दलित मीडिया वाच-हिंदी न्यूज़ अपडेट 12.06.15

दलित मीडिया वाच

हिंदी न्यूज़ अपडेट  12.06.15

पेड़ पर लटकी मिली दलित किशोरी की लाश – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/budaun/budaun-crime-news/found-hanging-on-tree-dalit-teenager-s-corpse-hindi-news/

दलित युवती से मारपीट – नई दुनिया

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/dewas-chakoo-se-godakar-yuvak-ki-hatya-386824

रिपोर्ट वापस नहीं ली तो दी जान से मारने की धमकी – नई दुनिया

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/shivpuri-shivpuri-news-386618

पत्नी ने नाबालिक को नशीली चाय पिला कर पति से करवाया दुष्कर्म – पंजाब केसरी

http://www.punjabkesari.in/news/article-369995

दारोगा की दबंगई ने छुड़वाया गांव दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/aligarh-city-12470975.html

दुल्हे की चालाकी विवाहित के आगे फेल, कर रहा था एसी हरकत – पंजाब केसरी

http://www.punjabkesari.in/news/article-370014

अमर उजाला

पेड़ पर लटकी मिली दलित किशोरी की लाश

http://www.amarujala.com/news/city/budaun/budaun-crime-news/found-hanging-on-tree-dalit-teenager-s-corpse-hindi-news/

थाना क्षेत्र के गांव चिचैटा में 14 साल की दलित किशोरी का शव बबूल के पेड़ पर लटका मिला। इसको लेकर चर्चाएं तमाम हैं, लेकिन किशोरी के पिता ने लिखकर दिया है कि वह कोई कार्रवाई नहीं चाहते। हालांकि एसओ सत्यदेव यादव का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

थाना क्षेत्र के गांव चिचैटा निवासी रामऔतार की 14 वर्षीय पुत्री लक्ष्मी गुरुवार अपरान्ह तीन बजे घर से खेत पर चारा लेने गई थी। लक्ष्मी के साथ गए गांव के बाकी बच्चे वापस आ गए लेकिन वह नहीं लौटी। शाम को परिवार वालों ने उसकी तलाश की। गांव वालों के साथ पिता जंगल की ओर पहुंचा तो वहां लक्ष्मी की लाश बबूल के पेड़ पर साड़ी के सहारे लटकी मिली। ये साड़ी नील गायों से फसल को बचाने के लिए खेतों के चारों ओर बांधी गई थी। लक्ष्मी आठ भाई-बहन में चौथे नंबर की थी। परिवार वालों ने पुलिस को सूचना दिए बिना शव उतार लिया। बाद में खबर मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।
एसओ सत्यदेव यादव का कहना है कि किशोरी के पिता ने किसी से रंजिश होने से इंकार किया है। उसने यह भी लिखकर दिया है कि वह कोई कार्रवाई नहीं चाहता। फिर भी शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर मुकदमा दर्ज कर जांच की जाएगी। जबकि गांव में कई तरह कि चर्चाएं हो रही हैं।

नई दुनिया

दलित युवती से मारपीट

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/dewas-chakoo-se-godakar-yuvak-ki-hatya-386824

बागली। बुधवार-गुरुवार दरमियानी रात को दो आरोपियों ने वार्ड 10 में रहने वाली एक दलित युवती से मारपीट की। जानकारी के अनुसार फरियादी मनोरमा पिता दादुराम निवासी ईमलीपुरा थाना उदयनगर वार्ड 10 मे रहती है। रात्रि में आरोपियों शुभम यादव व आशीष कारपेंटर ने युवती के घर में घूसकर उसके साथ मोबाइल पर एसएमएस करने की बात पर मारपीट की और जान से मारने की धमकी दी। पुलिस ने मनोरमा की रिपोर्ट पर आरोपियों के विरुद्घ विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज कर लिया।

नई दुनिया

रिपोर्ट वापस नहीं ली तो दी जान से मारने की धमकी

http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/shivpuri-shivpuri-news-386618

शिवपुरी। मैं 3 जून की सुबह अपने गांव खरैह के पास नदी में बकरियों के लिए पत्ती लेने गई थी। यहां पत्ती तोड़ते समय रामजीलाल पुत्र कल्लू चिडार निवासी खरैह वहां आया और उसने मुझे जमीन पर गिराकर दुष्कर्म किया। उसने जाते-जाते धमकी दी कि तूने थाने में रिपोर्ट की तो तुझे व तेरे परिवार को जान से मार दिया जाएगा। इसके बाद मैंने रन्नौद थाने में मेडिकल के बाद एफआईआर करा दी, लेकिन एफआईआर की कॉपी मुझे नहीं दी। अब आरोपी रिपोर्ट वापस लेने और जान से मारने की धमकी दे रहा है। यह गुहार रन्नौद थाना क्षेत्र की ग्राम खरैह में रहने वाली एक दलित युवती ने एसपी से लगाई।

