दलित मीडिया वांच – हिंदी न्यूज़ अपडेट 06.06.15

Dalits Media Watch

Hindi News Updates 06.06.15

 

दलित युवक की मौत पर बवाल – नवभारत टाइम्स

http://navbharattimes.indiatimes.com/state/punjab-and-haryana/jind/organically-over-the-death-of-a-dalit-youth/articleshow/47558614.cms

सामान लेने गई किशोरी से पड़ोसी ने दोस्‍तों के साथ मिलकर किया गैंगरेप  न्यूज़ 18

http://hindi.news18.com/news/uttar-pradesh/lucknow/the-teenager-gangraped-by-neighbor-together-with-friends-472900.html

फांसी पर लटकी मिली दो जिंदगी  दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/gorakhpur-city-12449506.html

चोरी का शक जताने पर दो पक्ष भिड़े, चलीं लाठियां – अमर उजाला

http://www.amarujala.com/news/city/kaushambi/kaushambi-crime-news/he-went-on-to-express-suspicion-of-stealing-two-sides-walked-sticks-hindi-news/

डांगावास खूनी संघर्ष में घायलों से सीबीआई दल ने की पूछताछ – दैनिक भास्कर

http://www.bhaskar.com/news/RAJ-AJM-OMC-MAT-latest-ajmer-news-042526-2016602-NOR.html

खामियां देख सीडीओ ने लगाई फटकार  दैनिक जागरण

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/jaunpur-12447661.html

 

 

नवभारत टाइम्स

दलित युवक की मौत पर बवाल

http://navbharattimes.indiatimes.com/state/punjab-and-haryana/jind/organically-over-the-death-of-a-dalit-youth/articleshow/47558614.cms

 

फाइनेंसरों के दबाव में दलित युवक के आत्महत्या किए जाने पर दलित संगठनों ने शुक्रवार को जमकर बवाल काटा। गुस्साए लोगों ने आरोपियों की गिरफ्तारी और मृतक की पत्नी को रोजगार दिलाने की मांग को लेकर जींद-गोहाना मार्ग पर जाम लगा दिया। डिमांड पूरी न होने तक शव को सामान्य अस्पताल से उठाने से साफ मना कर दिया। एसडीएम अशोक मेहता, डीएसपी कुलवंत बिश्नोई ने लोगों को समझाया और जाम खुलवाया। केस में एक आरोप की गिरफ्तारी हो चुकी है।

 

क्या है मामला

जोगेंद्र नगर निवासी संदीप ने गुरुवार देर शाम को फाइनेंसरों की धमकी के चलते जहरीला पदार्थ निगल लिया। इसके चलते निजी अस्पताल में उपचार के दौरान शुक्रवार सुबह मौत हो गई। मृतक के पास से पुलिस ने तीन पेज का सुसाइड नोट भी बरामद किया है। इसमें फाइनेंसर शिवपुरी कॉलोनी निवासी संदीप और गांव सितारपुर शामली निवासी तत्पल को मौत का जिम्मेवार ठहराया गया है।

 

दलित युवक की मौत की सूचना पाकर काफी संख्या में दलित समाज के लोग सामान्य अस्पताल में पहुंच गए और आरोपियों की गिरफ्तारी और मृतक की पत्नी को रोजगार दिलाने की मांग करने लगे। दलित समाज के लोगों ने साफ कहा कि जब तक उनकी डिमांड पूरी नहीं हो जाती तब तक शव को नहीं उठाया जाएगा। उसी दौरान महिलाओं ने सामान्य अस्पताल के सामने जींद-गोहाना मार्ग पर जाम लगा दिया।

 

एसडीएम अशोक मेहता ने कहा कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। लोगों ने मृतक की पत्नी के लिए रोजगार की मांग की है जिसका प्रपोजल तैयार कर सरकार को भेज दिया जाएगा।

 

