की के पिता ने आरोप लगाया कि 13 जून को उसकी बेटी लक्ष्मी गांव के सार्वजनिक हैंडपंप पर पानी भरने गई थी। तभी वहां से गुजर रहे पूरन यादव पर लड़की की छाया पड़ने की बात को लेकर यादव परिवार की महिलाओं ने लड़की की जमकर पिटाई कर दी। मारपीट के बाद दबंगों ने धमकी दी कि यदि दोबारा लड़की हैंडपंप पर दिखाई दी, तो उसे जान से मार दिया जाएगा। पांडे ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और पीड़िता के बयान के आधार पर जांच की जा रही है।

दैनिक भास्कर

कनेक्शन नहीं है फिर भी दे रहे बिजली बिल

http://www.bhaskar.com/news/MP-MUR-MAT-latest-morena-news-041523-2082041-NOR.html

bpl-r2975760-large

गांव में बिजली के पोल लगा दिए हैं लेकिन उन पर ट्रांसफार्मर रखकर घरो में बिजली कनेक्शन नहीं दिए गए हैं। फिर भी बिजली कंपनी द्वारा हर महीने बिल थमाए जा रहे हैं। बिना बिजली के दिए जा रहे बिलों को माफ कराया जाए हम इन्हें जमा नहीं कर सकते। यह फरियाद दिमनी थाना क्षेत्र के रथोल का पुरा गांव में निवास करने वाले ग्रामीणों ने कलेक्टर शिल्पा गुप्ता से की। दलित वर्ग के तकरीबन 20 ग्रामीण जनसुनवाई के दौरान कलेक्टोरेट पहुंचे।

ग्रामीणों ने बताया कि घरों में बिजली कनेक्शन नहीं है। फिर भी लगातार बिल आ रहे है। यह राशि बढ़ते-बढ़ते कुछ घरों पर एक लाख तक पहुंच गई है। उन्होंने कलेक्टर से मांग की कि इन बिलों को माफ कराया जाए और गांव में बिजली कनेक्शन दिलवाए जाएं। ऐसी ही शिकायत लेकर बंधा गांव के ग्रामीण भी पहुंचे। उनका कहना था कि गांव में बिजली कनेक्शन नहीं है इस कारण भारी परेशानी होती है।

बच्चों की पढ़ाई चौपट हो रही है। इसलिए गांव में बिजली की व्यवस्था कराई जाए। वहीं मुंशी का बाग गांव में निवास करने वाले ग्रामीणों ने जनसुनवाई में कलेक्टर से शिकायत की कि उनका गांव नगरनिगम में शामिल किया जा चुका है। सभी कर बढ़ा दिए गए हैं, लेकिन सड़क व नालियां दुरुस्त कराने की व्यवस्था नहीं की जा रही। नसुनवाई में कलेक्टर से शिकायत करते रथोल का पुरा गांव के ग्रामीण।

दैनिक जागरण

दबंगों ने रोका विद्युतीकरण कार्य, हड़कंप

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/azamgarh-12486732.html

16_06_2015-16azm7c-c-2

आजमगढ़ : तहबरपुर विकास खंड क्षेत्र में चयनित लोहिया ग्राम मधसिया गांव में इन दिनों हो रहे विद्युतीकरण कार्य को रोकने का विरोध करने पर दबंगों द्वारा की गई मारपीट में घायल दर्जनों दलित मंगलवार को एसपी कार्यालय पहुंचकर न्याय की गुहार लगाए। उन्होंने आरोपियों के गिरफ्तारी को लेकर आवाज बुलंद की।

मधसिया ग्राम निवासी बरखू पासवान ने एसपी को दिए गए प्रार्थना पत्र में आरोप लगाया है कि लोहिया ग्राम में चयनित होने के कारण विद्युत विभाग द्वारा गांव में खंभे गिराए गए हैं। गांव के भूमिहार बस्ती के लोगों ने दबंगई से ट्रांसफार्मर को अपनी बस्ती में लगवा लिया और अब दलित बस्ती के लिए विद्युत तार खींचने नहीं दे रहे हैं।

रविवार की शाम दलित बस्ती के लोग विद्युत ट्रांसफार्मर से अपनी बस्ती के लिए तार खींच रहे थे तभी भूमिहार बस्ती के लोग हमलावर हो गए। हमले में गांव के दर्जनों दलित घायल हो गए। इस दौरान गंभीर रूप से घायल इसरावती का इलाज अभी भी जिला अस्पताल में चल रहा है। घटना की सूचना देने के बावजूद मुकामी पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। पीड़ितों ने हस्ताक्षरयुक्त प्रार्थना पत्र में घटना की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इस मौके पर महेन्द्र, सुभाष, कुमार, राधेश्याम, रामकिशुन, विजय, लाली, संगीता सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।

पत्रिका

वो कहता है जिंदा हूं मैं, पर अफसर मानने को तैयार नहीं

http://www.patrika.com/news/faridkot/faridkot-1053991/

phpThumb.php

फरीदकोट। खुद को जीवित साबित करने और पेंशन प्राप्त करने के के लिए एक बुजुर्ग लगातार सरकारी कार्यालयों के खाक छान रहा है, लेकिन अफसर उसे जीवित मानने को तैयार नहीं हैं। बुजुर्ग इसके लिए सुबूत के तौर पर अपना पहचान पत्र व अन्य कागजात भी अधिकारियों को दिखा रहा है पर कोई भी उसे जीवित मानने को तैयार नहीं है।

पंजाब के कई जिलों में सामजिक सुरक्षा योजना के तहत पेंशन पाने वाले लोगों की सूची से काफी संख्या में नाम काट दिए गए हैं। इसके अलावा कई लोगों को सरकारी कागजात में मृत घोषित कर दिया गया है।

गांव करीर वाली में रहने वाले सोहन सिंह को पेंशव बंद होने पर पता चला कि उसे मृत घोषित कर दिया गया है। जिसके बाद से वह अपने आप को जीवित साबित करने के लिए लगातार सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं।

76 वर्षीय सोहन सिंह दलित हैं। 1998 से उनका बुढ़ापा पेंशन बंद है। उन्होंने इस मामले में छोटे से लेकर उच्च अधिकारियों तक अपनी फरियाद की लेकिन उनकी पेंशन शुरू हुई। बाद में जब उसने पता चला कि विभाग के दस्तावेज उसे मृत बताकर पेंशन बंद की गई है तो वह दंग रह गया।

इसके बाद उन्होंने विभाग के अधिकारियों को सुबूत दिया कि वह खुद उनके सामने जिंदा खड़ा है तो अधिकारियों ने उसकी बात मानने की बजाए कहा कि जिस अधिकारी ने उनकी मौत की पुष्टि की हे उसके पास जाए। सोहान ने जिला मजिस्ट्रेट से मामले की जांच करवाने की अपील की है।

इस बारे में डिप्टी कमिश्नर मोहम्मद तैयब ने कहा कि वह मामले की जांच करेंगे और अगर बात सही निकलती है तो उसपर कार्रवाई की जाएगी।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s