यह की एसपी से फरियाद

बदरवास तहसील के ग्राम खरैह में रहने वाली विवाहिता ने पुलिस अधीक्षक को सौंपी लिखित शिकायत में बताया कि ग्राम खरैह के रहने वाले रामजीलाल पुत्र कल्लू चिडार ने 3 जून की सुबह 9 बजे उसे नदी के पास पकड़ लिया और उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया, जब वह उमर की पत्ती तोड़ रही थी। आरोपी जाते-जाते उसे रिपोर्ट करने पर जान से मारने की धमकी दे गया। इसके बाद उसने पूरा घटनाक्रम अपने पुत्र को बताया और वह दोनों मां-बेटे रन्नौद थाने में रिपोर्ट करने पहुंचे।

पीड़िता का कहना है कि यहां पुलिस ने उसे दिनभर बैठाए रखा और फिर मेडिकल के लिए कोलारस लाया गया, इसके बाद मामला दर्ज हुआ। पुलिस ने उसको एफआईआर की कॉपी नहीं दी और न ही आरोपी को गिरफ्तार किया जो कि खुलेआम घूम रहा है। अब आरोपी राजीनामा करने के ऐवज में उसे व उसके परिवार के सदस्यों को जान से मारने की धमकी दे रहा है।

पंजाब केसरी

पत्नी ने नाबालिक को नशीली चाय पिला कर पति से करवाया दुष्कर्म

http://www.punjabkesari.in/news/article-369995

 

01

बीकानेर : अंबेडकर कॉलोनी में रहने वाली एक नाबालिग को पड़ोस में रहने वाले एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी की मदद से नशीली चाय पिलाकर  दुष्कर्म का शिकार बना लिया। दोपहर हुई इस घटना में पीड़िता की हालत बिगडऩे पर उसे पी.बी.एम. अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां व्यास कॉलोनी थाना पुलिस ने उसके पर्चा बयान पर पड़ोसी किरायेदार महेन्द्र सिंह और उसकी पत्नी इन्दू कंवर के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है।

थाना प्रभारी इन्द्र कुमार ने बताया कि अंबेडकर कॉलोनी की गली नंबर छह में रहने वाली दलित नाबालिग पीड़िता ने बताया कि दोपहर को वह अपने घर में अकेली थी। इसी दौरान घर आए महेन्द्र सिंह और इन्दू कंवर ने उसे चाय बनाने को कहा उसने चाय बना दी तो इन्दू कंवर ने चुपके से उसके कोई नशीला पदार्थ मिला दिया और उसके मना करने के बावजूद दोनों ने उसे जबरन चाय पिला दी। चाय पीने के बाद उसे बेहोशी छा गई और बेहोशी की हालत में महेन्द्र सिंह ने उसके साथ दुष्कर्म किया।

थाना प्रभारी ने बताया कि पीड़िता के बयान पर मुकदमा दर्ज कर उसका मेडिकल जांच करवा लिया गया है और मामले की जांच कर रहे सीओं सदर नसीमुल्ला खं ने गुरूवार सुबह मौका मुआयान किया। पुलिस के मुताबिक मुकदमा दर्ज होने के बाद आरोपी दंपति फरार है। गौरतलब है कि इस मुकदमें में नामजद आरोपी महेन्द्र सिंह के घर में पिछले सप्ताह एक दलित विवाहिता के साथ भी दुष्कर्म की वारदात हो चुकी है।

दैनिक जागरण

दारोगा की दबंगई ने छुड़वाया गांव

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/aligarh-city-12470975.html

जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : वर्दी का रौब दिखाकर दारोगा ने दलित परिवार को न सिर्फ गांव छोड़ने पर मजबूर किया, रोजी-रोटी का भी अधिकार छीन लिया। अदालत का सहारा मिला तो आरोपी दारोगा के विरुद्ध उसी के थाने में मुकदमा दर्ज हुआ।

दादों क्षेत्र के गांव ततारपुर निवासी गोविंद का कहना है कि 17 फरवरी- 14 को पत्‍‌नी रामबेटी का अपहरण हुआ, जिसमें गांव की सर्वेश व गुड्डी देवी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हुआ। विवेचना सीओ अतरौली कर रहे थे। पुलिस पत्‍‌नी को बरामद न कर सकी। बाद में विवेचना दारोगा सौदान सिंह यादव को दे दी गई। पीड़ित के वकील शिवकुमार शर्मा ने बताया कि विवेचक ने आरोपियों से मिलकर पीड़ित पर दबाव बनाना शुरू कर दिया। गांव छोड़कर जाने को मजबूर कर दिया।