न्यूज़ 18

सामान लेने गई किशोरी से पड़ोसी ने दोस्‍तों के साथ मिलकर किया गैंगरेप

http://hindi.news18.com/news/uttar-pradesh/lucknow/the-teenager-gangraped-by-neighbor-together-with-friends-472900.html

 gangrape

बरेली में एक दलित किशोरी के साथ गैंगरेप की वारदात सामने आई है. घर से सामान लेने बाहर निकली किशोरी के साथ पड़ोसी युवक ने अपने साथियों के साथ मिलकर सामूहिक दुष्कर्म किया. वारदात के बाद आरोपी किशोरी को बेहोशी की हालत में छोड़कर फरार हो गए.

 

घटना इज्जत नगर थाना क्षेत्र के बिहारमन नगला की हैं, जहां के रहने वाले रिक्शा चालक की 13 साल की बेटी को बुधवार शाम को पड़ोसी रहीस ने अपने साथी की मदद से अगवा कर लिया और किशोरी को बाइक से एक सुनसान जगह पर ले गया. वहां पर रहीस के तीन और साथी पहले से मौजूद थे. जहां उन्‍होंने किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया.

 

किशोरी से दरिंदगी के बाद आरोपी उसे बेहोशी की हालत में छोड़ कर फरार हो गए. होश में आने के बाद किशोरी घर पहुंची और अपने परिजनों को घटना के बारे में बताया. इसके बाद किशोरी के परिजन थाने पहुंचे और रहीस और चार अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया. पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

 

दैनिक जागरण

फांसी पर लटकी मिली दो जिंदगी

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/gorakhpur-city-12449506.html

 

गोरखपुर :पिपराइच थाना क्षेत्र के हेमछपरा में पति-पत्नी की तरह रह रहे सैंथवार बिरादरी के युवक व दलित परिवार की किशोरी शुक्रवार की सुबह गांव में अलग-अलग स्थान पर फांसी पर लटके मिले। पुलिस के अनुसार दोनों ने आत्महत्या की है।

 

रामधनी सिंह का बेटा रामप्रवेश उर्फ पप्पू (19) तथा विजय बहादुर प्रसाद की बेटी सोमी (16) एक-दूसरे से प्रेम करते थे। पांच नवम्बर 2014 को दोनों घर से भाग गए। विजय बहादुर प्रसाद ने रामप्रवेश के खिलाफ अपनी लड़की को बहला-फुसलाकर भगाने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी। पुलिस ने रामप्रवेश के परिवार पर दबाव बनाया तो दोनों एक सप्ताह बाद वापस लौट आए। सोमी, रामप्रवेश के साथ उसके घर पर रहने लगी।

 

चर्चा है कि भागने के बाद दोनों ने मंदिर में शादी कर ली थी। मार्च में रामप्रवेश की चाची की मौत हो गई। दलित लड़की से शादी करने की बात को लेकर गांव वालों ने ब्रह्माभोज का बहिष्कार कर दिया। रामप्रवेश के पिता रामधनी सिंह ने इस स्थिति के लिए बेटे को दोषी ठहराया। इसको लेकर पिता-पुत्र में नोकझोंक हुई। उधर, 20 मई को सोमी राजस्थान चली गई। सोमी की मां के अनुसार रामप्रवेश के घर पर सोमी के साथ हो रही छूआछूत की बात से दुखी उसकी चचेरी बहन अपने पास ले गई थी।

 

2/3 जून की रात में सोमी फिर वापस आ गई। इस बीच गांववालों के सामाजिक बहिष्कार के चलते रामधनी व उनके बेटे में चल रही नोकझोंक तीन जून को पंचायत के बीच आ गई। पंचायत में प्रधान व गांव के आठ-दस लोग तथा रामप्रवेश व सोमी के साथ ही उनके परिवार के लोग भी शामिल हुए। इस दौरान सोमी को उसकी मां ने काफी भला-बुरा कहते हुए मारापीटा भी। पंचायत में दोनों से गांव छोड़कर चले जाने तथा कहीं और कमाने खाने को कहा गया। उसके बाद दोनों घर छोड़कर चले गए थे।

 

टीनशेड व पेड़ से दोनों मिले लटके :

रामप्रवेश के घर से सटे टीनशेड में लगे बांस में गमछा के फंदे से लटका हुआ था। उसके पिता घर के पास ही सब्जी की रखवाली के लिए गुरुवार की रात खेत में ही सोए थे। वहीं दूसरी ओर सोमी अपने व रामप्रवेश के घर से तकरीबन 200 मीटर दूर शीशम के पतले पेड़ पर काफी ऊंचाई पर दुपट्टा के फंदे से लटकी हुई थी। रामप्रवेश के शव के पास एक सीढ़ी भी मिली। पुलिस का मानना है कि पहले सोमी उस सीढ़ी के सहारे पेड़ से लटकी होगी। उसके बाद रामप्रवेश।

 

उठ रहे हैं कई सवाल

पंचायत के बाद दोनों जब घर छोड़कर चले गए थे तो फिर वापस कब आए और किन परिस्थितियों में फांसी पर झूल गए? इसे लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि बाहर खाने-कमाने की व्यवस्था न हो पाने के चलते दोनों ने जान दे दी तो कुछ आत्महत्या की कहानी पर ही सवाल उठा रहे हैं। सवाल तो सोमी के 20 मई को राजस्थान जाने के मकसद को लेकर भी उठ रहे हैं। कोई उसे कहीं और शादी के लिए ले जाए जाने की बात कह रहा है तो कुछ लोग उसे बेचने की भी चर्चा कर रहे हैं।

 

एसपीआरए ने कहा- पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) बृजेश सिंह ने कहा कि प्रथम दृष्टया यह मामला आत्महत्या का है। पुलिस छानबीन कर रही है।

 

अमर उजाला

चोरी का शक जताने पर दो पक्ष भिड़े, चलीं लाठियां

http://www.amarujala.com/news/city/kaushambi/kaushambi-crime-news/he-went-on-to-express-suspicion-of-stealing-two-sides-walked-sticks-hindi-news/

 

सिराथू (कौशाम्बी)। कस्बे की एक दुकान में दो दिन पहले हुई चोरी का शक जताने पर शुक्रवार को दुकानदार और सिराथू की दलित बस्ती के लोग भिड़ गए। कहासुनी के दौरान इनके बीच जमकर लाठी-डंडे चले। मारपीट की इस घटना में एक महिला समेत दोनों पक्ष के कुल 7 लोग घायल हो गए। चीख-पुकार पर जुटे कस्बाइयों ने बीच बचाव कर मामला शांत कराया। दोनों पक्ष के लोगों ने एक दूसरे पर हमले का आरोप लगाते हुए सैनी कोतवाली में तहरीर दी।


पुलिस ने 3-3 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। घायलों को सीएचसी सिराथू में भर्ती कराया गया है। सैनी कोतवाली क्षेत्र के सिराथू गांव निवासी भंडारी पुत्र अवध नारायण की कस्बे के मंझनपुर मार्ग पर कोल्ड ड्रिंक्स की दुकान है। दो दिन पहले उसकी दुकान का ताला तोड़कर चोर ड्रम और हजारों रुपये का सामान उठा ले गए थे। दुकान में चोरी करने वालों का पता लगाने के लिए शुक्रवार की सुबह भंडारी अपने कुछ साथियों के साथ सिराथू की दलित बस्ती गया था। इस दौरान कुछ लोगों से उसने पूछताछ भी की।

 