पीड़ित को खेती भी नहीं करने दी। गोविंद का कहना है 9 नवंबर 2014 को वह खेत पर जा रहा था, रास्ते में दारोगा मिला। दारोगा मुकदमा वापस लेने को दबाव बनाने लगा। गांव के लोगों से जान से मरवाने की धमकी दी। कोर्ट में डाली याचिका में पीड़ित ने कहा कि उसके साथ घटना होने पर दारोगा जिम्मेदार होगा।

पांच माह बाद मुकदमा

अदालत ने दारोगा समेत पांच लोगों के खिलाफ आठ जनवरी को आदेश दिए। नामजदों में सर्वेश और गुड्डी देवी भी थी। फिर भी पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की। वकील ने बताया कि कई बार रिमाइंडर भेजा गया, तब जाकर 6 जून को दादों थाने में मुकदमा दर्ज हुआ।

पंजाब केसरी

दुल्हे की चालाकी विवाहित के आगे फेल, कर रहा था एसी हरकत

http://www.punjabkesari.in/news/article-370014

02

एक दलित वर्ग के नौजवान द्वारा एक माह पहले एक लड़की से शादी करवाने के बाद उसको धोखे में रखकर एक अन्य नौजवान लड़की के साथ मंगनी करवा ली गई। दूसरी लड़की के पारिवारिक सदस्यों को इस घटना का पता चलने पर उस लड़की की जिंदगी तबाह होने से बच गई। पुलिस के पास तीनों पक्षों की दरख्वास्तें पहुंच चुकी हैं।

गोनियाना मंडी में रहती रानी निवासी बलाहढ़ महिमा ने बताया कि दिलबाग सिंह पुत्र भगवान सिंह चिडियां बस्ती निवासी नेहियां वाला से 8 मई 2015 को रीति-रिवाज से उसकी शादी हुई थी।

रानी ने बताया कि दिलबाग सिंह उसके साथ पिछले 2 वर्षों से गोनियाना मंडी में उसके पति के रूप में रह रहा था जिसने उसके साथ शारीरिक संबंध भी बनाए। इस दौरान उसने उससे एक माह पहले लिखित रूप में शादी भी करवाई थी।

रानी ने आगे बताया कि उस समय कुछ गवाह चानन सिंह पुत्र केवल सिंह निवासी गोनियाना मंडी, ङ्क्षछदा सिंह पुत्र गुरनाम सिंह निवासी गोनियाना खुर्द, चमकौर सिंह पुत्र साधू सिंह निवासी नेहियां वाला, केवल सिंह पुत्र तारा सिंह निवासी लक्खी जंगल, मनजीत कौर पत्नी भगवान सिंह निवासी नेहियां वाला, भगवान सिंह पुत्र नायब सिंह निवासी नेहियां वाला मौजूद थे।

उसने बताया कि दिलबाग सिंह ने उसको धोखे में रखकर इस दौरान केवल सिंह पुत्र तारा सिंह निवासी लक्खी जंगल की लड़की से उसके साथ लिखित शादी से पहले ही शादी पक्की कर रखी थी। जब रानी ने दिलबाग सिंह को इस हरकत बारे पूछा तो उसने बताया कि उसके पारिवारिक सदस्यों ने लक्खी जंगल में जबरदस्ती शादी तय कर दी थी जबकि उसके पारिवारिक सदस्यों ने 6 मई 2015 को दिलबाग सिंह को बेदखल कर दिया था, फिर भी उसके पारिवारिक सदस्य उसकी शादी कार्रवाई में सहमति दिखा रहे हैं।

पीड़ित रानी ने जिला पुलिस प्रमुख, महिला थाना भटिंडा, थाना नेहियां वाला और प्रशासनिक अधिकारियों को दरख्वास्तें देकर मांग की है कि उसको इंसाफ दिलाया जाए। इस मामले बारे केवल सिंह निवासी लक्खी जंगल ने बताया कि दिलबाग सिंह ने उसकी लड़की से शादी करवाने के लिए मंगनी करवा ली थी, जिसका मौके पर पता चलने पर उसकी लड़की की जिंदगी तबाह होने से बच गई। इस मामले बारे उन्होंने भी उच्च अधिकारियों से इंसाफ की मांग की है।

जब उक्त मामले बारे दिलबाग सिंह से मोबाइल पर सम्पर्क किया गया तो उसने बताया कि उसकी रानी से शादी नहीं हुई, बल्कि एक दोस्त होने कारण वह उसके पास आया करता था। इस संबंधी जब पुलिस चौकी गोनियाना इंचार्ज संदेश कुमार से सम्पर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि उनके पास दिलबाग सिंह द्वारा दी गई दरख्वास्त उच्च अधिकारियों जरिए आ चुकी है। कार्रवाई के लिए सही जांच की जा रही है ताकि अगली कानूनी कार्रवाई की जा सके।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s