चोरी का शक जाहिर करने से भन्नाए दलित बस्ती के लोग उससे भिड़ गए। कहासुनी होती देख मौके पर सिराथू कस्बे के रहने वाले संतोष पांडेय, शिव कुमार पांडेय, हिमांशु पांडेय आदि भी पहुंच गए। इसके बाद दोनों पक्षों में मारपीट हो गई। लाठी-डंडे के हमले में संतोष पांडेय, शिवकुमार पांडेय, शिव सागर पांडेय, हिमांशु पांडेय और दूसरे पक्ष के ननका पासी पुत्र दुब्बर पासी, राजकुमार पासी पुत्र सुईया, मंजू पासी पत्नी विक्रम पासी जख्मी हो गईं। 


चीख-पुकार पर कस्बे के लोगों के साथ ही सैनी कोतवाली पुलिस भी पहुंची। ग्रामीणों ने बीचबचाव कर मामला शांत कराने के साथ ही सभी घायलों को सीएचसी सिराथू में भर्ती कराया। उधर, दोनों पक्ष एक दूसरे पर हमले का आरोप लगा रहे हैं। दोनों पक्षों ने इसकी तहरीर भी सैनी कोतवाली पुलिस को दी। तहरीर के आधार पर पुलिस ने 6 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। एसओ श्रीप्रकाश यादव ने बताया कि घटना की छानबीन की जा रही है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

 

दैनिक भास्कर

डांगावास खूनी संघर्ष में घायलों से सीबीआई दल ने की पूछताछ

http://www.bhaskar.com/news/RAJ-AJM-OMC-MAT-latest-ajmer-news-042526-2016602-NOR.html

 ajmer

अजमेर. डांगावास जमीनी विवाद को लेकर 6 लोगों की हत्या के मामले में सीबीआई की टीम शुक्रवार को जांच के लिए अजमेर जेएलएन अस्पताल पहुंची। सीबीआई की टीम ने घायलों से बात की और मेडिकल ज्यूरिस्ट विभाग पहुंचकर मृतकों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर चर्चा की। इससे पूर्व सीबीआई दल ने डांगावास में घटनास्थल का मुआयना किया और तथ्य एकत्र किए।

 

पूर्व में पुलिस और सीआईडी सीबी की ओर से की गई जांच में एकत्र तथ्यों की तस्दीक भी सीबीआई कर रही है। नए सिरे से मामले की जांच में सीबीआई ने घायलों की इंजरी रिपोर्ट, यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली पीड़िता की मेडिकल जांच रिपोर्ट का अवलोकन किया है।

 

दल ने मृतकों का पोस्टमार्टम करने वाले और घायलों का इलाज करने वाले डॉक्टरों से भी बातचीत की है। शुक्रवार दोपहर सीबीआई दल जेएलएन अस्पताल पहुंचकर घायलों से घटनाक्रम के बारे जानकारी ली। अस्पताल प्रशासन से मृतक और घायलों का ब्योरा भी एकत्र किया। दल ने मृतक गणेशराम की पोस्टमार्टम रिपोर्ट की प्रतिलिपि मेडिकल ज्यूरिस्ट विभाग से प्राप्त की है।

 

पूर्व में मामले में पुलिस और बाद में सीआईडी सीबी के आईजी गिरीराज मीणा ने जांच की थी। मामला सीबीआई को सौंप दिए जाने के बाद ब्यूरो के अधिकारी पूर्व की जांच के तथ्यों की तस्दीक और नए सिरे से तथ्य एकत्र करने में जुटे हुए हैं। सीबीआई ने घायलों के पूर्व में लिए गए बयान शुक्रवार को क्रॉस टेली किया। घायल महिला से भी बातचीत की गई, जिसके साथ आरोपियों ने यौन उत्पीड़न करते हुए क्रूरता की हद पार की थी।


पीड़ित नहीं लौटना चाहते अपने गांव डांगावास हत्याकांड मामले के बाद दलित समाज सीबीआई जांच को लेकर आंदोलनरत था। सीबीआई के अजमेर पहुंचने के बाद दलित समाज के लोग संतुष्ट हैं। मृतक और घायलों को राज्य सरकार की ओर से मुआवजा राशि भी मिल गई। वहीं अस्पताल प्रशासन ने सभी घायलों को डिस्चार्ज भी कर दिया है। मगर घायलों के दिल और दिमाग से खूनी संघर्ष का खौफ कम नहीं हुआ।

 

कोई भी घायल अपने गांव नहीं जाना चाहता। इस बारे में डांगावास दलित हत्याकांड संघर्ष समिति के संयोजक धर्मपाल कटारिया और सह संयोजक कानाराम कांटीवाल ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में आरोप लगाया कि अस्पताल में घायलों को जबरन डिस्चार्ज किया जा रहा है। अस्पताल में उनकी देखरेख भी पर्याप्त नहीं हो रही।


मेड़तामें 16 जून को आक्रोश रैली : डांगावासदलित हत्याकांड संघर्ष समिति के संयोजक धर्मपाल कटारिया ने बताया कि 16 जून को मेड़ता में मेघवाल विकास संस्थान पंचायत भवन में दलितों की आक्रोश रैली का आयोजन होगा। रैली का उद्देश्य घटनाक्रम के बाद इलाके के डरे-सहमे दलित समाज के लोगों में आत्मविश्वास जागृत करना है। रैली में प्रदेश भर के दलित समाज के लोग बड़ी संख्या में शामिल होंगे।

 

दैनिक जागरण

खामियां देख सीडीओ ने लगाई फटकार

http://www.jagran.com/uttar-pradesh/jaunpur-12447661.html

 

नौपेड़वा (जौनपुर): मुख्य विकास अधिकारी पीसी श्रीवास्तव शुक्रवार की सुबह विकास खंड के लोहिया गांव बक्शा एवं ब्राह्मणपुर नवाबाद पहुचे। वहां मातहत अधिकारियों के साथ चौपाल लगाकर विकास कार्यों का सच देखा। विकास कार्यों में खामियां पाए जाने पर संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को जमकर फटकार लगाई।

 

पहले बक्शा प्राथमिक विद्यालय पहुंचे जहां इंतजार कर रहे ग्रामीणों ने शिकायतों का अंबार लगा दिया। गांव की मौर्या बस्ती में बने सीसी रोड में खामी पाए जाने पर नाराजगी जताई। गांव में 286 शौचालय के सापेक्ष मात्र 140 शौचालय ही बन पाने की स्थिति में एडीओ पंचायत अजय श्रीवास्तव एवं ग्राम पंचायत अधिकारी सुधाकर ¨सह की जमकर क्लास ली।

 

पेंशन सूची में तमाम बाहरी नामों के आजाने पर डीपीआरओ से ग्राम पंचायत अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने तथा कार्यवाही की बात कही। मौजूद एएनएम व आशा से टीकाकरण रजिस्टर लेकर 0 से 2 वर्ष के बच्चों की संख्या व महिलाओं की संख्या न बता पाने पर फटकार लगाई। एएनएम द्वारा किट न लाए जाने पर किट मंगवाकर प्रैक्टिकल करवाया। उन्होंने 15 दिन के अंदर पुन: पात्रों की सूची भेजने की बात कही।

 

चौपाल में गांव के रामनवल तिवारी ने बक्शा-चुरावनपुर पिच रोड की गिट्टी उखड़ने की शिकायत की तो अजय शुक्ल सोलर लाइट को निजी उपयोग करने पर आपत्ति जताई। सुशील, श्याम बहादुर ने लोहिया आवास में धांधली तो तमाम ग्रामीणों ने दलित बस्ती, मुसहर बस्ती व रेलवे की तरफ यादव बस्ती में कोई काम न करने की शिकायत की। जांच टीम में प्रमुख रूप से डीपीआरओ, समाज कल्याण अधिकारी, एबीएसए रमाकांत राम, बीडीओ चंद्र प्रकाश श्रीवास्तव, प्रधान शांति यादव आदि मौजूद रहीं।

News Monitored by Kuldeep Chandan & Kalpana Bhadra

                                                                                             

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s